Skip to main content

Posts

Showing posts with the label c mvasundhara raje

फेक न्यूज पर राहुल गांधी ने साधा PM मोदी पर साधा निशाना, कहा...

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने फेक न्यूज पर सूचना एवं पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के दिशा निर्देशों को वापस लिए जाने को लेकर पीएम पर निशाना साधा है। राहुल ने ट्वीट करके लिखा है मोदी ने अपनी सरकार के आदेश पर यू-टर्न ले लिया। राहुल गांधी ने लिखा कि फेक न्यूज के खिलाफ आदेश को लेकर गुस्से को भांपते हुए पीएम ने अपनी सरकार के आदेश पर यू-टर्न ले लिया। इससे यह बात साफ हो रही है कि पीएम का नियंत्रण कमजोर पड़ रहा है। सरकार में डर का माहौल व्याप्त है। इस ट्वीट में राहुल ने ‘हैशटैग बस एक और साल’ का इस्तेमाल किया। राहुल गांधी का कहना है कि मोदी सरकार का सत्ता में बस एक साल ही बाकि रह गया है। 2019 में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं। वहीं कांग्रेसे वरिष्ठ नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल भी पहले ही मोदी सरकार के 24 घंटे में इस यू-टर्न को मीडिया की जीत बता चुके हैं। पाटिल ने आरोप लगाया था कि फेक न्यूज पर दिशानिर्देश जारी करके मोदी सरकार ने मीडिया की स्वायत्तता पर पांबदी लगाने का प्रयास लगाया है। साथ ही पाटिल ने कहा कि मैं एकजुट होकर इस फैसले का विरोध करने वाले सभी पत्रकारों को बधाई देता हूं। उन्हो

आरपीएससी को मिला नया चेयरमैन -

डॉ. गर्ग आरपीएससी के चेयरमैन नियुक्त  - जयपुर, 15 दिसम्बर। राज्य सरकार ने डॉ. राधे श्याम गर्ग को राजस्थान लोक सेवा आयोग (आरपीएससी) का चेयरमैन नियुक्त किया है। 2 मई, 1956 को जन्मे डॉ. गर्ग धौलपुर निवासी हैं। | ख़ास नजर - आगामी विधानसभा चुनावो को लेकर वसुंधरा राजे सरकार ने लम्बे समय से रिक्त पड़े आरपीएससी  चेयरमैन पद  पर डॉ .गर्ग को  नियुक्त  किया है  अब यह देखना होगा की राजस्थान में लम्बे समय से चले आ रहे बेरोजगारों के लिए कितनी नौकरियां  निकलती है |

लोभ -लालच और प्रलोभन से अब नहीं हो सकेगा धर्म परिवर्तन - राजस्थान सरकार " धर्म स्वांतत्र्य विधेयक -2008 " को कानून बना सकती है |

 नहीं होगा आसा अब .......................धर्म परिवर्तन  जयपुर | राजस्थान सरकार अब लोभ -लालच और प्रलोभन के द्वारा धर्म परिवर्तन करने वाले संगठन पर लगाम लगाने हेतु  " धर्म स्वांतत्र्य विधेयक -2008 " को राष्ट्पति कोविंद द्वारा पास करवाने के लिए अपना उच्चतम प्रयास कर रही है .अगर " धर्म स्वांतत्र्य विधेयक -2008 "  कानून का रूप अख्तियार  कर लेता है तो राजस्थान राज्य में धर्म परिवर्तन करना आसान नहीं होगा , इसके लिए  सरकार से अनुमति लेनी होगी और सरकार की अनुमति के आधार पर ही व्यक्ति अपना धर्म परिवर्तन कर सकेगा | इस कानून के क्या होगे मायने है - एक ख़ास नजर  भारत वर्ष में जाती -भेद  भाव और लिंग के आधार पर उच्च -निच्च के  वर्ग में समाज को बाटा गया है , साथ ही भारतीय संविधान सभी वर्ग -धर्म जात -पात को निराधार मानते हुवे - समानता का अधिकार देता है किन्तु समाज में कथित कुछ धार्मिक संगठनो द्वारा गरीब और समाज के वंचित तबके को लोभ -लालच देकर उनका धर्म परिवर्तन करवाने की घटनाए अकसर देखने और सुनने को मिलती है की कुछ धार्मिक संगठन , एन जी ओ  चोरी - छिपे गरीबो { sc / st } वर्ग के लोगो क