Skip to main content

Posts

Showing posts with the label Gulab Chand Kataria

वसुन्धरा राजे ने विधायकों के लिए इसे बताया सबसे अच्छी पाठशाला

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि विधायकों के लिए विधानसभा ही सबसे अच्छी पाठशाला है जहां हम विधायी कार्यों से लेकर सभी तरह के नियम और प्रक्रियाओं को सीखते हैं। उन्होंने कहा कि जनता एक विधायक को अपने प्रतिनिधि के रूप में चुनकर भेजती है, ऐसे में विधायकों को जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरना चाहिए। राजे ने मंगलवार को विधानसभा में सर्वश्रेष्ठ विधायक सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार इन विधायकों ने संसदीय परम्पराओं का निर्वहन किया है, वह सभी के लिए प्रेरणादाई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष सदन में लोकतंत्र के दो पहिए होते हैं। इसलिए सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष के साथी विधायकों के साथ हमारा व्यवहार समान रूप से सरल और मृदु होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पक्ष-प्रतिपक्ष की भावना से ऊपर उठकर ही सदन के विभिन्न सदस्यों को सर्वश्रेष्ठ विधायक के रूप में चयन किया गया है। समारोह में शांतिलाल चपलोत को वर्ष 2003-04 के लिए, भरत सिंह को 2007, राजेन्द्र राठौड़ को 2009, गुलाबचंद कटारिया को 2010, अमराराम को 2011, सूर्यकंाता व्यास को 2012, राव राजेन्द्र सिंह क

पद्मावत को लेकर गृहमंत्री कटारिया ने दिया ये बड़ा बयान, कहा...

जयपुर। राजस्थान के गृहमंत्री गुलाब चंद कटारिया ने कहा है कि फिल्म पद्मावत पर उच्चतम न्यायालय के फैसले का अध्ययन करने और विधि विशेषज्ञों से विचार विमर्श के बाद ही राज्य सरकार कोई कदम उठाएगी। गृहमंत्री ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि सरकार शीर्ष न्यायालय के निर्णय का सम्मान करती है। निर्णय की प्रति मिलने के बाद सरकार उसका अध्ययन करेगी और विधि-विशेषज्ञों से विचार-विमर्श के बाद कदम उठाना होगा तो उठाएंगे। यदि विधि विशेषज्ञ आगे बढऩे की राय देंगे तो आगे बढ़ेंगे। फैसले पर उनकी व्यक्तिगत राय पूछने पर उन्होंने कहा कि जब तक फैसले का बारीकी से अध्ययन नहीं कर लेते और विधि विशेषज्ञों से विचार-विमर्श नहीं कर लेते, तब तक मैं कुछ नहीं कहना चाहता। गौरतलब है कि शीर्ष न्यायालय ने राजस्थान सहित सभी राज्यों में फिल्म को रिलीज करने को हरी झंडी दे दी है। राज्य सरकार ने इससे पहले फिल्म पद्मावत की रिलीज पर रोक लगा दी थी।