Skip to main content

Posts

Showing posts with the label mayawati

दलितों को भावनात्मक रूप से लुट रही है बसपा सुप्रीमो मायावती - आखिर क्यों जानें ख़ास

BSP supremo Mayawati is emotionally looting Dalits - why know special जयपुर | बसपा सुप्रीमो मायावती आज अपना भव्य जन्मदिवस 64 वां बना रही है और इस दिन दलित समाज के ग़रीब मेहनत - मजदूरी करने वाले या कहे वो सम्मानीय स्वाभिमानी लोग विशेष रूप से  { चमार , वाल्मीकि, धोबी ,खटिक ,बलाई , बैरवा , रैगर , } समस्त वंचित वर्ग 15 जनवरी के दिन अपनी  कठोर मेहनत कर मामूली से कुछ रूपए कमाने वाले यह मेहनतकश लोग मायावती को चंदा देते है और इस ले लियें यह विशेष रूप से वर्ष भर पैसे एकत्रित करते है | आख़िर यह वंचित वर्ग - इस दिन बसपा को चंदा क्यों देते है -  बसपा के इतिहास को देखे तो आप को भारत के इतिहास के पन्ने भी पलटने होगे - गौरतलब है भारत में  वर्ण व्यवस्था थी जिसके चलते दलितों -शुद्रो की स्थिति मानवीय द्रष्टिकोण से बहुत ही दयनीय थी  - इस सामाजिक कुरूतियो को ख़त्म करने का प्रयास सर्व प्रथम महात्मा बुद्ध ने सामाजिक द्रष्टिकोण से किया जिसके बाद " भारत रत्न डॉ बाबा साहब अम्बेडकर " ने  दलितों - शुद्रो को सामाजिक ,आर्थिक , राजनेतिक क्षेत्र  में मुख्यरूप से वंचित वर्ग - महिलाओं के लियें काम किया जो की मी

बसपा सुप्रीमों मायावती: CAA व NRC पर मुसलमानों की आशंकाओं को दूर करे केंद्र सरकार

नई दिल्ली। मायावती ने कहा कि नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शनों के दौरान यूपी समेत देशभर में हुई हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण है। बसपा हमेशा हिंसक प्रदर्शन के खिलाफ रहती है, ऐसे में उत्तर प्रदेश समेत अन्य हिस्सों में जल रही हिंसा की आग दुखद है। मायावती ने मंगलवार को ट्वीट किया कि “बी़एस़पी़ की मांग है कि केन्द्र सरकार सीएए और एनआरसी को लेकर खासकर मुसलमानों की सभी आशंकाओं को जल्दी दूर करे तथा उनको पूरे तौर से सन्तुष्ट भी करना चाहिये तो यह बेहतर होगा।” बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने केंद्र सरकार से मांग की है कि सीएए और एनआरसी को लेकर खासकर मुसलमानों की सभी आशंकाओं को जल्द दूर किया जाए। पार्टी गिरफ्तार लोगों के साथ खड़ी है। हम पूरे घटनाक्रम की निष्पक्ष जांच और बेकसूर लोगों की रिहाई चाहते हैं। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा कि लेकिन इसके साथ ही मुस्लिम समाज के लोग सावधान भी रहें। कहीं इस मुद्दे की आड़ में उनका राजनैतिक शोषण तो नहीं हो रहा है और वे उसमें पिसने लगे हैं।”

एससी-एसटी आरक्षण बिल राज्यसभा में पारित, बसपा सुप्रीमो मायावती ने कांग्रेस को बताया दलित विरोधी

दिल्ली। बसपा सुप्रीमो मायावती ने उच्च सदन में बिल पारित करने के दौरान बाधा डालने के लिए कांग्रेस पार्टी को लताड़ लगाई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की ये हरकत दलित विरोधी मानसिकता को दर्शाती है। आपको बता दें कि एससी-एसटी आरक्षण को 10 वर्ष बढ़ाने वाला 126वां संशोधन बिल गुरुवार को राज्यसभा से पास हो गया। साथ ही एंग्लो इंडियन कोटे से होने वाली सांसद की 2 सीटों को भी खत्म करने का प्रावधान है। बता दें कि संविधान के 126वें संशोधन बिल में एससी-एसटी आरक्षण को 10 वर्ष बढ़ाने की व्यवस्था है, जिसके राज्यसभा में पारित होने में कांग्रेस ने बाधा डालने की कोशिश की। हालाँकि सभापति की आग्रह पर वे सदन में वापस आए और तब विलम्ब से यह बिल पास हो पाया। मायावती ने ट्वीट किया, ‘संविधान के 126वें संशोधन बिल में एससी-एसटी आरक्षण को 10 वर्ष बढ़ाने की व्यवस्था है, जिसके राज्यसभा में पारित होने में बाधा डालकर कांग्रेस ने अपनी दलित विरोधी सोच का परिचय दिया है। बता दें कि आरक्षण को आर्टिकल 334 में शामिल किया गया है। बिल में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के आरक्षण को 10 साल तक बढ़ाने का प्रावधान है. एंग्लो-इंडियन

