Skip to main content

Posts

Showing posts with the label न्यूज

आज ट्विटर पर # अंधविश्वास _मुक्त _भारत ट्रेंड कर रहा हैं आख़िर क्यों

नई दिल्ली | आज ट्विटर पर # अंधविश्वास _मुक्त _भारत ट्रेंड कर रहा हैं इससे कुछ दिन पहले भी ट्विटर पर " #India_against_pakhand " ट्रेंड कर चूका है आखिर आज देश में एक अलग तरह की लहर चल रही हैं आज लोग  ट्विटर पर अपनी प्रतिक्रिया देने से नहीं हिचकिचाते | वैश्विक महामारी COVID - 19 ने भारत में लोगों का धर्म से विश्वास उठ सा चूका हैं  , आज भारत का पढ़ा लिखा व्यक्ति तर्कसंगत वैज्ञानिक द्रष्टिकोण को अपना रहा हैं . वह अब मंदिर नहीं अस्पताल की बात कर रहा हैं यह बुनियादी परिवर्तन वैज्ञानिक द्रष्टिकोण अपना कर भारत देश में कुप्रथा के रूप विधमान " अंध विश्वास ,पाखंड " से दूर जा रहा हैं यह एक अच्छी पहल हैं इससे पहले भारत देश में लगभग 5 हजार साल से अंध विश्वास पाखण्ड , दुर्ष्ट अभिचारी लोग धार्मिक स्थलों  के ठेकेदार ,सेवादार बनकर कही " नर बलि " दे कर भारत से कोरोना को भगाने में लगें हैं आखिर इन पाखण्ड अंध विश्वास से कोरोना तो अभी तक नही गया लेकिन अपराधी धर्म के ठेकेदार ज़रूर कानून की गिरफ़्त में आ गयें हैं  |     ट्विटर ट्रेंड पर राजस्थान से प्रो . आशुतोष  सिंह कहते हैं की

सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा मानवता की सुरक्षा है – डिक्की अध्यक्ष डॉ. सत्य प्रकाश वर्मा

COVID-19  राजस्थान - सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा के लियें राजस्थान सरकार के साथ  DICCI की नई पहल - जयपुर | COVID-19 वैश्विक महामारी भारत सहित पूरे विश्व के लिए चिंता का विषय बना हुआ है. इस वैश्विक महामरी में कार्यरत वाल्मीकि समाज व् सफाई कर्मचारी दिन – रात ” कोरोना योद्धा ” के रूप में देश सेवा कार्यरत है. काम सीवर की सफाई का हो या कोरोना मरीजों से भरे अस्पतालों की, वाल्मीकि समाज एवं सफाई कर्मियों की उपयोगिता सबसे अधिक होती है किन्तु सुरक्षा उपकरण प्रदान करने की दृष्टि से प्राथमिकता सबसे कम. ऐसे में, दलित इंडियन चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (डिक्की) ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सफाई कर्मचारियों की सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए राज्यभर में पीपीई किट, मास्क और ग्लव्स एवं राज्य सरकार को स्थानीय जिला प्रशासन के माध्यम से भेंट करने की पहल की है | इस राज्यव्यापी अभियान की शुरूवात जयपुर से डिक्की के अध्यक्ष डॉ. सत्य प्रकाश वर्मा द्वारा जयपुर जिला कलेक्टर श्री जोगाराम को 5000 मास्क्स और 500 ग्लव्स भेंट करते हुए की गई. उनकी पहल पर इसी श्रंखला में डिक्की के उदयपुर समन्वयक भारत बंशीवा

