Skip to main content

Posts

Showing posts with the label bjp or dalit

साहित्य को नई दिशा देता, बहुजन लेखकों का महाकुम्भ - बहुजन लिट फेस्ट

बहुजन लिट फेस्ट का भव्य आयोजन - जयपुर | कहा जाता है की साहित्य समाज का दर्पण होता है लेखक वर्ग समाज की यथा स्तिथि को साहित्य के जरिये बयां करते है लेकिन जब साहित्य हो और वो भी दलित साहित्य तो सामाजिक उत्पीड़न और सामाजिक अवस्था का चित्रण यथार्थ हो उठता है और ऐसा ही मंच जयपुर में देखने को मिला -  बहुजन साहित्य महोत्सव में | बहुजन समाज के देश -विदेश से लेखक जयपुर में आयोजितamzn_assoc_ad_type ="responsive_search_widget"; amzn_assoc_tracking_id ="politico24x7-21"; amzn_assoc_marketplace ="amazon"; amzn_assoc_region ="IN"; amzn_assoc_placement =""; amzn_assoc_search_type = "search_widget";amzn_assoc_width ="auto"; amzn_assoc_height ="auto"; amzn_assoc_default_search_category ="Books"; amzn_assoc_default_search_key ="dr ambedkar ";amzn_assoc_theme ="light"; amzn_assoc_bg_color ="FFFFFF"; //z-in.amazon-adsystem.com/widgets/q?ServiceVersion=20070822&Operation=GetScript&

भारत विकसित राष्ट्र नहीं बन सकता यदि जाति, पंथ, धर्म और लिंग पर आधारित असमानताएं विद्यमान हैं: उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू

उपराष्ट्रपति ने ‘सोशल एक्सक्लूजन एण्ड जस्टिस इन इंडिया’ पुस्तक का विमोचन किया - उपराष्ट्रपति, श्री एम. वेंकैया नायडू ने कहा है कि हम एक विकसित भारत का निर्माण नही कर सकते यदि समाज में जाति, पंथ, धर्म और लिंग पर आधारित असमानताएं विद्यमान हैं। श्री पी.एस.कृष्णन द्वारा लिखित पुस्तक ‘सोशल एक्सक्लूजन एण्ड जस्टिस इन इंडिया’ का विमोचन करने के बाद उपराष्ट्रपति उपस्थित जनसमुदाय को आज यहां संबोधित कर रहे थे। केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री श्री थावर चन्द गहलोत व अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे। उपराष्ट्रपति ने कहा कि पिछले सात दशकों से लेखक समाज के वंचित वर्गों की समस्याओं का अध्ययन कर रहे है। इन्होंने भारतीय समाज में भेदभाव को नजदीक से अनुभव किया है। पुस्तक इस तथ्य का साक्ष्य है कि उन्हे वंचित वर्गों, दलितों आदिवासियो और सामाजिक व आर्थिक रूप से पिछड़े वर्गो के मामलों की गहरी जानकारी है। लेखक को आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में रहने वाले पिछड़े सामाजिक वर्गों की कठिनाईयों का लम्बा अनुभव है और वे इनके निदान के लिए व्यवहारिक और प्रभावी तरीके भी सामने रखते हैं। उपराष्ट्रपति ने क

बीजेपी राजस्थान में लायेगी - दलित मुख्यमंत्री

राजस्थान की वसुंधरा सरकार और संगठन में इन दिनों सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। बीजेपी के अंदरूनी अंसतोष से नाराज पार्टी आलाकमान नए समीकरणों पर विचार कर रहे हैं। गुजरात चुनावों से पहले सरकार और संगठन में बड़े फेरबदल की चर्चाएं फिर से तेज हो गई है। सूत्रों के मुताबिक बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के राजस्थान दौरे से ठीक पहले बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष का परिवर्तन किया जा सकता है। वहीं पार्टी गुजरात चुनावों से पहले राजस्थान में सरकार के शीर्ष नेतृत्व में परिवर्तन का भी मन बना चुकी है। माना जा रहा है कि गुजरात में दलितों की नाराजगी को देखते हुए पार्टी राजस्थान में सीएम किसी दलित नेता को बनाना चाहती है। वहीं बीजेपी में अंदरखाने डॉ.किरोड़ी लाल मीणा की भी पार्टी में वापसी की चर्चाएं हैं। लेकिन किरोड़ी ने साफ संकेत दिए हैं कि वे वसुंधरा राजे के नेतृत्व में पार्टी में नहीं आना चाहते हैं। कौन हो सकता है अगला सीएम- बीजेपी के आलाकमान का मानना है कि राजस्थान में दलित नेता के तौर पर संघ से जुड़े अर्जुन मेघवाल को आखिरी वक्त में मुख्यमंत्री बनाया जाए और साथ ही उप मुख्यमंत्री के तौर पर किरोड़ी लाल मीणा क