Skip to main content

Posts

Showing posts with the label Chief Minister Vasundhara Raje

अपने विकास कार्यों को लेकर वसुंधरा ने साधा कांग्रेस पर निशाना...

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने फालना में जनसंवाद कार्यक्रम के दौरान इलाके के विकास कार्यों को लेकर पिछली सरकार निशाना साधा। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने साढ़े चार साल में पाली जिले के विकास ने करीब 8 हजार करोड़ रुपए की स्वीकृतियां जारी की हैं, जबकि पिछली सरकार के पूरे 5 साल में केवल 2 हजार करोड़ रुपए खर्च हुए। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सोमवार को पाली जिले के फालना स्थित पाश्र्वनाथ उम्मेद पीजी कॉलेज में बाली विधानसभा क्षेत्र के लोगों से जनसंवाद कर रही थीं। इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के प्रयासों से अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को भी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ समय पर मिल रहा है। हमारा पूरा प्रयास है कि वास्तविक रूप से हकदार कोई भी व्यक्ति योजनाओं के लाभ से वंचित नहीं रहे, उन्हें समय पर लाभ मिले। सीएम राजे ने अधिकारियों से कहा कि योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए पात्रता का सत्यापन जरूरी है, लेकिन सत्यापन की प्रक्रिया से उन लोगों तक लाभ पहुंचने में देरी नहीं होनी चाहिए, जो पात्र हैं। लाभार्थियों ने मुख्यमंत्री से कहा कि आपके नेतृत्व में शुरू की गई य

घनश्याम तिवाड़ी ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व पर उठाये सवाल

[contact-form][contact-field label="Name" type="name" required="true" /][contact-field label="Email" type="email" required="true" /][contact-field label="Website" type="url" /][contact-field label="Message" type="textarea" /][/contact-form] जयपुर। भाजपा के वरिष्ठ नेता घनश्याम तिवाड़ी ने आज अपने आवास पर आयोजित पत्रकार वार्ता में कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के नेतृत्व में अगला चुनाव नही लड़े की घोषणा करते हुए कहा कि वर्तमान स्थिति में वो पार्टी से इस्तीफा नहीं देंगे।   राजे के जनविरोधी कार्यकलापों और भ्रष्टाचार को बढावा देने की नीतियों के कारण प्रदेश के कार्यकर्ताओं में आक्रोश की भावना बढ़ती जा रही है। इस संबंध में उन्होंने पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को पत्र लिखकर आगाह भी किया है। तिवाड़ी ने कहा कि इसके बाद भी अगर पार्टी नेतृत्व कार्यवाही नहीं करता तो यह घातक सिद्ध होगा। राज्य में नये राजनीतिक दल के गठन के संबंध में पूछे जाने पर तिवाड़ी ने कहा कि यदि केन्द्रीय नेतृत्व राजे को राजस्थान की

किसानों को राजस्थान सरकार ने दी खुशखबरी

श्रीगंगानगर। मुख्यमंत्री सीएम वसुन्धरा राजे ने कहा कि इंदिरा गांधी नहरी क्षेत्र का किसान वर्षों से अपने हक के पानी के लिए चिंतित रहता था, आज उस किसान की चिंता हमेशा के लिए खत्म होने जा रही है। नहरों के जल वितरण के जो सुधार कार्य 50 साल में नहीं हो रहे थे, वे अब पूरे होने जा रहे है। इसके लिए उन्होंने आज ही हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर से बातचीत की है। इससे हरियाणा में इंदिरा गांधी नहर की री-लाइनिंग के काम में आ रही बाधाएं दूर होंगी और जल्द ही यह काम शुरू होगा। इससे हमारे किसान भाइयों को सिंचाई के लिए अधिक पानी मिलेगा। सीएम राजे गुरुवार को श्रीगंगानगर में 860 करोड़ रुपए के विकास कार्यों के लोकार्पण/ शिलान्यास समारोह के अवसर पर बड़ी संख्या में उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रही थीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी प्रकार ताजेवाला हैड से यमुना का पानी राजस्थान को मिलने पर भी सहमति बन गई है। यह पानी पाइप लाइन के जरिये राजस्थान लाया जाएगा और इससे प्रदेश के चूरू, सीकर और झुंझुनूं जिले में पेयजल की समस्या का स्थाई समाधान होगा।   मुख्यमंत्री ने कहा कि गंगनहर और भाखड़ा नहर का विकास हमारी प्राथ