जय भीम बोलने पर होगी कार्यवाही,उज्जैन एसपी मनोज कुमार सिंह , विवाद शुरू

 " जय भीम " शब्द मध्यप्रदेश में ला सकता है बड़ा राजनेतिक फेरबदल हरीश कुमार खोलिया नई दिल्ली | संविधान निर्माता डॉ बाबा साहब को सम्मान देने हेतु - युवा वर्ग में एक शब्द बड़ा प्रचलित है वह है - जय भीम  लेकिन वर्तमान समय में यह शब्द उज्जैन मध्य प्रदेश में सुर्ख़ियों में है इस घिरते नज़र आ रहें है एसपी मनोज सिंह यह पूरा मामला वायरलेस सेट पर जय हिंद या जय महाकाल के बदले पुलिस कर्मियों द्वारा जय भीम बोलने पर शुरू हुआ ।यह बात पुलिस विभाग और एसपी मनोज कुमार सिंह को सहन नही हुई . देखते ही देखते " जय भीम " के नारे ने पुलिस महकमे और राज्य की राजनेतिक गलियारों में तहलका मचा दिया | जब इस मामले की जानकारी एसपी मनोज कुमार सिंह तक पहुंची तो उन्होंने वायरलेस सेट पर मैसेज दिया की जो भी पुलिसकर्मी जातिगत विवाद या राजनीति के शिकार होकर जय भीम बोल रहे है वह  गलत है और ऐसे पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी व निलंबित भी करने की धमकी दी गई। बुद्धिजीवी वर्ग - जय भीम क्यों बोलते हैं  जय भीम बोलना भारत देश के संविधान और संविधान निर्माता के प्रति सम्मान का सूचक है।जय भीम किसी राजनैतिक पा

प्रवासी मजदूर कौन हैं और यह राजनीति का शिकार क्यों हो रहें हैं - क्या इनकी जाति इनकी दुर्गति का कारण हैं

जाति जो कभी नहीं जाती - प्रवासी मजदुर  आज हम जिस विषय पर बात करनें जा रहें हैं आप उससे कुछ सहमत भी हो सकते हैं तो कुछ हमें अपशब्द कह सकते हैं खैर आप को अपना पक्ष रखने का अधिकार भारत का संविधान देता हैं जिसे डॉ बाबा साहब अंबेडकर ने लिखा हैं | आज वैश्विक महामारी कोविद 19 ने देश में नकारात्मक प्रभाव अधिक डाला हैं जिस प्रकार 1947 में देश का बटवारा होआ था तब भी गरीब दलित व असहाय लोग इन गैर जिम्मेदार नेताओं की बंदर बाट व निजी स्वार्थ के चलते देश का बंटवारा भी कर दिया था जिसके चलते लाखों ग़रीब दलित मुस्लिम मौत के मुंह मे समा गयें थे और भी हैवानियत की और भी घटनाओं का जिक्र इतिहास के पन्ने में आप को लिखा मिल जायेगा | [caption id="attachment_10917" align="alignnone" width="959"] pic - s - net[/caption] आज वैश्विक महामारी कोविद ने प्रवासी मजदूर जो अपने जीवन ज्ञापन के लियें देश के एक कोने से दूसरे कोने जाता हैं जिससे वह अपना जीवन व्यापन कर सके और अपने पत्नी बच्चों का पालन पोषण कर सकें ,कोई भी प्रवासी मजदूर अपनी मर्जी से अपना घर नहीं छोड़ता  लेकिन उसकी आर्थिक स्थिति व प

130 Students Placed By Panipat Institute of Engineering and Technology Amid Fight Against COVID-19

PIET has also designed & installed a Sanitizing Tunnel in its premises and offers its robot ‘Ruby’ to hospitals in Panipat that can be used to serve COVID-19 patients. Panipat Institute of Engineering and Technology (PIET) based in Panipat, Haryana is a leading institution for students pursuing Engineering and Technology and one of the best engineering colleges in Delhi NCR . The institute has raised the bar by not only continuing education and ensuring placements during the COVID-19 pandemic, but has also contributed effectively in the fight against Coronavirus. Despite the nationwide lockdown, PIET enabled placements for its 130 students through the efforts of the placement co-ordination team and the robust processes, systems and due to brand recall already built by the institute The success is not limited to just lockdown period. In fact, pre-lockdown more than 100 companies had already visited PIET for campus placement during the 2019-20 session and more than 500 students r

भारत में प्रति लाख आबादी पर केवल 7.9 मामले हैं रोगियों के ठीक होने की दर बढ़कर 39.6 प्रतिशत हुई

