Skip to main content

Posts

Showing posts with the label Former chief minister

CBIपेपर लीक प्रकरण: मुथाई खेल के सभी खिलाडीयो ने अशोक गहलोत से की मुलाकत

जयपुर । जहां एक ओर सीबीएसई का पेपर लीक प्रकरण चल रहा हैं वही दूसरी तरफ राज्‍य में चल रही महिला सुरक्षा की मुहिम ने आमजन को खासा प्रभावित किया हैं। इसी मुहिम के चलते महिला और बालिकाओं को आत्‍मसुरक्षा के प्रति जागरूक करने के इरादे से श्रीराम माशर्ल आर्ट स्‍कूल ने एक कदम ओर आगे बढा दिया हैं। आज श्रीराम मार्शल आर्ट स्‍कूल के ताइक्‍वांडो और मुथाई खेल के सभी खिलाडीयो ने राजस्‍थान के पूर्व मुख्‍यमंत्री और आल इंडिया कॉग्रेस कमेटी के महासचिव अशोक गहलोत से उनके सिविल लाइंस स्थित आवास पर मुलाकत की। इस मौके पर श्रीराम स्‍कूल के द्वारा श्रीराम सेल्‍फ डिफैंस क्‍लब के पोस्‍टर का विमोचन किया गया। मुलाकात के दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत से मिलकर सभी खिलाडी अपने आप को उत्‍साहित महसूस कर रहें थे। पूर्व मुख्‍यमंत्री ने सेल्‍फ डिफेंस के इन प्रतिभावन खिलाडीयों से मुलाकात कर इन्‍हे अपने हाथो से माला पहनाकर सम्‍मानित भी किया। श्रीराम मार्शल आर्ट स्‍कूल के इन खिलाडीया से मिलने के साथ-साथ पूर्व मुख्‍यमंत्री ने स्‍कूल का वार्षिक कैलेंडर भी लांच किया। स्‍कूल के इन खिलाडीयो से पूर्वमुख्‍यमंत्री ने आत्‍मसुर

प्रदेश में बढ़ती अपराध की घटनाओं लगाये अंकुश : गहलोत

उदयपुर। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि प्रदेश में बढ़ती अपराध की घटनाओं पर राज्य सरकार को अंकुश लगाने का प्रयास करना चाहिए। एक दिवसीय दौरे पर उदयपुर आए गहलोत ने आज यहां मीडिया से कहा कि राज्य में बढ़ते अपराध के ग्राफ की हद पार हो चुकी हैं। राज्य में आये दिन बलात्कार, डकैती, चोरी जैसी घटनाओं में बढोत्तरी हो रही हैं। उन्होंने कहा कि सुना है गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के पास कोई अधिकार नहीं हैं। उनके पास कोई अधिकार नहीं हैं तो उनको अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिये। उन्होंने कहा कि राज्य में बढ़ती अपराध की घटनाओं से माहौल खराब हो रहा हैं। उदयपुर में वाल्मिकी समाज के लोगों द्वारा नगर निगम में भर्ती संबंध में दिये जा रहे धरने पर उन्होंने कहा कि यह भारतीय जनता पार्टी सरकार की लापरवाही का नमूना हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के चार वर्ष पूरे हो चुके है। पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार द्वारा उदयपुर नगर निगम में सफाईकर्मियों की भर्ती की स्वीकृति की जा चुकी थी और इतना समय बीतने के बाद भी किन कारणों से भर्ती नहीं की जा रही हैं।