राजस्थान - होमगार्डों का मानदेय बढ़ा

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे से शुक्रवार को मुख्यमंत्री निवास पर विभिन्न संगठनों से जुड़े लोग मिले और राज्य बजट तथा विभिन्न अवसरों पर की गई कल्याणकारी घोषणाओं के लिए सीएम राजे का आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने उन्हें संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार सभी वर्गों के कल्याण के लिए काम कर रही है। हमने सभी की जरूरतों का ख्याल रखते हुए ऐसे फैसले किए है जिससे लोगों के चेहरे पर मुस्कान आए। इस दौरान उन्होंने प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए होमगार्डों ने अपने मानदेय में की गई ऐतहासिक बढ़ोतरी के लिए मुख्यमंत्री का अभिनन्दन किया। राजस्थान होमगार्ड कर्मचारी संगठन के प्रदेशाध्यक्ष झलकन सिंह राठौड़ के नेतृत्व में आए इन होमगाडर््स ने कहा कि विभाग के गठन के बाद से पहली बार किसी सरकार ने होमगार्डों का इतना मानदेय बढ़ाया है। इससे पूरे प्रदेश के 30 हजार से अधिक होमगाड्र्स तथा उनके परिवारों में खुशी का माहौल है। उन्होंने कहा कि अन्य प्रदेशों की तुलना में भी राजस्थान में होमगार्डों का मानदेय अब बेहतर हो गया है। संगठन की विभिन्न जिला शाखाओं से आए पदाधिकारियों ने भी मालाएं पहनाकर मुख्यमंत्र

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने जनता को दिया यह तोहफा

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने प्रदेशभर के कार्मिकों को जनता की सेवा के लिए ‘थिंक बिग, वर्क बिग एंड हैल्प बिग’ का मूलमंत्र दिया। उन्होंने कहा कि हम किसी भी पद पर पहुंच जाएं, लेकिन कभी अहंकार नहीं करना चाहिए क्योंकि सफलता का पहला सूत्र सबका सम्मान है। राज्य सरकार ने भी इसी सोच के साथ कार्य करते हुए हर वर्ग के समग्र विकास का प्रयास किया है। सीएम राजे गुरुवार को सचिवालय परिसर में आयोजित राज्य सचिवालय कर्मचारी संघ के शपथ ग्रहण समारोह को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के कर्मचारियों को जनता की सेवा का विशेष अवसर मिला है। इसलिए वे पूरी निष्ठा और सद्भाव के साथ काम करते हुए आमजन की तकलीफों को दूर करने की हर सम्भव कोशिश करें। उन्होंने कहा कि सचिवालय में प्रदेश के किसी भी कोने से कोई व्यक्ति अपनी समस्या लेकर आए तो वह यहां से चेहरे पर मुस्कान लेकर जाए। 2.5 लाख करोड़ के कर्ज के बावजूद सातवां वेतनमान लागू किया: मुख्यमंत्री राजे ने इस अवसर पर कहा कि जब हमने पिछली बार सत्ता में आने के बाद प्रदेश सम्भाला तो कई मुसीबतें सामने खड़ी थीं, लेकिन जब हम दुबारा सत्ता मे आए तो स्थिति और ज्या

वाल्मीकि समाज को लेकर CM राजे ने दिया ये बड़ा बयान, कहा...