कोविड-19 पर अपडेट भारत में प्रति लाख आबादी पर केवल 7.9 मामले हैं जबकि पूरे विश्व में यह आंकड़ा प्रति लाख पर 62.3 है, रो गियों के ठीक होने की दर बढ़कर 39.6 प्रतिशत हो गई है 20 MAY 2020, by PIB Delhi भारत सरकार, राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों के साथ मिलकर, एक वर्गीकृत, पूर्व-निर्धारित और सक्रिय दृष्टिकोण को अपनाते हुए, कोविड-19 की रोकथाम, नियंत्रण और प्रबंधन की दिशा में कई कदम उठा रही है। इनकी उच्चतम स्तर पर नियमित रूप से समीक्षा और निगरानी की जा रही है। भारत कोविड-19 के प्रसार को कम करने में अपेक्षाकृत सक्षम रहा है और इसका असर कोविड-19 के आंकड़ों में देखा जा सकता है। वैश्विक स्तर पर तुलना करने पर, जहां प्रति लाख संक्रमण के मामले 62.3 हैं, भारत में अभी भी केवल 7.9 मामले/प्रति लाख आबादी पर देखे जा रहे हैं। इसी प्रकार, प्रति लाख आबादी पर मृत्यु दर के हिसाब से इसका वैश्विक औसत दर 4.2 है जबकि  भारत के लिए यह आंकड़ा 0.2 आंका गया है। मौत के अपेक्षाकृत कम आंकड़े, सिर्फ और सिर्फ समय पर मामलों की पहचान करने और उन मामलों का नैदानिक प्रबंधन करने के संदर्भ में जानकारी प्रदान करते हैं। चिकित्सकीय प्र

Home Ministry grants permission for opening of 3000 CBSE affiliated schools as assessment centres across India to evaluate CBSE Board exams answers sheets

The permission will help us to quickly evaluate 1.5 crore answer sheets - Shri Ramesh Pokhriyal 'Nishank' Home Ministry today granted permission for opening of 3000 CBSE affiliated schools as assessment centres across India to facilitate evaluation of answer sheets of CBSE Board exams. Union Minister for HRD Shri Ramesh Pokhriyal 'Nishank' expressed his gratitude towards the  Ministry of  Home Affairs for giving the permission. He said that 3000 CBSE  affiliated schools have been identified as assessment centers across India and special permission will be granted to these schools for the limited purpose of evaluation. Dr Ramesh Pokhriyal Nishank ✔ @DrRPNishank Announcement on Twitter  3000 @ cbseindia29 affiliated schools across India have been identified as assessment centers. Special permission will be granted to these schools for the limited purpose of evaluation. # IndiaFightsCoronaVirus # IndiaFightsCorona

MSME Minister Interacts with DICCI and assures complete support to SC-ST entrepreneurs amidst COVID19 pandemic

Hon’ble Minister for MSME  Nitin Gadkari, addressed an exclusive online meeting organised by Dalit Indian Chamber of Commerce and Industry (DICCI) on ‘Impact of COVID19 Pandemic on SC-ST MSMEs & Way Forward for Revival’. The meeting was presided by Founder-Chairman of DICCI, Dr. Milind Kamble and moderated by National Working President of DICCI, Shri. Ravi Kumar Narra, in which 350+ SC-ST Entrepreneurs, Industry experts and MSME officials participated. Hon’ble Minister discussed the various aspects of measures being taken by Govt. of India to meet the challenges of COVID19 with the panellists comprising of all regional heads of DICCI representing all Indian states and across business sectors. The meeting was also attended by international DICCI members from Japan and UK. The highlights of the discussions for which the Hon’ble Minister has assured his immediate consideration are, The Govt. will consider DICCI’s proposal of including services sector into the ambit of Special Capi

शिक्षा व् मानवीय मूल्यों की बड़ी बाते करने वाले प्राइवेट स्कूल - अब इस महामारी काल में भी शिक्षा का व्यवसायीकरण कर रहें है

Private schools that talk a lot about education and human values ​​-now even in this pandemic period, education is being commercialized - जयपुर |  शिक्षा व मानवता का पाठ पढ़ाने वाले स्कूल आज कल इस  वैश्विक महामारी कोरोना में भी पेरेंट्स को छुट्टियों की फीस जमा कराने के लियें दबाव् बना रहे हैं | इस मुश्किल घड़ी में जहां लॉक डाउन के चलते पिछले 40 दिन से अधिक समय से व्यवसाय बंद हैं घर चलाने का भी खर्च अब मध्यमवर्गीय परिवार के पास नहीं बचा हैं अब स्कूलों के मेल ,कॉल आदि द्वारा पेरेंट्स पर दबाव बनाया जा रहा हैं कि आप अपने बच्चों की फ़ीस जमा किरायें| [caption id="attachment_10852" align="alignnone" width="920"] sa aabhar[/caption] अब मध्यम वर्गीय परिवार मानसिक रूप से तनाव में है एक और तो काम धंधे ठप हैं उसके ऊपर प्रधानमंत्री मोदी व राज्य सरकारों ने आदेश जारी कर के कह दिया हैं कि लॉक डाउन के चलते आप अपने यहां काम करने वाले मजदूरों को नोकरी से नहीं निकाल सकते और उन्हें लॉक डाउन के चलते सैलेरी भी देना अनिवार्य हैं | अब मध्यम वर्गीय परिवार अपना घर चलायें या जरूरतमंद ल

