Skip to main content

Posts

Showing posts with the label ashok parnami

देश के अगले PM के चयन में दलितों की भूमिका महत्वपूर्ण होगी: नितिन राउत

नई दिल्ली। कांग्रेस के अनुसूचित जाति (एससी) विभाग के नव नियुक्त अध्यक्ष नितिन राउत ने कहा है कि केंद्र की राजग सरकार से नाराज दलित समुदाय के लोग देश के अगले प्रधानमंत्री के चयन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे और इस पद के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का समर्थन करेंगे।राउत ने कहा कि एक बेहतर भविष्य के लिए दलित युवा अपने समुदाय का प्रतिनिधित्व कर रहे लोगों सहित अन्य गैर भाजपा/राजग नेताओं की तुलना में राहुल की ओर आकर्षित होंगे। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए होगा कि अन्य नेताओं की अपेक्षा राहुल गांधी के प्रधानमंत्री बनने की संभावना मजबूत है। महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रह चुके राउत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस दावे को खारिज कर दिया, जिसमें उन्होंने कहा था कि उनकी सरकार ने दलितों के मसीहा डॉ भीम राव अंबेडकर को जितना सम्मान दिया है उतना किसी अन्य सरकार ने नही दिया। उन्होंने मोदी और भाजपा पर अरोप लगाते हुए कहा कि इस तरह के बयान दलित समुदाय के वोटों पर नजर रखते हुए जारी किए जाते हैं।राउत ने पीटीआई भाषा से कहा कि दलित , विशेषकर युवा वर्ग राजग सरकार से नाराज है। उन्हें शिक्षा और रोजगार के अ

बाबा रामदेव कुंवारापन को मानते है ये कामयाबी

पणजी। योग गुरू रामदेव ने कहा है कि उनकी सफलता और आनंदपूर्ण जीवन की एक वजह उनका कुंवारा होना है। 52 वर्षीय योग गुरू गोवा महोत्सव, 2018 को संबोधित कर रहे थे। तीन दिवसीय इस महोत्सव की शुरुआत पणजी के निकट हुई। आचार्य बालकृष्ण के साथ मिलकर पतंजलि समूह की स्थापना करने वाले रामदेव ने कहा कि कंपनी का पंजीकरण गैर लाभकारी धर्माथ ट्रस्ट के रूप में हुई थी क्योंकि इसका लक्ष्य धन कमाना नहीं है। उन्होंने कहा, लोग अपने परिवार के लिए काम करते हैं। न बीवी न बच्चे, फिर भी कितने अच्छे। शादी आसान बात नहीं है। कई लोग अभी शादी करेंगे और कई कर चुके हैं। अगर आपके पास बच्चे हैं तो आपको जिदगी भर उन्हें बर्दाश्त करना पड़ता है। रामदेव ने कहा, आपको खुश रहने के लिए पत्नी और बच्चे की जरूरत नहीं पड़ती है। मैं हमेशा मुस्कुराता रहता हूं। उन्होंने कहा कि उनकी इच्छा कभी भी राजनीतिक पद संभालने की नहीं रही।

विद्यार्थियों की प्रतिभा को लेकर कटारिया ने कही ये बड़ी बात!

जयपुर। गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि देश एवं प्रदेश की उन्नति के लिए बेहतरीन शैक्षिक स्तर की जरूरत है, उन्होंने शिक्षक वर्ग का आह्वान किया है कि वे संकल्पबद्ध होकर विद्यार्थी प्रतिभा को तराशने का कार्य करें। गुलाबचंद कटारिया बुधवार को उदयपुर के रेजीडेंसी बालिका सीनियर सैकण्डरी विद्यालय में ‘सुपर क्लासेज’ संचालन में सहयोग देने वाले शिक्षकों एवं अब तक कोई छात्रवृत्ति न लेने वाली विद्यार्थी प्रतिभाओं के सम्मान समारोह को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार के कारगर प्रयासों से राजस्थान शैक्षिक दृष्टि से पिछड़े राज्यों की श्रेणी से ऊपर उठा है। बालिका प्रोत्साहन एवं विद्यार्थी कल्याण की योजनाओं से सरकारी विद्यालयों में शैक्षिक स्तर से बड़ा परिवर्तन आया है। उन्होंने विद्यार्थी वर्ग का आह्वान किया कि वे अपने बौद्धिक स्तर को पहचानें और श्रेष्ठ बनकर समाज व राष्ट्रसेवा में योगदान दें। उन्होंने सुंदर सिंह भण्डारी चेरिटेबल ट्रस्ट की ओर से राजकीय विद्यालयों में संचालित सुपर-20 क्लासेज में नि:स्वार्थ अध्यापन कराने वाले शिक्षकों के सेवा कार्यों की मुक्तकंठ से सराहना की। क