रावण की रिहाही से बहुजन समाज में ख़ुशी -

यूपी | भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्र शेखर उर्फ़ रावण के जेल से रिहा होने के अवसर पर बहुजन समाज में ख़ुशी की लहर छा गई है , बहुजन समाज रावण की रिहाही को दलित ,शोषित तबके के संघर्ष व् मान - सम्मान के साथ जोड़ा जा रहा है | युवा साथी विपिन द्वारा रावण की रिहाही के अवसर पर विचार गोष्टी का आयोजन  किया गया जिसमे  बाबा साहब अम्बेडकर जी की पूर्ति पर पुष अर्पित कर दीपक प्रव्जलित किया गया साथ ही बहुजन समाज ने मिठाई के साथ ख़ुशी बनाई गई | इस अवसर पर बाबा साहब के जीवन पर निम्न साथी वक्ताओं ने विचार रखे -  भोग नाथ पुष्कर ,सोबरन लाल ,जश पाल बोद्ध ,अलोक रावण ,विपिन कुमार ,जोगेंद्र प्रसाद गौतम ,श्याम किशोर बेचेन्न ,श्रीकांत बोद्ध ,सर्वजीत ,सुधांशु गौतम , गौरव बोद्ध , सुरेन्द्र गौतम ,शिव राम गौतम ,शत्रोहन लाल गौतम ,गौरव मिला ,आशु गौतम

बसपा सुप्रीमो ने किया - जय प्रकाश को आउट

बसपा सुप्रीमो ने आज पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया ,जेपी को पार्टी से निकालते हुए मायावती ने कहा कि उन्होंने न सिर्फ पार्टी की विचारधारा के खिलाफ बयानबाजी की, बल्कि विरोधी पार्टी के नेताओं पर व्यक्तिगत टिप्पणियां भी कीं जो की गलत है | क्या मोहरा बने है  - जय प्रकाश को कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गाँधी के खिलाफ बयान बाजी करना महंगा पड़ा है क्योकि जेपी ने राहुल गाँधी के विदेशी अर्थात सोनिया गांधी के जैसा होना बताया उन्होंने कहा की अगर राहुल गाँधी अपने पिता राजीव गाँधी नक्शे कदम पर चलते तो शायद राजनीती में कामयाब हो जाते , लेकिन राहुल गाँधी उनकी माँ सोनिया पर गए है इसलिए वह कभी भी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते | जबकि वर्तमान में बसपा और कांग्रेस में राजस्थान ,छतीसगढ़  में गठबंधन की संभावना है | अ ति -उत्साहित -  हाली में लखनऊ में 16 जुलाई को बसपा के सीनियर कार्यकर्ताओं की मीटिंग थी ,जिसमे जय प्रकाश काफी उत्साहित नज़र आ रहे थे अपने भाषणों में मायावती को 2019 का प्रधानमंत्री का दावेदार बताया साथ ही विरोधियों पर जमकर बरसे थे साथ ही मायावती को साक्षा

मोदी सरकार बदल सकती है "भारतीय संविधान" -

जयपुर | बसपा पार्टी द्वारा "पूना पैक्ट धिक्कार दिवस " बनाया गया जिसके मुख्य वक्ता धर्मवीर सिंह अशोक जी रहे | मुख्य वक्ता धर्मवीर सिंह जी ने डॉ बी.आर आंबेडकर और काशीराम जी को पुष्प अर्पित कर "पूना पैक्ट" पर गहन चर्चा की | धर्मवीर जी ने कहा आज समाज को इतिहास और  पूना पैक्ट जानन बहुत जरुरी है ताकि बहुजन समाज को  पता लग सके की - सामाजिक ,आर्थिक .राजनेतिक स्तर पर  आज जो वह जो सम्मान पा रहा  है ,उसके  लिए  बाबा साहब आंबेडकर ने   कितना संघर्ष किया था | गाँधी अछूत ओं के मसीहा बनते थे लेकिन उन्होंने किस तरह से समाज के गरीब ,शोषित ,दलित वर्ग के लोगो के साथ छल -कपट किया , गांधी जी  दलितों को दोहरे मतदान के विरोध में रहे | बाबा साहब ने संविधान के माध्यम से सभी लोगो को सामाजिक जीवन ,और समानता का अधिकार दिया आज बीजेपी और आरएसएस जैसे संघटन सत्ता पाने के लिए दलितों को लालच , झूटे  आश्वासन दे कर वोट बैंक  की राजनिति कर रहे है आज बीजेपी सरकार में बाबा साहब द्वारा लिखित "भारतीय संविधान" को बदलने का पूरा प्रयास किया जा रहा है | आज दलित ,शोषित वर्ग राजस्थान में अपने को ठगा सा