कोरो इंडिया ने 1200 से अधिक परिवार के लियें मदद के हाथ बढ़ायें -

COVID -19  Social workers associated with coro India extended their helping hand to more than 1200 families - dry ration of more than 10 lakh rupees and other essential goods जयपुर | वैश्विक महामारी कोविड -19 { कोरोना } ने गरीब परिवारों को मौत से कम कष्ट नहीं दिया  है देश में एकाएक लगे लॉक डाउन ने या बोले कर्फ़्यू ने ग़रीब , दहाड़ी मजदुर ,प्रवासी मजदूरो को संभलने का मौका तक नहीं दिया | गौरतलब है की दहाड़ी मजदुर ,प्रवासी मजदुर और ग़रीब परिवार दहाड़ी के हिसाब से मजदूरी करते है जिसमे बे मुश्किल से उनका गुजरा चल पाता है और लॉक डाउन के बाद अब घर बैठना और घर का खर्चा चलाना मुश्किल हो रहा है  घर में सुखा राशन ख़त्म हो चूका है  , आर्थिक व्यवस्था जो भी थी वह भी अब 30 दिन से अधिक समय बाद चरमा गई है  | इस संकटकाल में सामाजिक संगठन व् भामाशाह लोगो ने मोर्चा संभाला  जिससे गरीब व् जरूरत परिवार को थोडा सहारा मिला है |   कोरो इंडिया सामाजिक संगठन के प्रयासों से राजस्थान में अभी तक 7 जिलो ,17 ब्लोक ,70 गाँवों के 1158 परिवारों को 1 माह तक का सुखा राशन निशुल्क उपलब्ध कराया जा चूका है साथ ही कोरो इंडिया के जुड़े

Shivendu Madhava Paving The Way For Young Indian Entrepreneurs

Shivendu Madhava Paving The Way For Young Indian Entrepreneurs Shivendu Madhava, the founder of a national level technical consultancy firm,    All India Technical Consultancy Corporation Limited   (AITCCL), explains the necessity of several factors that pave the way to the success of young Indian entrepreneurs. He emphasizes that the way to converting a business idea into success is executing the business plan under state-of-the-art consultancy. According to Shivendu, the government sector requires ideas like Smart City Development plan while the private sectors like Education Department require skill development and curriculum planning. He further highlights that the corporate sectors need feasibility studies and market research. To keep up with these demands, AITCCL aims to provide quality consulting services to these organizations. [caption id="attachment_10822" align="alignnone" width="971"] Shivendu-Madhava[/caption] The golden words of Steve Jobs -

Venteskraft – All AboutEntrepreneurship And Stock Trading

Venteskraft – All AboutEntrepreneurship And Stock Trading The founders,Mahin BS and Rahul Rajeev, who are youngsters themselves, advocate for living the best while you are young and emphasise on financial independence and entrepreneurship resonating with the youth of today. A new age firm in recent times has been gaining a lot of attention, especially youngsters. Venteskraft, cofounded by Mahin BS and Rahul Rajeev, saw its inception in 2014, starting out as a stock market training institution. They offer mentorship in the stock market, aiming to teach students how to use the stock market effectively. [caption id="attachment_10819" align="alignnone" width="989"] Venteskraft[/caption] The company has seen rapid growth in recent years, with 30,000+ individuals under their various programs. Venteskraft provides practical knowledge to trade in the stock market, with their well-crafted strategies and industry depth research and analysis, which has been seeing e