राजस्थान में राज्यसभा कांग्रेस मुक्त, प्रदेश से तीनो नवनिर्वाचित सदस्यों ने ली शपथ

जयपुर। कल राजस्थान से राज्यसभा के लिए नवनिर्वाचित तीनो सदस्यों ने उपराष्ट्रपति एवं सभापति एम. वैंकेया नायडू ने राज्यसभा सांसद की शपथ दिलाई है। राज्यसभा की सुबह 11 बजे से कार्यवाही शुरू होते ही शपथ का प्रक्रिया शुरु कर दी गई। प्रदेश से नवनिर्वाचित सांसद डा. किरोड़ीलाल मीणा एवं मदन लाल सैनी ने पहली बार राज्यसभा के सांसद के रूप में शपथ ली है। वहीं भूपेंद्र यादव को लगातार दूसरी बार राज्यसभा सांसद के रूप में शपथ दिलाई गई है। इस सभी का कार्यकाल अप्रेल 2024 तक रहेगा।   इन तीनो सांसदो के शपथ लेते ही राज्यसभा की सभी दस शीटो पर भाजपा का कब्जा हो गया है। प्रदेश से अब कांग्रेस का एक भी सदस्य राज्यसभा में नही है। तीनो सांसदो का कार्यकाल पूरा होने के बाद यहा पुननिर्वाच हुआ था। राज्यसभा सांसद बनने से पहले किरोड़ी लाल मीणा के भाजपा से मतभेद चल रहे थे। लेकिन भाजपा में वापसी करने के साथ ही उन्हे राज्यसभा का टिकट दे दिया गया। किरोड़ी करीब दस वर्ष तक भाजपा से दूर रहे है। लेकिन राज्य में आगे आने वाले विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए बीजेपी ने यह कार्ड खेला है। अब ऐसा माना जा रहा है कि पूर्वी राजस्थान

PM मोदी ने बाबा साहेब के लिए कही ये बात-

नई दिल्ली। एक तरफ जहां पूरे देश में एससी/एसटी ने सोमवार को भारत बंद का एलान किया था और पूरे देश में बंद का असर देखा गया था। आखिरकार इस मामले को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी बयान देना पड़ा है। पीएम मोदी ने बुधवार को बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की विरासत का राजनीतिकरण करने के लिए राजनीतिक दलों पर निशाना साधा।उन्होंने इस दौरान कहा कि उनकी सरकार ने बाबा साहब का सम्मान बढ़ाने का जितना कार्य किया, उतना किसी दूसरी सरकार ने नहीं किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बुधवार को नई दिल्ली वेस्टर्न कोर्ट एनेक्सी की नई इमारत के उद्घाटन कार्यक्रम में यह बात कही।   उन्होंने इस दौरान यह भी कहा कि आंबेडकर को राजनीति में नहीं घसीटना चाहिए बल्कि उनके दिखाए हुए रास्ते पर चलना चाहिए। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि अंबेडकर के नाम पर केवल राजनीति की गई। उन्होंने कहा कि अलीपुर रोड स्थित जिस मकान में बाबा साहब ने अंतिम सांस ली, उसे अंबेडकर जयंती की पूर्व संध्या पर राष्ट्र को सर्मिपत किया जाएगा। पीएम मोदी कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि अटल सरकार के समय आंबेडकर से जुड़े दो भवनों के निर्माण की योजना बनाई गई।