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि वाल्मीकि समाज ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत के सपने को पूरा करने में कोई कसर नहीं छोड़ी और पूरा योगदान दिया। उन्होंने कहा कि देशभर में वाल्मीकि समाज स्वच्छता अभियान में जिस प्रकार पूरे समर्पण से काम कर रहा है, वह सराहनीय है। सीएम राजे बुधवार को सफाईकर्मियों की भर्ती की घोषणा पर बड़ी संख्या में आभार व्यक्त करने सिविल लाइंस पर आए वाल्मीकि समाज के लोगों को संबोधित कर रही थीं।उन्होंने कहा कि जिस समाज की वजह से हम एक स्वस्थ और सुन्दर समाज के निर्माण में सफल हो रहे हैं, उसके कल्याण के लिए राज्य सरकार ने कई काम किए हैं। मुख्यमंत्री राजे ने इस दौरान कहा कि अगले तीन महीनों में प्रदेश के सभी स्थानीय निकायों में 21 हजार 140 सफाई कर्मियों की भर्ती की जाएगी जिससे वाल्मीकि समाज के बेरोजगार युवाओं को आर्थिक सम्बल मिलेगा और स्वच्छ राजस्थान का सपना भी पूरा होगा।उन्होंने कहा कि नगरीय निकायों के कर्मचारियों को दिए जाने वाले 7वें वेतन आयोग का लाभ वाल्मीकि समाज के लोगों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने वाल्मीकि समाज के युवाओं को सम्ब

वसुन्धरा राजे ने विधायकों के लिए इसे बताया सबसे अच्छी पाठशाला

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि विधायकों के लिए विधानसभा ही सबसे अच्छी पाठशाला है जहां हम विधायी कार्यों से लेकर सभी तरह के नियम और प्रक्रियाओं को सीखते हैं। उन्होंने कहा कि जनता एक विधायक को अपने प्रतिनिधि के रूप में चुनकर भेजती है, ऐसे में विधायकों को जनता की अपेक्षाओं पर खरा उतरना चाहिए। राजे ने मंगलवार को विधानसभा में सर्वश्रेष्ठ विधायक सम्मान समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि जिस प्रकार इन विधायकों ने संसदीय परम्पराओं का निर्वहन किया है, वह सभी के लिए प्रेरणादाई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष सदन में लोकतंत्र के दो पहिए होते हैं। इसलिए सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष के साथी विधायकों के साथ हमारा व्यवहार समान रूप से सरल और मृदु होना चाहिए। उन्होंने कहा कि पक्ष-प्रतिपक्ष की भावना से ऊपर उठकर ही सदन के विभिन्न सदस्यों को सर्वश्रेष्ठ विधायक के रूप में चयन किया गया है। समारोह में शांतिलाल चपलोत को वर्ष 2003-04 के लिए, भरत सिंह को 2007, राजेन्द्र राठौड़ को 2009, गुलाबचंद कटारिया को 2010, अमराराम को 2011, सूर्यकंाता व्यास को 2012, राव राजेन्द्र सिंह क

काले कानून को लेकर पूर्व CM गहलोत ने राजे सरकार के बारे में कही ये बात!

जयपुर। राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अशोक गहलोत ने कहा है कि मुख्यमंत्री को तीन उप चुनावों में करारी हार झेलने के बाद मीडिय़ा एवं जनविरोध के भारी दबाव के चलते काला कानून वापस लेने को मजबूत होना पड़ा है। गहलोत ने कहा कि भ्रष्टाचार में डूबी यह सरकार आगामी विधानसभा चुनाव में अपने हश्र को देखते हुए डर गई है। उसका घमण्ड चूर हो गया है। इसी का नतीजा है कि सरकार ने संस्थागत भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के अपने कुत्सित कदमों को वापस ले लिया है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार ने भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने एवं पारदर्शिता के लिए सूचना का अधिकार, सुनवाई का अधिकार, सार्वजनिक खरीद में पारदर्शिता कानून, स्पेशल कोर्ट एक्ट, लोकसेवा गारंटी अधिनियम लागू किए थे। लेकिन भाजपा सरकार ने आते ही इन सारे कानूनों को ठण्डे बस्ते में डाल दिया। उन्होंने कहा कि यदि इन कानूनों को यह सरकार अमल में लाती तो काला कानून लाने की जरूरत ही नहीं पड़ती तथा सरकार को ये बदनामी भी नहीं झेलनी पड़ती।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने की घोषणा, विवादित विधेयक वापस....

जयपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राजस्थान विधानसभा में आज विवादास्पद 'दंड विधियां संशोधन विधेयक’ को सदन की प्रवर समिति से वापस लेने की घोषणा की। विवादास्पद दंड विधियां संशोधन विधेयक को लेकर विपक्ष सहित कई जनसंगठनों ने सरकार पर तीखे प्रहार किये थे। सदन में वसुंधरा राजे द्वारा पेश बजट पर चर्चा का जवाब के दौरान कहा कि जिस विधेयक को हमने प्रवर समिति को भेजा और अध्यादेश की अवधि समाप्त हो गयी। फिर भी हम इसे प्रवर समिति से वापस ले रहें है। राजस्थान सरकार ने 6 सितम्बर 2017 को यह अध्यादेश लाई थी और इसे 23 अक्टूबर 2017 को विधेयक विधानसभा में पेश किया गया।

विवादित विधेयक वापस, जनादेश के आगे झुकी सरकार

जयपुर। राजस्थान विधानसभा में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने आज विवादास्पद 'दंड विधियां संशोधन विधेयक’ को सदन की प्रवर समिति से वापस लेने की घोषणा की। विवादास्पद दंड विधियां संशोधन विधेयक को लेकर विपक्ष सहित कई जनसंगठनों ने सरकार पर तीखे प्रहार किये थे। सदन में वसुंधरा राजे द्वारा पेश बजट पर चर्चा का जवाब के दौरान कहा कि जिस विधेयक को हमने प्रवर समिति को भेजा और अध्यादेश की अवधि समाप्त हो गयी। फिर भी हम इसे प्रवर समिति से वापस ले रहें है। राजस्थान सरकार ने 6 सितम्बर 2017 को यह अध्यादेश लाई थी और इसे 23 अक्टूबर 2017 को विधेयक विधानसभा में पेश किया गया।

मृतकों के परिजनों को मिले सरकारी नौकरी: पायलट

अजमेर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट ने सोमवार को ब्यावर में गैस सिलेंडर विस्फोट के पीडि़तों से मुलाकात कर घटना के प्रति दुख जताया और मृतकों के प्रति अपनी संवेदनाएं व्यक्त की।पायलट ने हादसे की जानकारी ली और सरकार के राहत व बचाव कार्य में कथित विलंब पर भी जानकारी जुटाई। इससे पहले जयपुर से ब्यावर जाते समय अजमेर बाईपास पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि हादसे के बाद राहत व बचाव कार्य में लापरवाही बरती गई है। उन्होंने यह भी कहा कि वे सरकारी मुआवजे की राशि को भी बढ़ाने की मांग करते है। इस राशि को पांच लाख रुपए किया जाए तथा मृतकों परिजनों के एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाए।उन्होंने मांग की कि हादसे की जांच सक्षम स्तर पर होनी चाहिए ताकि भविष्य में इस तरह के हादसों की पुनरावृत्ति न हो तथा जानमाल सुरक्षित रह सके। एक सवाल के जवाब में पायलट ने कहा कि पूरे हादसे को राज्य विधानसभा में भी उठाया जाएगा।

सर्विस डिलीवरी को बेहतर बनाकर सरकार की योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंचाएं: राजे

जयपुर। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने जिलाधीशों को सर्विस डिलीवरी बेहतर बनाने और फील्ड में जाकर लोगों से बातचीत कर उनकी समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सर्विस डिलीवरी बेहतर होगी तो राज्य सरकार की योजनाओं और कार्यक्रमों का ज्यादा से ज्यादा लाभ आमजन तक पहुंचेगा। राजे ने आज जिलाधीश सम्मेलन के समापन सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा कि वर्ष 2018-19 के बजट की घोषणाओं को धरातल पर लाने के लिए अभी से काम शुरू कर दिया जाए।उन्होंने कहा कि किसानों की कर्जमाफी के संबंध में कार्रवाई शीघ्र शुरू कर उन्हें राहत दिलाएं और समर्थन मूल्य पर खरीद, शौचालय निर्माण की किस्त सहित प्रदेश में विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों का लम्बित भुगतान शीघ्र सुनिश्चित किया जाए।   मुख्यमंत्री ने जिलाधीशों को आमजन से जुड़ी समस्याओं के त्वरित निस्तारण की उचित निगरानी करने, विभागों के बीच आपसी समन्वय स्थापित करने, रात्रि चौपाल कार्यक्रम को ज्यादा प्रभावी तरीके से क्रियान्वित करने जैसे उपाय कर लोगों को खुशहाल बनाने पर ध्यान देने के निर्देश दिए। उन्होंने कई जिलों द्वारा किए गए नवाचारों को सराहा औ