ValueScaling Education With Elearning

According to reports, the global e-learning industry grew by 900% in the last 20 years. It is expected to triple its size by 2025 with some of the biggestglobal e-learning markets like Thailand, Philippines, India, and China growing with 30% annual growth rate. The self-paced e-learning market, however, is said to be declining. So, the learners need the discipline of a classroom with the convenience of a personal study room. Here, gamification of learning comes into play. This concept is fuelled by the amalgamation of Virtual Reality (VR) and Augmented Reality (AR). Educators need to be where the learners are. The future of education is already here. [caption id="attachment_10813" align="alignnone" width="845"] Ankit Khurana , Founder, ValueScale[/caption]   The biggest question here is what if we could create an interactive game for learning? COVID-19 seems to have already set the path for uninhibited learning, with the schoolteachers doing their job onl

Raise Your Voice For Real Cause, Not Reel Cause

Adnan Safee, the founder of Nine Angle Foundations, urges the citizens of India to raise their voice for the real cause, and not for any influenced publicity. Nine Angle Foundation is working socially at a very humble level in India, distributing food boxes with a month& ration to the poor and the hungry. About the global pandemic COVID-19 Coronavirus, Adnan says To all those who are unaware of the brutal reality of life, I ask - What have we achieved by conquering space, if we can& conquer childhood hunger? While the entire world is united to fight against the deadliest virus ever, many people are engaged in blaming each other and making the atmosphere in the country worse. It is disheartening to see people fight against each other at a time when we need to stand together and fight the COVID-19 crisis in our country Since the 21-day lockdown was announced by the Indian Prime Minister Narendra Modi, there have been mixed reactions from people all over the country. While some of

वर्ल्ड हेरिटेज सिटी - जयपुर शहर बना - कोवीड - 19 केंद्र

World Heritage City - Jaipur City - Kovid - 19 Centers Received in Ramganj area - 34 Corona positive - राजस्थान . जयपुर | विश्विक महामारी " नोवल करोना वायरस { कोवीड - 19 } " ने जहाँ विकसित देशों की आर्थिक व् मेडिकल व्यवस्थाओं को बुरी तरह प्रभावित कर दिया है वही भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने फर्स्ट स्टेज पर इस सक्रमण को रोकने की कोशिश की लेकिन फिर भी 130 करोड़ अधिक जनसंख्या वाले देश को सफलतापूर्वक लॉक डाउन करना भी बड़ा काम है भारत में प्रशासन व् जनता में सामंजस्य देखा जा रहा है लेकिन आज एक कहावत सटीक बेठ रही है की - अमीरों का सेर सपाटा - गरीबो की मौत का पैगाम " जहाँ राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पहले ही 21 मार्च को घोषणा कर राजस्थान को 31 मार्च तक लॉक डाउन कर दिया था किन्तु राजस्थान में विदेश का दौरा कर लोटे लोगों ने राजस्थान को कोरोना की चपेट में ला दिया जिसके केंद बिंदु कपड़ो की महानगरी - भीलवाडा बना जिसके बाद राजस्थान की राजधानी जयपुर | राजधानी जयपुर में ओमान से लोटे मुबारक अली रामगंज निवासी ने पुराने जयपुर { परकोटा } क्षेत्र में सक्रमण फेला दिया देखते ही देखते रा

प्रधानमंत्री मोदी ने देश को महामारी से बचाने के लियें उठायें बड़े कदम - देश में आज रात्रि 12 बजें से आगामी 21 दिनों के लियें देश लॉकडाउन -

The coming 21 days is very important - modi प्रधानमंत्री मोदी ने देश को कोरोना { covid  -19 } महामारी से बचाने के लियें उठायें बड़े कदम - देश में आज रात्रि 12 बजें से आगामी 21 दिन के लियें लॉकडाउन किया | मोदी ने देश को चेताया की आज इस विश्व महामारी से बचने के लियें हमे कड़े कदम उठाने पड़ रहे है आज अन्य विकसित देशो ने इस महामारी से बचने के लियें सकारात्मक कदम उठायें है लेकिन वैसी सफलता नहीं मिल जिसकी उम्मीद थी | कोरोना वायरस इतनी तेजी से फैल रहा है कि तमाम प्रयासों के बावजूद इन देशों में चुनौती बढ़ती ही जा है इस विश्व महामारी को रोकने के लियें हमें आज रात 12 बजे से संपूर्ण देश में संपूर्ण लॉकडाउन कर रहे है  हिन्दुस्तान के नागरिको बचाने के लिए आपके परिवार को बचाने के लिए घरों से बाहर निकलने पर पूरी तरह पाबंदी लगाई जा रही है। पीएम मोदी ने कहा कि इसकी आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी, लेकिन आपके परिवार को बचाना भारत सरकार की, राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की प्राथमिकता है। प्रधानमंत्री मोदी ने हाथ जोड़ कर देश वासियों से अपील की है की आप इस वक्त जहाँ है जैसे है वही रहें उन्होंने कहा कि देश मे

