Skip to main content

Posts

Showing posts with the label ghansham tiwadi

घनश्याम तिवाड़ी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व पर उठाये सवाल

[contact-form][contact-field label="Name" type="name" required="true" /][contact-field label="Email" type="email" required="true" /][contact-field label="Website" type="url" /][contact-field label="Message" type="textarea" /][/contact-form] जयपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता घनश्याम तिवाड़ी ने आज अपने आवास पर आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व में अगला चुनाव नही लड़े की घोषणा करते हुए कहा कि वर्तमान स्थिति में वो पार्टी से इस्तीफा नहीं देंगे।   राजे के जनविरोधी कार्यकलापों और भ्रष्टाचार को बढावा देने की नीतियों के कारण प्रदेश के कार्यकर्ताओं में आक्रोश की भावना बढ़ती जा रही है। इस संबंध में उन्होंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखकर आगाह भी किया है। तिवाड़ी ने कहा कि इसके बाद भी अगर पार्टी नेतृत्व कार्यवाही नहीं करता तो यह घातक सिद्ध होगा। राज्य में नये राजनीतिक दल के गठन के संबंध में पूछे जाने पर तिवाड़ी ने कहा कि यदि केन्द्रीय नेतृत्व राजे को राजस्थान की

घनश्याम तिवाडी के साथ सरकार कर रही भेदभाव : कैलाश मेघवाल

जयपुर। आज विधानसभा में चर्चा का विषय घनश्याम तिवाड़ी का था। विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने घनशयाम तिवारी को सदन का सितारा बताया है। इसके अलावा घनश्याम तिवारी भी मिडिया से अपनी बात कही। घनश्यम तिवारी ने मीडिया से कहा कि "ये मिलीभगत का खेल था। दोनो ने मिलकर कार्यवाही स्थगित करवाई। आगे वे कहते है कि मुझे विधानसभा अध्यक्ष ने कहा था की आज बोलना है। लेकिन सुबह मुख्यमंत्री और संसदीय कार्य मंत्री ने अध्यक्ष से बात की और मेरी बारी स्थगित करवा दी। मुझे ही कह देते की नहीं बोलने देंगे कम से कम दूसरे तो नहीं बोलते। लोग क्यों डर रहे है ये उन्ही से पूछा जाए। मैं तो आरक्षण बेरोज़गारी भूमि सुधारो पर बोलना चाहता था। पद्मिनी पर बोलना चाहता था। संजय लीला भंसाली नहीं ये सरकार ज़िम्मेदार है। पर्यटन विभाग से प्रेरणा लेकर संजय लीला भंसाली ने फ़िल्म बनाने की योजना बनायी थी। सरकार सदन चलाना नहीं चाहती इसके अलावा रामेश्वर डूडी ने मीडिया से कहा कि हमें पहले ही लग गया था कि सरकार सदन नहीं चलाना चाहती इसलिए हम सदन छोड़ के भाग गए। पूरे प्रदेश में भय और भ्रष्टाचार बाधा है, आम जन दुखी है। तो वहीँ विधानसभा अध्यक्