रिफाईनरी में 26 प्रतिशत ही भागीदारी क्यों: गहलोत

जयपुर। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कोंग्रस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत ने सवाल किया कि प्रदेश की तकदीर और तस्वीर बदलने वाली महत्वाकंक्षी रिफाईनरी परियोजना को मुख्यमंत्री वसुंधरा ने चार साल तक क्यों लटकाए रखा।गहलोत ने एक बयान में कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे इस परियोजना में राज्य की हिस्सेदारी (26 प्रतिशत) को लेकर बार-बार हल्ला कर प्रदेशवासियों को भ्रमित करती रही कि जमीन हमारी, तेल हमारा और पानी भी हमारा, फिर भी 26 प्रतिशत हिस्सेदारी ही क्यों? अब मैं उनसे यही सवाल कर रहा हूं कि नये सहमति ज्ञापन. में भी रिफाइनरी में हिस्सेदारी का प्रतिशत 26 प्रतिशत से ज्यादा क्यों नहीं बढ़ाया? पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि रिफाईनरी में चार साल की देरी के परिणामस्वरूप राजस्थान के हजारों युवाओं को रोजगार से वंचित होना पड़ा तथा राजस्थान सरकार को राजस्व के रूप में भारी हानि हुई और साथ ही पेट्रो केमिकल कॉम्पलेक्स से जुड़े हजारों सहयोगी लघु उद्योग तथा रोजगार सृजन में भी देरी हुई। इस नुकसान का जिम्मेदार कौन है?उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता और प्रदेश के नौजवानों के साथ धोखा हमने नहीं बल्कि रिफाइनरी

पूर्व PM लाल बहादुर शास्त्री को अशोक गहलोत ने 52वीं पुण्यतिथि पर दी पुष्पांजलि

जयपुर। हमारे देश में बहुत ही कम लोग ऐसे हैं जिनकी जिंदगी संघर्षों से शुरू हुई, लेकिन ये उनकी राह में रोड़ा नहीं बनी। इन लोगों ने अपने संघर्ष को ही अपनी ताकत बनाया और देश के बड़े पदों पर आसीन हुए। यहां हम बात कर रहे हैं देश के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की। लाल बहादुर शास्त्री एक सीधी, सरल, सच्ची और निर्मल छवि वाले इंसान थे। उनकी ईमानदारी और खुद्दारी की लोग आज भी मिसाल देते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की गुरुवार को 52वीं पुण्यतिथि है। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की पुण्यतिथि पर गुरुवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय, इन्दिरा गांधी भवन, जयपुर पर पुष्पांजलि कार्यक्रम हुआ। इस अवसर पर एआईसीसी महासचिव व पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, एआईसीसी सचिव प्रणव झा, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष गोपाल सिंह शेखावत, उपाध्यक्ष मुमताज मसीह, डॉ. अर्चना शर्मा, राजीव अरोड़ा, डॉ. खानू खां बुधवाली, खिलाड़ीलाल बैरवा, महासचिव गिरिराज गर्ग, महेश शर्मा, रूपेशकांत व्यास, प्रवक्ता सुरेश चौधरी, प्रतापसिंह खाचरियावास, सचिव राजेश चौधरी, प्रशान्त बैरवा, आर.सी. चौधरी, मंजू

राज्य सरकार की लापरवाही के कारण प्रदेश के करीब 25 लाख से ज्यादा लोग बेरोजगार: गहलोत

जयपुर। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आरोप लगाते हुए कहा है कि राज्य सरकार की लापरवाही के कारण बजरी खनन से जुड़े लाखों मजदूर बेरोजगार हो गये और राज्य का विकास भी ठप हो रहा हैं। गहलोत ने आज अपने एक बयान में कहा कि उच्चत्तम न्यायालय ने बजरी माफियाओं के साथ सरकार की मिलीभगत को लेकर तीखी टिप्पणी करते हुए दो महीनो पूर्व रोक लगाई थी और सरकार से जवाब मांगा था। दो दिन पूर्व सरकार द्वारा प्रस्तुत जवाब पर न्यायालय ने फिर से अपनी नाराजगी दिखाते हुए रोक को डेढ़ माह के लिए और बढ़ा दिया है।   उन्होंने कहा कि सरकार की इस लापरवाही के कारण प्रदेश के करीब पच्चीस लाख से ज्यादा लोग बेरोजगार हो गये हैं जिनमें बजरी खनन में लगे मजदूर, बजरी ट्रक ड्राईवर, उनके मालिक, निर्माण मजदूर एवं कारीगर आदि शामिल हैं। इसके चलते लोगों के भवन निर्माण कार्य रुक गये हैं वहीं राजधानी जयपुर सहित प्रदेश में सरकार के सभी छोटे बड़े प्रोजेक्ट भी अटक गये हैं। उन्होंने कहा कि इसको लेकर आम जन में आक्रोश भी फैला हुआ है। उन्होंने कहा कि नागौर और बीकानेर में खनन जारी हैं लेकिन इन क्षेत्रों से प्रदेश भर की मांग को पूरा करना