Skip to main content

Posts

Showing posts with the label teesra mourcha -rajasthan vidhansbha chunav 2018

बट चुके है टिकट : भाजपा-कांग्रेस में और आप इन्तजार में ...............

राजस्थान विधानसभा चुनाव -   चुनावी मैदान में सर्द गर्मी तेज -  जयपुर | भाजपा -कांग्रेस पार्टी ने अपने प्रत्याशीयों को चुनावी मैदान में उतार चुके है सूत्रों के अनुसार भाजपा आलाकमान ने जिन प्रत्याशियों का टिकट फ़ाइनल कर दिया है उन्हें इशारा कर दिया गया है की अपने क्षेत्र में जनसंपर्क करना शुरू करे सूत्रों की माने तो पहले भाजपा ने अपने कुछ प्रत्याशियों को क्षेत्र में जाने का इशारा किया तो उसके बाद कांग्रेस ने भी अपने पहली लिस्ट के प्रत्याशियो को मैदान में भेज चुकी है | क्यों नहीं आ रही - अभी तक फ़ाइनल लिस्ट - जाने  जहाँ कांग्रेस - भाजपा ने अपने प्रत्याशीयों को क्षेत्र में सक्रिय कर दिया है लेकिन आला -कमान भी यह देखना चा रही है की जिन प्रत्याशीयों को मैदान में उतारा है उन्हें जनता केसा रेस्पोंस दे रही है आखिर जनता का क्या मन है अगर कुछ जगह कुछ विवाद होता है तो अन्तिम अवसर तक पार्टिया प्रत्याशी बदल सकती है | क्यों सोशल मीडिया में आ रही फर्जी लिस्ट -  आप देख रहे होगे की कुछ प्रत्याशीयों की लिस्ट सोशल मीडिया में चल रही है आखिर क्यों और केसे - जो लिस्ट सोशल मीडिया में चल रही है उनमे 2 -3 लिस्टो

राजस्थान में लोहियावादी, अम्बेडकरवादी और मार्क्सवादी मिल कर लङेंगे विधानसभा चुनाव -

राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चे के नेताओं और बसपा नेताओं में हुई मिल कर चुनाव लङने पर सहमति - जयपुर। राजस्थान विधानसभा चुनाव बरसों बाद दिलचस्प होने वाला है, क्योंकि इस बार लोहिया वादी, अम्बेडकरवादी और मार्क्सवादी मिल कर चुनाव लङेंगे। सात पार्टियों के संयुक्त गठबंधन राजस्थान लोकतांत्रिक मोर्चे की गत दिनों जयपुर में हुई एक महत्वपूर्ण बैठक में यह निर्णय लिया गया। हालांकि मोर्चे के नेता बराबर बसपा नेताओं के सम्पर्क में थे। इस मोर्चे का उद्घाटन 8 सितम्बर को जयपुर में आयोजित कार्यकर्ता सम्मेलन में पूर्व प्रधानमन्त्री एच डी देवगौड़ा ने किया था। मोर्चे में जनता दल सेक्यूलर, समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय लोक दल, सीपीआईएम, सीपीआई, सीपीआई माले और एम सीपीआई यू शामिल हैं। इस मोर्चे के पदाधिकारियों ने गत दिनों जयपुर में एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की। बैठक के बारे में जनता दल सेक्यूलर के प्रदेशाध्यक्ष अर्जुन देथा ने बताया कि सात दलों का मोर्चा पहले से बना हुआ था, जिसमें शामिल दलों ने गठबंधन के तहत विधानसभा चुनाव लङना पहले ही तय कर लिया था। हमारी बराबर बसपा नेताओं से बातचीत चल रही थी। जो अब इस निर्णय पर पहुंच