Skip to main content

Posts

Showing posts with the label baba sahab ambedkar

ज़ेल जा सकते है आप नेता कुमार विश्वास -

यूपी के बुलंदशहर में कुमार विश्वास उर्फ मनीष शर्मा पर बाबा साहब पर टिप्पणी करने पर हुआ मुकदमा दर्ज- आप नेता कुमार विश्वास उर्फ मनीष शर्मा ने सविंधान निर्माता, भारत रत्न बाबा साहेब डॉ०भीमराव अंबेडकर जी पर आपत्ति जनक व जाति सूचक टिप्पणी कर बुरे फ़स गए है | राजस्थान में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कुमार विश्वास ने कहा था की   "एक आदमी आरक्षण के नाम पर आंदोलन कर गया था एक आदमी (अम्बेडकर) यहाँ  आकर जाति का बीज बो गया था । उससे पहले यहां जाति वाद नहीं था । सब मिलकर रहते थे ।  आप नेता कुमार विश्वास ने कहा मेरे गाँव में  एक मेहतरानी मेरी दादी के साथ ब्याह कर साथ आई थी  वह मेहतरानी हमारे घर की बहू को घूंघट न करने पर हजार गालियां सुनाकर चली जाती थी और हम उसे कुछ नहीं कहते थे । यानी इतनी इज्जत थी उसकी। " कुमार विश्वास की कही हुई बातो से सम्पूर्ण दलित समुदाय और विभिन्न सामाजिक संघटनो ने आपत्ति दर्ज कराई है | उ नका का कहना है की आप नेता कुमार विश्वास सस्ती लोकप्रियता के लिए डॉ बाबा  साहब जैसे महापुरुष पर ऐसे अपशब्द का प्रयोग कर गठिया राजनीती  कर रहे है आज बुलंदशहर में कुमार विश्वास उ

क्या वे सविंधान के मुख्य शिल्पी थे ?

क्या वे सविंधान के मुख्य शिल्पी थे ? उन्हें श्रेय क्यों दे ? डॉ भीमराव अम्बेडकर की 126 वी जयंती पर यह सवाल रह रह कर उठाया गया है। किसी ने पूछा ‘फिर और लोग क्या कर रहे थे /किसी की दलील है असली काम तो सविंधान सभा के अध्यक्ष डॉ राजेंद्र प्रसाद का था। इसमें सविंधान की रचना में अम्बेडकर के योगदान का नापतोल किया जा रहा है। गोया डॉ अम्बेडकर महज एक सदस्य भर थे। काश हम इतिहास के पन्नो से रहगुजर होते तो ऐसा नहीं सोचते। क्योंकि उन पन्नो में उस दौर की हकीकत और हालात दर्ज है। सविंधान सभा के सदस्य स्वाधीनता संग्राम के मूल्यों से ओतप्रोत थे। वे हमारी तरह बंटे हुए नहीं थे। उनकी आँखों में हमारे लिए आज़ाद भारत के सुनहरे ख्वाब थे। खुद डॉ राजेंद्र प्रसाद ने सविंधान पर मुहर लगने के बाद अपने भाषण में अम्बेडकर को माननीय कह कर सम्बोधित किया और सविंधान निर्माण में उनके अहम किरदार को रेखांकित किया। डॉ राजेंद्र प्रसाद ने कहा डॉ अम्बेडकर ने प्रारूप समीति के अध्यक्ष के रूप में उल्लेखनीय काम किया है। ‘डॉ अम्बेडकर ने अपने स्वास्थ्य की परवाह नहीं की ,उनके प्रारूप कमेटी के अध्यक्ष बनने से उस समीति की आभा बढ़ी ‘ डॉ राजें