Water and Shark conferred with ‘Excellence In Finance’ award

 The prestigious award was received by CA Harsh Patel (Founder & Global CEO) and Mr. Suraj Khatri (CEO, UAE Operations) at the esteemed Finnext Conferences held at Dubai Water and Shark brought home the much-coveted and well recognized ‘Excellence in Finance’ Companies’ award presented by the Finnext Conference. The Finnext Conference, which was held in Le Meridian, Dubai on the 27th and 29th of February 2020 is a highly prestigious get together that unites the stalwarts of the tech and finance industry as a means of garnering conversations that are aimed towards exploring topics on the future of the finance and the tech industry. The prestigious award was received by CA Harsh Patel, Founder & Global CEO, Water And Shark and Mr Suraj Khatri, CEO (UAE Operations) Water And Shark. The event was attended by the decision-makers and key stakeholders of the biggest finance firms to come together in solidarity for the industry to move forward as a unit. The event also hosted e

Under The Mango Tree Society Wins HCL Foundation Grant Of 5 Crores

New Delhi, India - Under The Mango Tree Society (UTMT Society) is pleased to announce that it has been named one of the proud recipients of the HCL Foundation Grant 2020. The HCL Foundation (HCLF), the Corporate Social Responsibility (CSR) arm of HCL Technologies announced the winners of the fifth edition of HCL Grant at a star-studded event, presided over by Mr Kapil Dev, a legend in the global world of cricket, Padma Bhushan award winner and formercaptain of the Indian Cricket team . The HCL Grant is an institutionalized CSR funding that aims to recognize the fifth estate - (NGOs) Non-Governmental Organizations and support their breakthrough projects reaching out to the rural communities in the country. Under The Mango Tree Society, winner in the Environment categoryis an NGO that works on raising awareness about the role of indigenous bees for agriculture and biodiversity in tribal communities in the states of Gujarat, Maharashtra and Madhya Pradesh. Initiated in 2009, the organizat

LizMotors Mobility Uses AI and IoT to Create Safety Devices For Kids And Women

The Startup has developed an AI and Machine Learning Based device, equipped with multiple sensors that constantly monitor the drivers as well as passengers and send out the notifications to support the office if anything unusual is detected. Personal safety has become a major concern in our society, no matter where you go there is always the anxiety of safety not only for ourselves but also for our friends and family. Evidence shows that crime against children and women has peaked. According to the National Crime Records Bureau, Crimes against children in India have increased by more than 500% over the last 10 years. Lizmotors Mobility, A company based in Gurgaon is working on a technology that is tailored to kids and women safety. The company has developed a unified cloud-based software platform to address some of the safety-related issues, the software platform lets users connect their IoT devices such as wearables, phones, vehicles, and security cameras and notify users or any third

Housing Society Management Show 2020 Concludes On A High Note

Mumbai, Maharashtra - Beats Earlier Records in Scale, Number of Exhibitors and Visitors Third edition of India’s first and only Expo on Housing Societies Management – ‘Housing Society Management Show 2020’ (HSMS 2020) held February 7, 8 & 9, 2020 in Mumbai concluded successfully had everything on larger scale, in terms of the space occupied, variety in offerings from exhibitors and profile of visitors during three day long show. Commenting on the steady growth of this show over the last three years Y Mukund Rao, Organiser of HSMS 2020, said “ This year besides city’s well-known dignitaries visiting and appreciating the show, our prime target visitors to HSMS 2020 included 3,212 unique Housing societies of which 85% of which were decision maker of housing societies. Net exhibition space of 1350 sq mtr at HSMS 2020 occupying two floors had 87 exhibitors showcasing more than 105 different categories of product and services useful for the housing societies. Some of the exhibitors w