विपक्ष का काम केवल नकारात्मक बातें करना सही नहीं है: परनामी

जयपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी ने आज कहा है कि विपक्ष का काम केवल नकारात्मक बातें करना सही नहीं है। परनामी ने संवाददाताओं से कहा कि विपक्ष को प्रदेश का विकास नजर नहीं आ रहा है। केवल नकारात्मक बातें कर रहे हैं, जो ठीक नहीं है। उन्होंने ब्यावर में रसोई गैस सिलेंडर हादसे की चर्चा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने ब्यावर पहुंचकर प्रभावित परिवारों से मिली और बचाव कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए।   उन्होंने कहा कि विपक्ष ने प्रभावित परिवारों की सुध भी नहीं ली। सचिन पायलट और अशोक गहलोत को भी जाने का वक्त नहीं मिला। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने एक प्रश्न के जवाब में कहा कि पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में किसी को बख्शा नहीं जाएगा। कांग्रेस को आरोप लगाने से पहले यह भी बताना चाहिए था कि यह ऋण किसके शासनकाल में दिया गया था। उन्होंने शिक्षकों के तबादले को लेकर शिक्षा राज्य मंत्री की ओर से निकाले गए एक परिपत्र के जवाब में कहा कि शिक्षकों के तबादले तय नीति के तहत ही होंगे।

घोषणा के बाद भी किसान असंतुष्ट : अमराराम

झुंझुनू। माक्सर्वादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) के राज्य सचिव एवं पूर्व विधायक कामरेड अमराराम ने कहा कि मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे द्वारा पेश बजट में किसानों के पचास हजार रुपए तक के ऋण माफ करने की घोषणा के बाद भी किसान असंतुष्ट है। अमराराम ने आज अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने चाहे किसानों के 50 हजार रुपए तक के ऋण माफ करने और किसान ऋण राहत आयोग का गठन करने की घोषणा बजट में की लेकिन किसान अभी भी इससे असंतुष्ट है। उन्होंने कहा कि सरकार ने नियम कायदों की आड़ में अभी आधी अधूरी घोषणा की है। उन्होंने कहा कि बजट घोषणा के मुताबिक लघु और सीमांत किसानों का वो ही ऋण माफ होगा,जो कॉपरेटिव बैंकों से लिया गया है। जबकि उनके साथ जो समझौता हुआ है उसमें हर वर्ग के किसान और हर बैंक से लिए गए 50 हजार रुपए तक के ऋण माफ करने की बात कही गई है। उन्होंने इसे सरकार की मंशा में खोट बताया और कहा कि किसान सभा में पूर्व में ही आह्वान किया है कि आगामी 22 फरवरी को विधानसभा का घेराव करेंगे तथा इस दिशा में आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि इसी क्रम में झुंझुनू से किसानों का पहला पैदल जत्था विधानसभा