SC/ST एक्ट: केंद्र सरकार ने दायर की पुनर्विचार याचिका

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति (एससी/एसटी) अत्याचार निवारण अधिनियम से संबंधित सुप्रीम कोर्ट के हालिया आदेश की समीक्षा के लिए आज पुनर्विचार याचिका दायर की। सामाजिक न्याय एवं आधिकारिता मंत्रालय के माध्यम से सरकार ने इस मामले में याचिका दायर करके शीर्ष अदालत से अपने गत 20 मार्च के आदेश पर फिर से विचार करने का अनुरोध किया है। सरकार का मानना है कि एससी और एसटी के खिलाफ कथित अत्याचार के मामलों में स्वत: गिरफ्तारी और मुकदमे के पंजीकरण पर प्रतिबंध के शीर्ष कोर्ट के आदेश से 1989 का यह कानून ‘दंतविहीन’ हो जाएगा। मंत्रालय की यह भी दलील है कि सर्वोच्च न्यायालय के हालिया आदेश से लोगों में संबंधित कानून का भय कम होगा और एससी/एसटी समुदाय के व्यक्तियों के खिलाफ हिंसा की घटनाओं में बढ़ोतरी होगी। सुप्रीम कोर्ट ने एक महत्वपूर्ण फैसले में व्यवस्था दी है कि एससी/एसटी अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 के तहत दर्ज मामलों में बगैर उच्चाधिकारी की अनुमति के अधिकारियों की गिरफ्तारी नहीं होगी। न्यायालय ने यह भी स्पष्ट किया कि गिरफ्तारी से पहले आरोपों की प्रारम्भिक जांच जरूरी है।इतना ही नहीं,

SC/ST एक्ट में संशोधन के खिलाफ जयपुर में प्रदर्शन

जयपुर। राजस्थान में एससी/एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ मीन सेना, युवा जाट महासभा, भीम आर्मी और भीम सेना आदि कई संगठन भारत बंद के आह्वान पर सडक़ों पर उतर आएं है। एससी/एसटी एक्ट पर उच्चतम न्यायालय के ताजा फैसले के बाद दलित संगठनों के भारत बंद के आह्वान पर सोमवार को राजस्थाान में भी प्रदर्शन और रैलियां निकाली जा रही हैं। इस दौरान कई स्थानों पर तोडफ़ोड़ और संघर्ष की खबरें भी मिल रही हैं।राजस्थान राजधानी जयपुर के महेश नगर थाना इलाके में दुकानों में तोडफ़ोड़ के बाद पत्थर फेंके जाने की घटना सामने आई है। इसे लेकर व्यापारियों में खासा रोष है। वहीं पुलिस भी मौके पर पहुंच चुकी है लेकिन भीड़ के आगे बेबस नजर आ रही है। भारत बंद के आह्वान पर कालाडेरा में दुकान बंद कराने को लेकर विवाद हो गया। यहां दुकान बंद कराने गए लोगों का व्यापारियों ने विरोध किया तो भीड़ तोडफ़ोड़ पर उतारु हो गई। इस दौरान दो दुकानों में तोडफ़ोड़ के बाद तनाव पैदा हो गया दलित वर्ग उतरे सडक़ों पर जयपुर, भरतपुर, अजमेर, धौलपुर, सवाईमाधोपुर, करौली सहित राज्य में बसपा और अन्य राजनीतिक व सामाजिक संगठनों के साथ दलित ने बंद का आह्वान किया है। दलि

