Skip to main content

Posts

Showing posts with the label government

राजस्थान सरकार अभिभावकों की आर्थिक स्थिति को समझे और प्राइवेट स्कूलों की 3 माह की फ़ीस माफ़ करें - पवन देव

Fanaticism regarding the fees of private schools wrong - Pawan Dev जयपुर | प्राइवेट स्कूलों की फ़ीस को लेकर अभिभावक व् स्कूल प्रशासन में खीचतान चल रही है जिसका कोई सकारात्मक परिणाम नहीं निकल पाया है इस को लेकर सोशल एक्टिविस्ट व् जर्नलिस्ट पवन देव ने राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लेटर लिखकर - इस वैश्विक महामारी कोविड -19 व् लॉक डाउन के चलते अभिभावकों की जो आर्थिक स्थिति ख़राब हुई है जिसके चलते उनका घर चलाना भी मुश्किल हो गया है की और ध्यान दिलाते हुयें कहा है की  गैर सरकारी स्कूलों  द्वारा इस लॉक डाउन के समय जो फ़ीस वसूली की जा रही है उस पर तुरंत प्रभाव  से रोक लगाई जायें व्  3 माह की स्कूल की फ़ीस माफ़ की जायें |    मोहदय गौरतलब है की देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने देश में 22 मार्च को मध्य रात्रि को लॉक डाउन करने का आदेश जारी करा था जिसके साथ ही राजस्थान सरकार ने भी राजस्थान में लॉक डाउन को सख्ती से लागू किया जिसके चलते रा [caption id="attachment_9075" align="alignright" width="297"] PAWAN DEV - JAIPUR [/caption] जस्थान में सकारात्मक परिणाम न

रविशंकर प्रसाद ने कहा- SC/ST मामले में पुनर्विचार याचिका दायर करेगी सरकार

नई दिल्ली। अनुसूचित जाति / जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के संदर्भ में सुप्रीम कोर्ट के हाल के फैसले से पिछले एक सप्ताह से उठे विवाद के बीच विधि एवं न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को स्पष्ट किया कि सरकार शीर्ष अदालत के निर्णय के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी।प्रसाद ने केंद्रीय मंत्रिमंडल की बुधवार को हुई बैठक में लिए गए फैसलों के बारे में जानकारी देने के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही। उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब में बताया कि यह फैसला काफी दुर्भाग्यपूर्ण है और सरकार ने इसका संज्ञान लिया है। विधि एवं न्याय मंत्रालय से शीर्ष अदालत के आदेश का अध्ययन कर इसके खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर करने के लिए कहा गया है। गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय ने पिछले दिनों यह आदेश दिया था कि अनुसूचित जाति / जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के क्रियान्वयन के मामले में आरोपी को तुरंत सीधे गिरफ्तार करने और आपराधिक मामले दर्ज करने की बजाय पहले मामले की प्राथमिक जांच की जाए और सक्षम अधिकारी की अनुमति से ही गिरफ्तारी हो। इससे पहले बुधवार को लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख एवं खाद्य

हर वर्ग को विकास की मुख्यधारा से जोड़ा है: वसुंधरा राजे

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि सरकार ने आम आदमी के लिए काम करते हुए हर वर्ग को विकास की मुख्यधारा से जोड़ा है। और हम जनता के भरोसे पर खरा उतरेंगे। राजे एएनएम-जीएनएम की भर्ती को लेकर राज्य बजट में की गई घोषणाओं के लिए मुख्यमंत्री निवास पर उनका आभार व्यक्त करने आए प्रदेशभर से वंचित एनआरएचएम अभ्यर्थियों को संबोधन दे रही थी। राजे ने कहा कि जनता का विश्वास ही उनकी पूंजी है वह उनके भरोस पर खरा उतरेंगे। इस मौके पर इन अभ्यर्थियों ने बताया कि एनआरएचएम के नर्सिगकर्मियों की पिछली भर्ती में कई अभ्यर्थी वंचित रह गए थे। राज्य बजट में 4 हजार 514 नर्स ग्रेड-द्वितीय तथा 5 हजार 558 महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता की भर्ती से नर्सिंगकर्मियों में एक नई उम्मीदक की कीरण जगी है। दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र महावीरजी प्रबंधकारिणी कमेटी के पदाधिकारियों ने भी राजे से मुलाकात की और उन्हें महावीरजी क्षेत्र में वृहद् सामुदायिक चिकित्सा केन्द्र एवं क्षतिग्रस्त सडक़ के निर्माण के लिए वित्तीय स्वीकृति जारी करने पर उनका आभार जताया है।

BJP सरकार कुछ नये चेहरों को राज्य मंत्रिमंडल में दे सकती है जगह

जयपुर। इस समय राज्य मंत्रिपरिषद विस्तार की चर्चा जोरों पर चल रही हैं। इस समय सीएम वसुंधरा राजे दिल्ली में हैं और विधायक भी लगातार दिल्ली के चक्कर लगा रहे हैं। अब ऐसा कयास लगाया जा रहा हैं सरकार कुछ नये चेहरों को राज्य मंत्रिमंडल में जगह दे सकती है। आपको बता दे कि इस साल के आखिरी में विधानसभा चुनाव है । इसको ध्यान में रखते हुए सरकार हर वर्ग को खुश करना चाहती है। अब तक बीजेपी की बगावत कर रहे किरोडी लाल मीणा हाल ही में उनकी पार्टी में शामिल होकर राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए है। उसके बाद ऐसा कयास लगाया जा रहा है कि सीएम राजे किरोडी मीणा की पत्नी राजगढ़ विधायक गोलमा देवी पर अपनी मेहरबानी दिखा सकती है। इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि मंत्रिपरिषद में कमजोर प्रतिनिधित्व वाली जातियों को सरकार अब चुनावो को ध्यान में रखकर खुश कर सकती है। हालांकि इस बात का खुलासा तो सोमवार तक होगा कि गोलमा देवी इन नए चेहरों में शामिल होंगी या नहीं। लेकिन राजस्थान की सियासत में ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि किरोड़ी मीणा को राज्यसभा भेजने के बाद राजस्थान में गोलमा का भी कद बढ़ाया जा सकता है।