बसपा सुप्रीमो के सम्मान में - जयपुर में धरना प्रदर्शन

जयपुर | बसपा सुप्रीमो मायावती को राज्य सभा से इस्तीफे के बाद उसका असर अब जमीनी स्तर पर भी दिखने लगा है  ज्ञात हो राज्य सभा में मायावती जी को सहारनपुर घटना पर स्पीकर द्वारा मात्र 3 मिनिट का समय दिए जाने पर , मायावती ने कहा था  की वर्तमान समय में दलितों को वर्त्तमान सरकार निशाना बनाकर मार -काट कर रही है और में उस दलित समुदाय की बात राज्य सभा में रख न सको ऐसा नही हो सकता है | में दलितों और पिछड़े लोगो के हत्याचार के खिलाफ बोलूगी और अगर वर्तमान स रकार मुझे  अपनी बात रखने का अधिकार नहीं देती तो में राज्य सभा से तत्काल इस्तीफा देती हो | उसके बाद से बसपा के कार्यकर्त्ता में भारी आक्रोश है और उसी कड़ी में आज जयपुर में कलेक्ट्री सर्किल  में विशाल धरना प्रदर्शन किया गया | इस अवसर भारी संख्या में भीड़ मोजूद रही , मुस्लिम महिला ओ में अधिक संख्या में उत्साह दिखाया | इस पर मुस्लिम समुदाय की  महिला ओ ने कहा की राजस्थान में बीजेपी सरकार दलितों ,मुस्लिमो को निशाना बनाकर हत्याचार कर रही है ,बीजेपी सरकार अमीरों की सरकार है ,हमारे लिए तो बसपा सरकार में यूपी में अच्छा काम किया था अब हम चाहते है की राजस्थान मे

बसपा सुप्रीमो मायावती लोकसभा चुनाव में बदल सकती है सीट -

आगरा । मुगलों के बाद महाराजा अग्रसेन और अब दलितों की राजधानी बने आगरा का सियासी महत्व है। यही कारण है कि राज बब्बर तक आगरा से सांसद रह चुके हैं। इसी कड़ी में अब एक नया नाम जुड़ सकता है बसपा सुप्रीमो मायावती का जोकि आगरा से चुनाव लड़ सकती हैं।  जी हां आगरा लोकसभा से अब यकायक बसपा सुप्रीमो मायावती के चुनाव लड़ने की चर्चा है हालांकि इस संबंध में बसपा का कोई पदाधिकारी विशेष रणनीति के तहत कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है लेकिन इस बात की प्रबल संभावना जताई जा रही है कि मायावती इस बार ताज नगरी आगरा से लोकसभा का चुनाव लड़े। आगरा की लोकसभा सीट पर मायावती के चुनाव लड़ने का कारण आगरा में बसपा की जमीनी पकड़ का होना है जो कि 2014 के बाद से लगातार खत्म होती जा रही है। यही वजह है कि उसके पुनर्वास के लिए बसपा सुप्रीमो यहां से चुनाव लड़ सकती हैं।

मुझे कुछ हुआ तो BJP जिम्मेदार - मायावती

 यूपी | सहारनुपर में हुई जातीय हिंसा के लिए बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने यूपी की योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। वह मंगलवार सुबह दिल्ली से सहारनपुर के लिए हेलिकॉप्टर से रवाना होने वाली थीं लेकिन स्थानीय प्रशासन से इजाजत न मिलने पर वह सड़क मार्ग से सहारनपुर पहुंचेंगी। मायावती ने कहा, 'अगर मुझे कुछ होता है तो बीजेपी सरकार उसके लिए जिम्मेदार होगी क्योंकि मैं हेलिकॉप्टर से जाना चाहती थी लेकिन रोड से जाने के लिए मजबूर हूं।' उन्होंने कहा कि पार्टी के नेताओं ने सहारनपुर के डीएम और एसएसपी से मिल हेलिपैड की परमिशन मांगी थी लेकिन वह ठुकरा दी गई। मायावती ने कहा, 'मेरे सहारनपुर पहुंचने और वहां से वापस आने तक की जिम्मेदारी सरकार की है।'

