Skip to main content

Posts

Showing posts with the label dalit atrocity

महाराष्ट्र - दलितों का नरसंहार, 1 की मौत

भीमा-कोरेगांव की लड़ाई की 200 वीं सालगिरह पर हिंसक झड़प , एक व्यक्ति की मौत- पुणे में मुख्य समारोह भीम कोरेगांव के जय स्तंभ पर शांतिपूर्वक चल रहा था उसी समय पड़ोस के गावं से लोग सभा स्थल पर पत्थर बाजी करने के लिए आ गए  जिससे माहोल ख़राब हो गया और देखते ही देखते भारी हिंसात्मक घटनाये सामने आ गई |  पीड़ित दलितों के अनुसार मराठा समुदाय के उपद्रवियों ने पहले से सुनियोजित प्लानिग से सभा स्थल से कुछ दूरी पर ही  लोगो पर हमाल कर दिया जिससे भारी मात्रा में दलित वर्ग के लोग घायल हो गए और 1 व्यक्ति की मौत हो गई | ज्ञात हो - ब्रिटिश सेना ने 1 जनवरी 1818 को पेशवाओं की सेना को शिकस्त दी थी। भी [caption id="attachment_4718" align="alignright" width="478"] s net[/caption] म कोरेगांव की लड़ाई की 200वीं वर्षगांठ मनाने के लिए  लाखों की संख्या में दलितों समाज के लोग समारोह में उपस्थित हुवे थे कुछ ही समय बाद मराठा  संगठनों से हिंसक झड़प शु रू कर दी  , जिसमे लाखो की संख्या में दलित समुदाय के निहथे लोग घायल हो गए पीड़ित लोगो ने कहा की   29 दिसंबर को भीम कोरेगांव से लगभग 5 किमी दूर व

मुख्यमंत्री राजे को याद आया - दलित समाज

 दलितों की तरक्की से बदलेगी प्रदेश की तस्वीर: मुख्यमंत्री 7 अक्टूबर, 2017 | जयपुर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने शुक्रवार को ‘मुख्यमंत्री जनसंवाद’ कार्यक्रम की शुरुआत दलित समाज से की। सबसे पहले उन्होंने दलित समाज के साथ बैठक की। उन्होंने दलित समाज के लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि दलितों की तरक्की से  प्रदेश की तस्वीर बदलेगी। इस सोच के आधार पर हमारी सरकार काम कर रही है। बाबा साहेब अम्बेडकर के सपनों को साकार करते हुए हमारी सरकार निरन्तर दलित उत्थान में लगी हुई है। रैगर, मेघवाल, खटीक एवं अन्य दलित समाज के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जब तक 36 की 36 कौमों और सब मज़हबों का विकास नहीं होगा तब तक प्रदेश आगे नहीं बढ़ सकता। दलित समाज ने हमेशा देश का गौरव बढ़ाया है। आज देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद पर राष्टपति रामनाथ कोविंद तथा प्रदेश की सबसे बड़ी पंचायत विधानसभा में दलित समाज के कैलाश मेघवाल अध्यक्ष के रूप में पदस्थापित हैं। यह दलित समाज के लिए गर्व की बात है। दलित समाज भी हमारे परिवार का अभिन्न अंग है ज्ञात हो : राजस्थान दलितों के हत्याचार के मामले में  प्रथम स्थान पर है |