मुख्यमंत्री ने चुनावी बजट में आम आदमी को किया है निराश: पायलट

जयपुर। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की ओर से विधानसभा में पेश बजट को चुनावी बजट बताते हुए कहा कि उन्होंने अपने बजट में महंगाई का जिक्र नहीं कर आम आदमी को निराश किया है।राज्य बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए पायलट ने कहा कि मुख्यमंत्री ने किसानों व दूसरे वर्गों के लिए जो घोषणाएं की है उसे पूरा करने का सरकार के पास समय ही नहीं बचा है तो किसानों को कैसे लाभ पहुंचेगा। किसानों के पचास हजार तक के सहकारी बैंकों के कर्ज माफ करने की घोषणा पर उन्होंने कहा कि भाजपा शासित उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में किसानों के 35 से 40 हजार करोड़ तक के कर्ज माफ किए हैं जबकि राजस्थान में पचास हजार रुपये में तो अच्छी भैंस भी नहीं खरीद सकते। पायलट ने कहा कि उपचुनाव में करारी हार और कांग्रेस के लगातार दबाव के कारण इस बजट में किसानों के कर्ज माफ करने की घोषणा की गई है और सरकारी स्कूलों को पीपीपी मोड पर देने का निर्णय वापस लेना पड़ा है। एक सवाल के जवाब में पायलट ने कहा कि उपचुनाव में हार के बाद यह बजट नुकसान की भरपाई की बजाय नुकसानदायक साबित होगा क्योंकि इसमें किसी वर्ग के लिए कुछ

रामस्वरूप लांबा के समर्थन में वसुंधरा ने किया प्रचार

अजमेर। राजस्थान में अजमेर लोकसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी रामस्वरूप के समर्थन में प्रचार के दूसरे दिन मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे नसीराबाद विधानसभा क्षेत्र पहुंची।गुर्जर, जाट, रावत मतदाताओं की बाहुलता वाले इस क्षेत्र में जनसंवाद से पूर्व नसीराबाद से वह सबसे पहले सड़क मार्ग से सराधना हाईवे मार्ग राजगढ़ स्थित विख्यात मसाणिया भैरवधाम पहुंची। राजे ने आस्था के इस केंद्र पर भगवान भैरव और मां कालका की पूजा अर्चना करी, दर्शन व आरती की और ढोक लगाकर प्रदेश की खुशहाली के साथ उपचुनाव में भाजपा की जीत की कामना की। उन्होंने मनोकामना स्तंभ पर परिक्रमा भी लगाई। उन्होंने धाम के मुख्य उपासक चंपालाल महाराज के साथ बंद कमरे में मंत्रणा की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने एक परिवार के बच्चे के साथ आत्मीयता पूर्ण बातचीत की और उसे दुलार दिया। मुख्यमंत्री यहाँ से पुन: सड़क मार्ग से नसीराबाद पहुंची जहां उन्होंने चुनिंदा गणमान्य लोगों, भाजपा पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं से चर्चा की। उन्होंने मंडल व बूथ कार्यकर्ताओं से संवाद किया और उन्हें भाजपा प्रत्याशी रामस्वरुप लांबा को अच्छे वोटों से जिताने के लिए गुरुमंत्र भी दिय

अब अलवर जीत के लिए CM राजे ने कार्यकर्ताओं को दिया ये मंत्र

अलवर। राजस्थान के अलवर में आगामी 29 जनवरी को होने वाले लोकसभा उपचुनाव के लिए प्रचार की कमान खुद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने संभाल ली है। भाजपा प्रत्याशी जसवंत सिंह यादव के पक्ष में प्रचार करने के लिए दो दिवसीय दौरे पर रविवार को अलवर पहुंची मुख्यमंत्री ने कई समाजों के प्रतिनिधिमंडलों से मिलकर उनसे नया राजस्थान बनाने के लिए समर्थन मांगा।मुख्यमंत्री राजे अजमेर से सीधे हेलीकॉप्टर से अलवर पहुंची जहां उनका भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी और अलवर के तमाम विधायकों ने उनकी आगवानी की।     मुख्यमंत्री उसके बाद शांतिकुंज स्थित एक होटल पहुंची। दोपहर करीब डेढ़ बजे होटल के समीप एक निजी पैलेस में अलवर शहर, अलवर ग्रामीण, रामगढ़ और राजगढ़-लक्ष्मणगढ़ विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से जनसंवाद किया और भाजपा प्रत्याशी को जिताने के लिए रणनीति तय की साथ ही जीत का मंत्र भी दिया। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे रविवार रात को अलवर शहर में ही रुकेंगी उसके बाद सोमवार को चार विधानसभा इलाकों के विधायकों एवं जनप्रतिनिधियों से जनसंवाद करेंगी।   जानकार सूत्रों का कहना है कि मुख्यमंत्री 25 जनवरी को अलवर