Skip to main content

Posts

Showing posts with the label vidhansabha chunav 2018

कांग्रेस - पत्रकारो और वकीलों को रिझाने की कोशिश

जयपुर | कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलेट ने  केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है की आज देश में भय और असुरक्षा का माहौल है सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने प्रेस कान्फेंस करके यह बताया की आज देश में लोकतान्त्रिक संस्थाओं पर किस तरह दबाव् बनाया जा रहा है | आज लोग भावनाओं का इजहार करने से भी डर रहे है | आज मोदी सरकार में विरोधियों को डराने धमकाने का जो सिलसिला चल रहा है ,आज ऐसे लोग सत्ता  में है जो हर कीमत पर अपनी जिद्द पूरी करना चाहते है | देश की आधी आबादी गरीब है ,उन गरीब लोगो पर प्रभाव बनाकर खुद को शक्तिशाली  बताना बेमानी है | जयपुर में आयोजित कांग्रेस के विधि विभाग की और से बिरला आडिटोरियम में आयोजित संविधान बचाओं देश बचाओं में बोल रहे थे | कांग्रेस विवेक तन्खा ने प्रदेश कांग्रेस से मांग की है की वकील सुरक्षा कानून और पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने का वादा घोषणा पत्र में किया जाए , कांग्रेस के अनुसार कुछ समय में पत्रकार और वकील समुदाय कांग्रेस पार्टी से दूर हुवे है जिसका बड़ा नुकसान कांग्रेस को उतना पड़ रहा है |

प्रधानमंत्री मोदी का राजस्थान दौरा - कुछ ख़ास

" प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में  15 हजार करोड़ रुपये की सड़क परियोजना को दिखाई हरी झंडी -" राजस्थान | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में  15 हजार करोड़ रुपये की सड़क परियोजना का  शुभ - प्रारम्भ  किया | इनमे से लगभग 6000 करोड़ की परियोजना तय समय में पूरी हो चुकी है जिसे प्रधानमंत्री मोदी ने आज उदयपुर से जनता को समर्पित कर दिया | मंच से मोदी जी किया  राजस्थानी  में संबोधन -  मोदी जी ने राजस्थान की जनता को राजस्थानी भाषा खंभा -खन्नी   कहते हुए अपनी बात शुरू की | जनता ने मोदी - मोदी के नारों से उनका स्वागत किया | इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उदयपुर पहुंचकर हाइवे प्रॉजेक्ट्स का जायजा लिया। इस दौरान उनके साथ केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और गृह मंत्री राजनाथ सिंह  राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह और मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे उपस्थित रहे | प्रधानमंत्री  मोदी ने  कुल  873 किमी लंबाई की 11 पूरी हो चुकी राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं को  देश को समर्पित किया । ये परियोजनाएं , भिलवाड़ा, , बाड़मेर , सिकर, चुरू,नागौर, बारमेर राजसमंद, जोधपुर और जै सलमेर में हैं। इ

आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी ने कसी- कमर

जयपुर। भाजपा  में आरएसएस स्वयं सेवकों की तर्ज पर बनाए गए विस्तारक आगामी जून माह में राज स्थान के हर घर में जाएंगे। हर विस्तारक घर-घर जाएगा और पार्टी की सोच और सरकार के कामों से जनता को अवगत कराएगा। भाजपा ने विस्तारकों के चयन के बाद इन्हें बूथ स्तर तक भेजने की योजना तैयार कर ली है। यह विस्तारक वे कार्यकर्ता हैं जो अपने 15 दिन पूर्ण रूप से पार्टी को देंगे और नेतृत्व से मिलने वाले निर्देशों को फोलो करेंगे। इन विस्तारकों को अगले माह से बूथ स्तर तक भेजा जाएगा। सभी विस्तारक बूथ स्तर पर जहां पार्टी की टीम को मजबूती देंगे, वहीं बूथ के 250 घरों में भी जाएंगे। वे हर घर में जाकर आमजनता से सीधा संपर्क करेंगे। यहां वे जनता को सरकार के कामों की उपलब्धियों बताएंगे और भाजपा की रीति-नीति को भी पूरी तरह से अपडेट देकर आएंगे, ताकि आगामी चुनावों से पहले पार्टी का माहौल बने सके। विस्तारकों को यह काम 30 जून तक पूरा करने टारगेट दिया है। प्रदेश भर में वर्तमान में कुल 45 हजार बूथ हैं, जबकि भाजपा ने अब तक प्रदेशभर में 50 हजार विस्तारकों का चयन कर लिया है।

राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 के लिए दिल्ली में बिछी विसात -

नई दिल्ली |  मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद से ही दलित और वंचित वर्ग के समुदाय और  जातियो को  निरंतर निशाना  बनाया जा रहा है | राजनेतिक पार्टिया दलित समुदाय के लोगो को संविधान में वर्णित अधिकारों के नाम पर मात्र योजनओ का निर्माण तो कर दे ती है लेकिन जमीनी स्तर पर उन योजनाओं पर अमल नहीं होता  | जिसके परिणाम स्वरूप  आजादी के 7 दशक बाद भी  दलित वर्ग सामाजिक हाशिय पर है और रोटी कपडा. शिक्षा .मकान  स्वास्थ्य  जैसी मुलभूत सेवाओं से वंचित है | बाबा साहब डॉ .अम्बेडकर  ने  भी कहा था की जब तक समाज अपने को राजनेतिक  स्तर पर मजबूत नहीं करेगा तब तक समाज हाशिये पर रहेगा और  मुख्यधारा से वंचित रहेगा  यह  कहना है -   हेमंत खिंची   { युवा और सामाजिक कार्यकर्त्ता } आगामी 2018 विधान सभा के लिए  खटिक समाज का प्रतिनिधित्व करने वाले खिंची  ने कहा है कि सरकार दलितों और पिछड़ी जातियो के  विकास के नाम पर मात्र आश्वासन देती है | राजस्थान आज दलितों पर हत्याचार के मामले में प्रथम स्थान पर आ गया है  और राज्य सरकार इस और ध्यान नहीं दे रही है | जिससे दलितों में  सरकार के प्रति नाराजगी है| लेकिन आगामी चुनाव ओं में