दलितों के मुद्दे पर राज्यसभा में हंगामा, सदन स्थगित

नई दिल्ली। कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी ने आज राज्यसभा में दलितों पर अत्याचार का मुद्दा उठाते हुए जमकर हंगामा किया जिसके कारण आज भी सदन की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित कर दी गयी और इस तरह बजट सत्र के दूसरे चरण में कामकाज पूरी तरह ठप रहा।चार दिन के अवकाश के बाद जब आज सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो कांग्रेस सपा और बसपा के सदस्य नारे लगते हुए सभापति के आसन के पास पहुँच गए और वे हंगामा करने लगे। वे'दलितों पर अत्याचार बंद करो’तथा'मोदी सरकार- दलित विरोधी सरकार’के नारे लगा रहे थे। इस बीच रोज की तरह तेलगु देशम और अन्नाद्रमुक के सदस्य आंध्रप्रदेश तथा कावेरी का मुद्दा उठाते हुए आसन के पास आ गए। दोनों तरफ से जमकर नारेबाजी होने लगी। सभापति एम वेंकैया नायडू ने सदस्यों से कहा कि पूरा देश इस घटना को देख रहा है। आप लोगों को हंगामे से कोई फायदा नहीं होगा। आप लोग लोकतंत्र का माखौल उड़ा रहे हैं। मैं सभी मुद्दों पर चर्चा करने के लिए सहमत हूँ। इस बीच शोर शराबे में सम्बद्ध मंत्री पटल पर अपने दस्तावेज पेश करते रहे। उसके बाद संसदीय कार्य राज्य मंत्री विजय गोयल ने कहा कि जब सरकार हर म

सीबीएसई के बोर्ड पेपर लीक मामला : छात्रों, कांग्रेस ने कई जगहों पर किए प्रदर्शन

नई दिल्ली। छात्रों और कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने सीबीएसई के बोर्ड के पेपर्स लीक होने के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी के कई हिस्सों में शुक्रवार को प्रदर्शन किए। उन्होंने बोर्ड पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया और दोषियों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई की मांग की। कुछ छात्र पार्लियामेंट स्ट्रीट पर एकत्रित हुए और कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई के सदस्यों ने केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के आवास की ओर मार्च करना शुरू कर दिया, लेकिन उन्हें रोक दिया गया। छात्र समूहों और दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी ( डीपीसीसी) ने पूर्वी दिल्ली के प्रीत विहार में सीबीएसई मुख्यालय के बाहर भी प्रदर्शन किया और स्वतंत्र जांच समेत कई मांगें उठाई। एनएसयूआई नेता नीरज मिश्रा ने कहा कि इन पेपर्स लीक से मोदी सरकार की आंखों के सामने परीक्षा माफिया द्वारा शीर्ष अकादमिक संस्थानों पर कब्जे का खुलासा हो गया है।   उन्होंने कहा कि वे जावडेकर और सीबीएसई अध्यक्ष अनीता करवाल के इस्तीफे की मांग करेंगे।एनएसयूआई की मांगों की सूची में 10 वीं कक्षा के गणित और 12 वीं कक्षा के अर्थशास्त्र के पेपर जल्द से जल्द कराए ज

राहुल गांधी ने BJP पर साधा निशाना, कहा...

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हाल में सामने आए एक मीडिया स्टिंग के हवाले से बीजेपी पर पलटवार करते हुए बुधवार को आरोप लगाया कि वे विरोधियों को बदनाम करने के लिए झूठ गढऩे और तथ्यों को तोड़ मरोड़ कर पेश करने के बिजनेस में लिप्त है। गांधी ने ट्वीट किया मैं उन लोगों से कभी नफरत नहीं कर सकता जो मेरे खिलाफ झूठी कहानियां गढक़र तथ्यों को तोड़ मरोडक़र पेश करते हैं और घृणा फैलाने का काम करते हैं। कोबरा पोस्ट खुलासे से साफ है कि उनके लिए घृणा फैलाना बिजनेस है और लाभ का धंधा है। मेरे खिलाफ उनके झूठ का जाल बुनने से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। कांग्रेस अध्यक्ष ने इसके साथ ही एक अंग्रेजी दैनिक के ट्वीट को भी लिंक कर पोस्ट किया है जिसमें स्टिंग का हवाला देकर कहा गया है कि 17 मीडिया संस्थान पैसे लेकर सांप्रदायिकता पर आधारित खबरें छापने को तैयार हैं।

किरोड़ीलाल मीणा ने राजस्थान विधानसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफा

