Skip to main content

Posts

Showing posts with the label Rajasthan Legislative Assembly

राजस्थान गोवंशीय पशु (संशोधन) विधेयक, 2018 पारित

जयपुर। राज्य विधानसभा ने शुक्रवार को राजस्थान गोवंशीय पशु (वध का प्रतिषेध और अस्थायी प्रव्रजन या निर्यात का विनियमन) (संशोधन) विधेयक, 2018 ध्वनिमत से पारित कर दिया गया। इससे पहले पशु पालन मंत्री प्रभु लाल सैनी ने विधेयक को सदन में प्रस्तुत किया। उन्होंने विधेयक को सदन में लाने के कारणों एवं उद्देश्यों के बारे में बताते हुए कहा कि राजस्थान गोवंशीय पशु (वध का प्रतिषेध और अस्थायी प्रव्रजन या निर्यात का विनियमन) अधिनियम 1995 के उपबंधों को प्रभावी बनाने में यह विधेयक मददगार साबित होगा। उन्होंने स्पष्ट किया कि सरकार का उद्देश्य पशुपालकों को बिना परेशान किए गोतस्करों सहित इस तरह के अपराध में संलग्न लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करना है। उन्होंने बताया कि सरकार गौवंश के सरक्षण एवं सर्वद्धन के लिए कटिबद्ध है। सरकार द्वारा गोशालाओं को दिए जाने वाले अनुदान की अवधि को बढ़ाने के साथ गोवंश की टैगिंग करने का काम शुरू कर दिया गया है। उन्होंने सदन से आग्रह किया कि गोवंश के संरक्षण एवं सर्वद्धन के लिए जनप्रतिनिधि और आमजन भी सहयोग करें। उन्होंने बताया कि प्रदेश में झुंझुनूं जिले से सेक्स सीमन तकनीक की शु

कांग्रेस विधायकों ने किया राजस्थान विधानसभा से बहिर्गमन

जयपुर। कांग्रेस विधायकों ने राजस्थान विधानसभा से सोमवार को बहिर्गमन किया और आरोप लगाया कि राज्य सरकार उन किसानों की परेशानियों को नजरअंदाज कर रही है जिनकी फसल बारिश और ओलावृष्टि से क्षतिग्रस्त हो गई है। कांग्रेस के मुख्य सचेतक गोविंद सिंह डोटासरा ने सोमवार को शून्यकाल में इस मुद्दे को उठाते हुए कहा कि सरकार को किसानों की कोई चिंता नहीं है।   अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने कांग्रेस विधायकों से कहा कि वे सदन की कार्यवाही चलने दीजिए, लेकिन वे हंगामा करते रहे और सदन के बीचोबीच आ गए। सत्तारूढ़ पार्टी और विपक्ष के सदस्यों ने एक दूसरे पर आरोप लगाए। इसके बाद कांग्रेस सदस्यों ने सदन से बहिर्गमन किया।   गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया ने आरोप लगाया कि कांग्रेस मुद्दे पर सुर्खियों हासिल करने का प्रयास कर रही है। कटारिया ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने बिना किसी विलंब के फसलों को हुए नुकसान का अनुमान लगाने के लिए एक रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दिए है। राज्य सरकार ने इस मामले में तत्काल कदम उठाए थे। उन्होंने कहा कि यदि कांग्रेस इस मुद्दे पर गंभीर है तो, उसे स्थगन प्रस्ताव के जरिए सदन में इस मुद्दे को उठ

पेयजल योजनाओं में राजनैतिक भेदभाव के आरोप निराधार : सुरेन्द्र गोयल

जयपुर। राजस्थान विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता रामेश्वर डूडी ने नोखा पेयजल योजना को निरस्त करने में राजनीतिक भेदभाव बरतने का आरोप लगाते हुये राज्य सरकार को जमकर घेरा। विधानसभा के प्रश्नकाल में कांग्रेस विधायक भंवर सिंह के बीकानेर जिले के गांवों को इंदिरा गांधी नहर से पेयजल की आपूर्ति किये जाने के सवाल पर पूरक प्रश्न करते हुये डूडी ने कहा कि राज्य सरकार ने राजनैतिक द्वेषता के कारण पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा स्वीकृत जलप्रदाय योजनाओं को निरस्त कर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार को निरस्त की गयी इस योजना के कारणों के साथ ही पेयजल संकट से जूझ रही क्षेत्र की जनता के लिये वैकल्पिक व्यवस्था की भी जानकारी देनी चाहिये। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री सुरेन्द्र गोयल ने पेयजल योजनाओं में राजनैतिक भेदभाव करने के आरोपों को निराधार बताते हुये कहा कि 99 करोड़ रुपए की नोखा पेयजल योजना को पूर्ववर्ती सरकार के समय लाया गया था।   इस कार्य के लिए निविदा दर 391.3 करोड़ रुपए आई, जो कि कार्य की राशि से 21.14 फीसदी अधिक थी। उन्होंने कहा कि नेगोसिएशन के बाद भी कार्य के लिए 9 प्रतिशत अधिक निविदा दर आई। उन्हों

कांग्रेस की तकलीफों का निवारण नहीं : भाजपा

जयपुर। राजस्थान विधानसभा में सत्ता पक्ष ने किसानों के फसल रिणमाफी को लेकर कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि किसानों की समस्याओं का समाधान उनके पास है, लेकिन कांग्रेस की तकलीफ का नहीं है। उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने संवादाताओं से कहा कि भाजपा सरकार पांच वर्षो के कार्यकाल के अंत तक प्रदेश के किसानों को ब्याज मुक्त रिण, रिणमाफी, अनुदान के रूप में 1.35 लाख करोड़ रूपये की सहायता दे देगी। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षो में सरकार ने संसाधनों को किसानों के कल्याण के लिये लगाया है। उन्होंने कहा कि पांच वर्षो में 1.35 लाख करोड़ से ज्यादा संसाधनों को किसानों के कल्याण के लिये लगा दिया जायेगा। बजट में 8 हजार करोड़ रूपये की रिणमाफी की घोषणा इसका हिस्सा है। उन्होंने कहा कि हम पांच वर्ष के कार्यकाल के अंत तक 80 हजार करोड़ रूपये ब्याज मुक्त रिण उपलब्ध करायेंगे, जबकि पूर्ववर्ती कांग्रेस ने पूरे पांच वर्षो में 25 हजार करोड़ के रिण उपलब्ध कराये। भाजपा सरकार हर वर्ष किसानों की भलाई के लिये काम कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों की समस्याओं का निवारण तो हमारे पास है, लेकिन कांग्रेस की तकलीफों का