Skip to main content

Posts

Showing posts with the label maharasht

बॉयफ्रेंड होने का यह मतलब नहीं की, किसी महिला मित्र का बलात्कार किया जा सके -

हाईकोर्ट ने रेप के एक मामले में दोषी करार दिए गए अपराधी द्वारा पीड़ित को शर्मसार करने की कोशिशों पर नाखुशी जताते हुए उपरोक्त  टिप्पणी की - बॉम्बे हाईकोर्ट ने सोमवार को कहा कि किसी महिला का कोई पुरूष मित्र हो सकता है लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि किसी दूसरे को उसके साथ रेप करने का अधिकार मिल जाता है , हाईकोर्ट ने रेप के एक मामले में दोषी करार दिए गए अपराधी द्वारा पीड़ित को शर्मसार करने की कोशिश पर नाखुशी जताते हुए यह टिप्पणी की जस्टिस ए एम बदर ने पिछले हफ्ते दिए गए आदेश में बाल यौन अपराध निरोधक अधिनियम (पॉक्सो) अधिनियम के तहत रेप का दोषी करार दिए गए एक शख्स को जमानत देने से इनकार कर दिया था . उसने  अपनी नाबालिग भतीजी के साथ बार-बार रेप करने का दोषी करार दिया गया है. अदालत ने अपराधी की इस दलील को खारिज कर दिया कि पीड़िता के ‘दो पुरूष मित्र हैं, जिनके साथ उसके यौन संबंध थे, जस्टिस बदर ने कहा, ‘ कोई महिला चरित्रहीन हो सकती है लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि कोई भी इसका फायदा उठा सकता है. उसे ना कहने का अधिकार है. ’ उन्होंने कहा, ‘अगर हम यह बात मान भी लें कि इस मामले में पीड़िता के दो पुरूष मि

मोदी सरकार को 2019 के लिए झटका -

नई दिल्ली |  केंद्र की सत्ता पर काबिज बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए (नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट) में शामिल होनेके लिए अनेक पार्टिया लगी है, लेकिन  वहीं पश्चिमी महाराष्ट्र में भाजपा पार्टी को झटका भी लगा है। पश्चिमी महाराष्ट्र में किसानों के बीच अच्छी साख रखने वाले स्वाभिमानी शेतकारी संगठन ने एनडीए छोडऩे का फैसला ले लिया है। शेतकरी संगठन के सासंद राजू शेट्टी ने बकायदा सीएम देवेंद्र फडऩवीस को त्यागपत्र भी सौंप दिया है। पार्टी ने यह फैसला अपने दो बड़े नेताओं को पार्टी से बाहर निकालने के बाद लिया है। गौरतलब है कि राजू शेट्टी ने पिछले महीने केंद्र और महाराष्ट्र की बीजेपी की नेतृत्व वाली सरकार गठबंधन तोडऩे की औपचारिक घोषणा की थी। इसके अलावा उन्होंने राजग (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) पर आरोप लगाया था कि वो किसानों से किए गए वादों को पूरा करने में असफल रहा है। ख़ास नजर - हाल ही में केबिनेट विस्तार में  शिवसेना  से एक भी मंत्री पद  ना देने  के कारण   शिव सेना ने भी  एनडीए  घटक से अपना समर्थन वापस लेने का निर्णय लिया है ,ओपचारिकता तोर पर अभी इसकी घोषणा नहीं हुई है | अगर ऐसा होता है तो एनडीए को कुछ