जयपुर। राज्यसभा सांसद डाॅक्टर किरोड़ीलाल मीणा ने राजस्थान विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। राज्यसभा सांसद बनने से पहले मीणा लालसाेट से विधायक थे।आपकाे बता दें कि राजस्थान से राज्यसभा की 3 सीटों के लिए भाजपा के तीनों उम्मीदवार (किरोड़ीलाल मीणा, मदनलाल सैनी आैर भूपेन्द्र यादव ) निर्विरोध निर्वाचित घोषित किए गए थे। प्रदेश की जिन तीन राज्यसभा सीटों पर निर्वाचन हुआ है। यह कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी और नरेन्द्र बुडानियां तथा भाजपा के भूपेन्द्र यादव का कार्यकाल पूरा होने से खाली हुई थी।इस चुनाव में भूपेन्द्र यादव फिर काबिज हो गए, जबकि विधायकों की संख्या कम होने के चलते कांग्रेस ने उम्मीदवार ही नहीं उतारे। भाजपा ने संख्याबल के आधार पर यादव, मीणा आैर सैनी को उम्मीदवार बनाया था।   किराेड़ीलाल मीणा राज्यसभा सांसद बनने से एेन पहले अपनी पार्टी राजपा के दाे विधायकाें (गाेलमा देवी, गीता वर्मा ) समेत भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए थे। एक आैर विधायक नवीन पिलानिया ने उनके साथ जाने से मना कर दिया था। कुछ दिन पहले किरोड़ी लाल मीणा के भाजपा में शामिल होने के बाद पहली बार दौसा जिले के दौरे प

उपचुनाव हारने के बाद BJP ने बनाया अपना ये प्‍लान

राजस्थान। इस साल की शुरुआत में राजस्थान में दो लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर उप चुनाव हुए थे। इन उप चुनावों में बीजेपी को तीनों सीटों पर हार का सामना करना पड़ा था। हार की वजह से सीएम वसुंधरा राजे को राजनीतिक विरोधियों के तीर झेलने पड़े थे। तब माना जा रहा था कि राज्य में पार्टी की पकड़ कमजोर हुई है। इससे निपटने के लिए राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने ‘सूरज गौरव यात्रा’ शुरू करने का फैसला किया है। अगले महीने यानी 15 अप्रैल से सीएम इस यात्रा की शुरुआत करेंगी। इस दौरान वो 80 दिनों तक राज्यभर का दौरा करेंगी। यात्रा में उनके साथ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी के अलावा कई नेता होंगे। यात्रा के दौरान सीएम वसुंधरा राजे अपने पांच साल के कार्यकाल में किए गए कामों का लेखा-जोखा भी जनता के बीच रखेंगी और सरकार की कल्याणकारी नीतियों के बारे में भी लोगों को बताएंगी। कहा जा रहा है कि सूरज गौरव यात्रा के दौरान बीजेपी के करीब 30 नेता विभिन्न जिलों में तीन-तीन दिन के प्रवास पर रहेंगे। इन नेताओं में भूपेंद्र यादव, अवनीश राय खन्ना, अशोक परनामी समेत कई विधायकों का नाम शामिल है। इस दौरान पार्टी के

कांग्रेस ने गूगल प्ले स्टोर से हटाया अपना Apps

नई दिल्ली। डाटा लीक होने की रिपोर्टों के बीच कांग्रेस ने अपने आधिकारिक मोबाइल एप विदआइएनसी को आज गूगल प्ले स्टोर से हटा लिया। कांग्रेस ने ट्वीट कर इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि विदआइएनसी एप का इस्तेमाल सिर्फ सोशल मीडिया अपडेट के लिए किया जा रहा था। गलत यूआरएल चलने और इससे लोगों के गुमराह होने की एप को आज सुबह गूगल प्लेस्टोर से हटाना पड़ा। पार्टी ने यह भी कहा कि विदवाआइएनसी एप का इस्तेमाल सिर्फ सदस्यता के लिए किया जा रहा था और करीब पांच माह से यह प्रयोग में नहीं था। पार्टी का कहना है कि 16 नवंबर 2017 को सदस्यता सीधे पार्टी के आधिकारिक वेबसाइट से ली जा रही है और तब से इस एप का प्रयोग नहीं हो रहा था। साइबर सुरक्षा के लिए काम करने वाले फ्रांस के शोधार्थी इलियट एल्डरसन के कांग्रेस के इस एप से सूचनाएं सिंगापुर लीक होने के खुलासा के बाद पार्टी ने एप को गूगल प्लेस्टोर से हटाया है। एंडरसन ने यह भी खुलासा किया था कि नमो एप को डाउनलोड करते ही लोगों की निजी सूचना अमेरिकी कंपनियों को पहुंच रही है। एंडरसन के इस खुलासे के बाद राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला किया जिसका भारतीय जनता

