Skip to main content

Posts

Showing posts with the label budget

घोषणा के बाद भी किसान असंतुष्ट : अमराराम

झुंझुनू। माक्सर्वादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) के राज्य सचिव एवं पूर्व विधायक कामरेड अमराराम ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा पेश बजट में किसानों के पचास हजार रुपए तक के ऋण माफ करने की घोषणा के बाद भी किसान असंतुष्ट है। अमराराम ने आज अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने चाहे किसानों के 50 हजार रुपए तक के ऋण माफ करने और किसान ऋण राहत आयोग का गठन करने की घोषणा बजट में की लेकिन किसान अभी भी इससे असंतुष्ट है। उन्होंने कहा कि सरकार ने नियम कायदों की आड़ में अभी आधी अधूरी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि बजट घोषणा के मुताबिक लघु और सीमांत किसानों का वो ही ऋण माफ होगा,जो कॉपरेटिव बैंकों से लिया गया है। जबकि उनके साथ जो समझौता हुआ है उसमें हर वर्ग के किसान और हर बैंक से लिए गए 50 हजार रुपए तक के ऋण माफ करने की बात कही गई है। उन्होंने इसे सरकार की मंशा में खोट बताया और कहा कि किसान सभा में पूर्व में ही आह्वान किया है कि आगामी 22 फरवरी को विधानसभा का घेराव करेंगे तथा इस दिशा में आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि इसी क्रम में झुंझुनू से किसानों का पहला पैदल जत्था विधानसभा

मुख्यमंत्री ने चुनावी बजट में आम आदमी को किया है निराश: पायलट

जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की ओर से विधानसभा में पेश बजट को चुनावी बजट बताते हुए कहा कि उन्होंने अपने बजट में महंगाई का जिक्र नहीं कर आम आदमी को निराश किया है।राज्य बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए पायलट ने कहा कि मुख्यमंत्री ने किसानों व दूसरे वर्गों के लिए जो घोषणाएं की है उसे पूरा करने का सरकार के पास समय ही नहीं बचा है तो किसानों को कैसे लाभ पहुंचेगा। किसानों के पचास हजार तक के सहकारी बैंकों के कर्ज माफ करने की घोषणा पर उन्होंने कहा कि भाजपा शासित उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में किसानों के 35 से 40 हजार करोड़ तक के कर्ज माफ किए हैं जबकि राजस्थान में पचास हजार रुपये में तो अच्छी भैंस भी नहीं खरीद सकते। पायलट ने कहा कि उपचुनाव में करारी हार और कांग्रेस के लगातार दबाव के कारण इस बजट में किसानों के कर्ज माफ करने की घोषणा की गई है और सरकारी स्कूलों को पीपीपी मोड पर देने का निर्णय वापस लेना पड़ा है। एक सवाल के जवाब में पायलट ने कहा कि उपचुनाव में हार के बाद यह बजट नुकसान की भरपाई की बजाय नुकसानदायक साबित होगा क्योंकि इसमें किसी वर्ग के लिए कुछ

सीएम राजे ने किया 2017-18 का बजट पेश, देखिए बजट की पूरी जानकारी

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्य का 67वां बजट पेश कर दिया है। सदन में बजट पढ़ने से पहले विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने मुख्यमंत्री को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि आज आपका (राजे) जन्मदिन है। मेरी (मेघवाल) और सदन की ओर से बधाई बजट भाषण का शुभारंभ मुख्यमंत्री ने पिछले कुछ माह में राज्य को मिले पुरुस्कारों की जानकारी देते हुए किया। उन्होंने कहा कि आर्थिक रूप से काफी विपरीत परिस्थितियों में हमें प्रदेश सम्भालने को मिला। उन्होंने उल्लेख करते हुए कहा कि इस बार बजट की कॉपियों को डिजिटल फॉर्म में रखा गया है। सड़क —मुख्यमंत्री ने बजट में घोषणा की है कि राज्य में सड़कों का जाल बिछाया गया है । राजे ने जानकारी दी कि दूसरे चरण में दो हजार किमी की सड़कों का निर्माण कराया जाएगा। — करीब 1000 किलोमीटर के राज्य राजमार्गों के लिए काम शुरू कराया जाएगा। केकड़ी में स्कूलों के रास्ते के लिए 17 किलोमीटर मार्ग बनाया जाएगा। — बाप क्षेत्र में डलब लेन की घोषणा। पेयजल — 2039 गांवों में शुद्व पेयजल पहुंचाने की घोषणा राजे ने बजट में की। — पेजयल योजनाओं पर सरकार छह हजार करोड़ से ज्या