Skip to main content

Posts

Showing posts with the label #braeking news

जिग्नेश मेवाणी को पुलिस ने किया गिरफ्तार - जिग्नेश ने कहा -

जयपुर | दलित युवा नेता  जिग्नेश मेवाणी को आज जयपुर एयरपोर्ट पर  पुलिस ने  गिरफ्तार कर लिया |  पुलिस ने  जिग्नेश को  करीब 4 घंटे  के बैठाया रखा | एक बार तो जिग्नेश मेवाणी समझ नहीं पाए आखिर हो क्या रहा है  - गोरतलब है की जिग्नेश डॉ . बाबा साहब की जयंती के उपलक्ष्य में मेड़ता में हो रहे कार्यक्रम में शिरकत होने नागौर के मेड़ता जा रहे थे  , जिग्नेश जेसे ही गाडी में बेठने लगे सादा वर्दी में पुलिस कर्मी ने उन्हें नागौर में प्रवेश करने से रोकने का फरमान दे दिया , जिस पर जिग्नेश से बल पूर्वक साइन करने  का दबाब पुलिस बनाने लगी. जिसको लेकर पुलिस व् जिग्नेश में तीखी बेहस शुरू हो गई |  करीब 4 घंटे तक पुलिस निगरानी में रखने के बाद जिग्नेश मेवाणी को वापस गुजरात के लिए रवाना कर दिया गया |  जिग्नेश मेवाणी की यात्रा को देखते हुए शनिवार रात से ही मेड़ता में धारा 144 लागू करने के साथ ही उनके नागौर जिले में प्रवेश पर रोक लगा दी गई थी। नागौर के पुलिस अधीक्षक पारिस देशमुख के निर्देश पर पुलिस उप अधीक्षक विघाप्रकाश चौधरी के नेतृत्व में सादी वर्दी में पुलिसकर्मी जयपुर के सांगानेर हवाई अड्डे पर पहुंच गए थे। मेवा

चुनाव से पहले राजस्थान में BJP ने चला मास्टरस्ट्रोक -

जयपुर। राजस्थान में विधानसभा चुनाव से पहले होने वाले टिकट वितरण के लिए सत्तारुढ़ भाजपा ने फिर से सत्ता में वापसी करने की कोशिश कर दी है। आपको बता दें कि इस साल दिसंबर में राज्य में नई सरकार शपथ लेगी। इससे पहले राज्य में होने वाले चुनाव में टिकट वितरण के लिए भाजपा ने तैयारी शुरु कर दी है। जिलों में पार्टी और मौजूदा विधायकों की स्थिति जांचना शुरू कर दी है। इसके लिए हर जिलें में बीजेपी नेताओं के तीन दिन के प्रवास भी हो रहे है। इस प्रवास के दौरान भाजपा ने अपने आला नेताओं को विभिन्न जिलों में भेजा है। जहां वे अपने विधायकों की स्थिति का आंकलन करने के साथ-साथ अपनी पार्टी के लिए जिताउ प्रत्याशियों की संभावनाओं की तलाश शुरु करेंगें। अपने प्रवास के दौरान पार्टी के नेता देखेंगे कि आने वाले चुनवा के लिए विभिन्न विधानसभा क्षेत्र से जिताऊ प्रत्याशी कौन होगा। आपको बता दें आला नेताओं की ये रिपोर्ट प्रदेश नेत्तृव के साथ राज्य की मुख्यमंत्री के साथ-साथ आलाकमान को भी भेजी जाएगी। जानकारी के अनुसार पार्टी ने मंत्रियों को उनके जिले न भेजकर दूसरे जिलों में भेजा है। पार्टी का मानना है कि अगर कहीं खामी पाई जा