PM मोदी को लेकर कोविंद ने दिया ये बड़ा बयान, कहा...

वाराणसी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र और धार्मिक तथा सांस्कृतिक नगरी वाराणसी के स्मार्टसिटी बनने की दिशा में तेजी से बढऩे पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए सोमवार को कहा कि नरेंद्र मोदी ने इंडिया को विश्व पटल पर प्रभावशाली तरीके से स्थापित किया।कोविंद ने सोमवार को यहां पंडित दीन दयाल हस्तकला संकुल में आयोजित एक भव्य समारोह में 170 किलोमीटर लंबी और 3,473 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत वाली सडक़ परियोजनाओं का शिलान्यास और उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन की ओर से प्रशिक्षित युवाओं को नियुक्ति प्रमाण पत्र सौंपने के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे।   उन्होंने कहा कि ज्ञान एवं अध्यात्म की धरती से सांसद बनने के बाद प्रधानमंत्री के रुप में मोदी ने वाराणसी सहित संपूर्ण भारत की प्रतिष्ठा विश्व में और बढ़ाने कामयाबी हासिल की है। यही वजह है कि जापान, जर्मनी एवं फ्रांस के राष्ट्राध्यक्ष वाराणसी की धार्मिक एवं अध्यात्मिक ताकत को देखने यहां आए थे।कोविंद ने वाराणसी को पूर्वी भारत का प्रवेश द्वार बताते हुए कहा कि यहां तेजी से हो रहे सडक़ एवं जल मार्ग के कार्यों से देश की प्रगति की रफ्ता

चुनाव से पहले राजस्थान में BJP ने चला मास्टरस्ट्रोक -

जयपुर। राजस्थान में विधानसभा चुनाव से पहले होने वाले टिकट वितरण के लिए सत्तारुढ़ भाजपा ने फिर से सत्ता में वापसी करने की कोशिश कर दी है। आपको बता दें कि इस साल दिसंबर में राज्य में नई सरकार शपथ लेगी। इससे पहले राज्य में होने वाले चुनाव में टिकट वितरण के लिए भाजपा ने तैयारी शुरु कर दी है। जिलों में पार्टी और मौजूदा विधायकों की स्थिति जांचना शुरू कर दी है। इसके लिए हर जिलें में बीजेपी नेताओं के तीन दिन के प्रवास भी हो रहे है। इस प्रवास के दौरान भाजपा ने अपने आला नेताओं को विभिन्न जिलों में भेजा है। जहां वे अपने विधायकों की स्थिति का आंकलन करने के साथ-साथ अपनी पार्टी के लिए जिताउ प्रत्याशियों की संभावनाओं की तलाश शुरु करेंगें। अपने प्रवास के दौरान पार्टी के नेता देखेंगे कि आने वाले चुनवा के लिए विभिन्न विधानसभा क्षेत्र से जिताऊ प्रत्याशी कौन होगा। आपको बता दें आला नेताओं की ये रिपोर्ट प्रदेश नेत्तृव के साथ राज्य की मुख्यमंत्री के साथ-साथ आलाकमान को भी भेजी जाएगी। जानकारी के अनुसार पार्टी ने मंत्रियों को उनके जिले न भेजकर दूसरे जिलों में भेजा है। पार्टी का मानना है कि अगर कहीं खामी पाई जा