यूपी चुनाव ईवीएम से छेड़छाड़ मामले पर सुप्रीमकोर्ट में 24 मार्च को सुनवाई -

नई दिल्ली । यूपी  विधानसभा चुनावो के परिणाम आने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती द्वारा लगाए गए ईवीएम से छेड़छाड़ के आरोप पर सुप्रीमकोर्ट 24 मार्च को सुनवाई करेगा। गौरतलब है कि विधानसभा चुनावो के परिणाम आने के बाद बसपा प्रमुख मायावती ने कहा था कि चुनाव के दौरान ईवीएम से छेड़छाड़ करके बीजेपी के पक्ष में परिणाम कर दिए गए हैं। उन्होंने चुनाव परिणाम आने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में पीएम मोदी तथा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को वैलेट पेपर पर चुनाव कराने की चुनौती दी थी। कल संसद परिसर में मीडिया से बात करते हुए मायावती ने कहा था कि वे ईवीएम से छेड़छाड़ के मामले में अगले दो तीन दिन में कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाएंगी।

EVM मशीनों से छेड़ छाड़ को लेकर बसपा हर महीने की 11 को काला दिवस बनायेगी-

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा की बसपा हर महीने की 11 तारीख को काला दिवस बनायेगी | बसपा सुप्रीमो  ने कहा की कोई यह मान ही नहीं सकता की मुस्लिम और दलित बाहुल्य  सी टो पर बसपा को इतने कम वोट मिले | बीजेपी ने इन ई वी म  मशीनों से छेड़ छाड़ कर सत्ता पर काबिज हुई  है | गोरतलब है की बसपा और सपा  ने evm मशीनों में छेड़ छाड़ का आरोप बीजेपी पर लगाया  है  |

बसपा सुप्रीमो मायावती की रैली के बाद भूमि शुद्धिकरण -

यूपी देवरिया :पीएम  नरेंद्र मोदी की देवरिया में 1 मार्च को चुनावी रैली होनी है और पीए म् मोदी की रैली से पहले 25 फ़रवरी को  बसपा सुप्रीमो मायावती की रैली थी |  पीएम मोदी की रैली से पहले  बीजेपी की महिला मोर्चे की अध्यक्ष स्वाति सिंह ने लखनऊ से देवरिया पहुँच कर रैली वाली जगह पर भूमि पूजन किया है | जब स्वाति सिंह से इसविषय पर बात की गई की इसके पीछे कही शुद्धिकरण तो नही है तो उन्होंने कहा की हमारे देश की परम्परा है की प्रत्येक नये काम करने से पहले पूजा की जाती है इसलिए हमने भूमि पूजन किया है |अब इसे दलित विरोधी और शुद्धिकरण से जोड़ कर देखा जा रहा है |

डिंपल को लगता है डर ,कर सकती है भैया अखिलेश से शिकायत -

 सीएम अखिलेश यादव की पत्नी 'डिंपल यादव की सुरक्षा' विपक्षियों के लिए बड़ा मुद्दा बन गया है। इस मुद्दे को खराब कानून-व्यवस्था से जोड़कर बीजेपी और विपक्ष  लगातार ह मले कर रही है।  बीएसपी के प्रचार वाला नया पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें डिंपल की सुरक्षा के लिए बहन जी की सरकार बनाने की बात कही गई है। डिंपल की सुरक्षा का मुद्दा एसपी की इलाहाबाद में हुई सभा के बाद से तूल पकड़ता जा रहा है। इलाहाबाद में डिंपल ने कार्यकर्ताओं को चेतावनी भी दी थी कि अगर वह नहीं माने तो वे उनकी शिकायत भैया(अखिलेश) से करेंगी। जौनपुर में भी हंगामे के कारण उन्हें दिक्कत हो रही  है और उनको डर लग रहा है ऐसा डिंपल यादव ने सभा में कहा | इलाहाबाद की सभा में एसपी कार्यकर्ताओं के हंगामे के बाद से बीजेपी लगातार इसे मुद्दा बना रही है। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य हर सभा में इस पर चुटकी ले रहे है । उधर, केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने भी कहा है कि जब डिंपल यादव ही सुरक्षित नहीं हैं तो आम महिलाओं की सुरक्षा कैसे हो | अब बीएसपी के प्रचार वाले नए पोस्टर ने अखिलेश सरकार पर और कड़ा हमला किया है