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने जनता को दिया यह तोहफा

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने प्रदेशभर के कार्मिकों को जनता की सेवा के लिए ‘थिंक बिग, वर्क बिग एंड हैल्प बिग’ का मूलमंत्र दिया। उन्होंने कहा कि हम किसी भी पद पर पहुंच जाएं, लेकिन कभी अहंकार नहीं करना चाहिए क्योंकि सफलता का पहला सूत्र सबका सम्मान है। राज्य सरकार ने भी इसी सोच के साथ कार्य करते हुए हर वर्ग के समग्र विकास का प्रयास किया है। सीएम राजे गुरुवार को सचिवालय परिसर में आयोजित राज्य सचिवालय कर्मचारी संघ के शपथ ग्रहण समारोह को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के कर्मचारियों को जनता की सेवा का विशेष अवसर मिला है। इसलिए वे पूरी निष्ठा और सद्भाव के साथ काम करते हुए आमजन की तकलीफों को दूर करने की हर सम्भव कोशिश करें। उन्होंने कहा कि सचिवालय में प्रदेश के किसी भी कोने से कोई व्यक्ति अपनी समस्या लेकर आए तो वह यहां से चेहरे पर मुस्कान लेकर जाए। 2.5 लाख करोड़ के कर्ज के बावजूद सातवां वेतनमान लागू किया: मुख्यमंत्री राजे ने इस अवसर पर कहा कि जब हमने पिछली बार सत्ता में आने के बाद प्रदेश सम्भाला तो कई मुसीबतें सामने खड़ी थीं, लेकिन जब हम दुबारा सत्ता मे आए तो स्थिति और ज्या

लगातार 13 वें दिन नहीं चल सका प्रश्नकाल

नई दिल्ली। तेलंगाना में आरक्षण से जुड़े मुद्दे पर तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के और कावेरी जल प्रबंधन बोर्ड के गठन की मांग को लेकर अन्नाद्रमुक के भारी हंगामे की वजह से बुधवार को लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। बजट सत्र के दूसरे चरण में गत दो सप्ताह की कार्यवाही हंगामे की वजह से बाधित रहने के बाद तीसरे सप्ताह में भी कोई कामकाज नहीं हो पा रहा है और बुधवार को लगातार 13 वें दिन भी प्रश्नकाल हंगामे की भेंट चढ़ गया। लोकसभा की कार्यवाही बुधवार सुबह जैसे ही आरंभ हुई तो अन्नाद्रमुक और टीआरएस के सदस्य नारेबाजी करते हुए अध्यक्ष के आसन के निकट पहुंच गए। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने प्रश्नकाल चलाने का प्रयास किया लेकिन हंगामा थमता नहीं देख उन्होंने सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी। अन्नाद्रमुक और टीआरएस के सदस्य ‘वी वांट जस्टिस’ के नारे लगा रहे थे। टीआरएस के सदस्यों ने ‘एक राष्ट्र, एक नीति’ की मांग वाली तख्तियां ले रखी थीं। बजट सत्र के दूसरे चरण में पांच मार्च को आरंभ होने के बाद से लोकसभा की कार्यवाही पीएनबी धोखाधड़ी मामले, आंध्र प्रदेश

राजस्थान: डॉक्टरों की हड़ताल खत्म, इन मांगो पर बनी सहमति

जयपुर। राज्य में पिछले कई दिनों से चल रही सेवारत डॉक्टरों की हड़ताल बुधवार को समाप्त हो गई। हडताली डॉक्टरों और राज्य सरकार की बीच 9 घंटे की वार्ता के बाद सेवारत चिकित्सकों की सभी मांगो को मानने के बाद चौधरी का सीकर ट्रांसफर कर दिया गया। आपको बता दें कि मंगलावर को राज्य सरकार और सेवारत डॉक्टरों के बीच देर रात वार्ता किसी भी नतीजे पर नहीं पहुंची। इसके बाद बुधवार फिर वार्ता का दौर शुरु हुआ और देर शाम सेवारत डॉक्टरों की सभी मांगो को मान लिया गया। वार्ता के बाद भाजपा अध्यक्ष ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि चिकित्सकों पर दर्ज सभी मामलों को वापस लिया जाएगा।