Skip to main content

Posts

Showing posts with the label # raja ram mil

देश में मौब लिंचिंग आख़िर क्यों - देश बचाओं - दस्तूर बचाओं कांफ्रेस

देश भाईचारे व् आपसी सोहार्द से चलेगा - कट्टरपंथ से नहीं -    जयपुर | जयपुर स्थित कर्बला मैदान में आज " देश बचाओं - दस्तूर बचाओं कांफ्रेस " का आयोजन किया गया जिसमे मुख्यवक्ता के रूप में डीयू से प्रोफ़ेसर अनुपुर्वा नन्द , मौलाना तौकीर रजा खान , जाट समाज के प्रादेशाध्य राजा राम मील , दलित - मुस्लिम एकता मंच प्रादेशाध्य अब्दुल लतीफ़ आरको ,  आप पार्टी से रामपाल जाट , सामाजिक कार्यकर्ता कविता श्रीवास्तव , मान चंद खंडेला , नासिर खान आदी वक्ताओं ने अपने विचार रखे | वक्ताओं ने देश में वर्तमान समय में क़ानून व्यवस्था व् भीड़ तंत्र द्वारा " म़ोब लिंचिंग " जैसी घटनाओं पर विस्तार से अपने विचार रखे - प्राफेसर अपूर्वा नन्द ने कहा की देश में आज लॉ एंड आडर फ़ेल हो रहा है देश को बाटने में लोग लगे है जिनको वर्तमान सरकार आश्रय दे रही है आज सरकार का राज कम और भीड़ राज ज्यादा है आज देश में आजादी जैसे शब्द को भी देशद्रोही माना जाने लगा है आख़िर आज हमारा भारत देश किस दिशा में जा रहा है और आखिर क्यों - आज तबरेज की  हत्या पर देश में दो भागो में बट गया है आखिर ऐसे अपराधों पर भी राजनीति होने लगी है

"अखिल भारतीय समानता मंच " ने अधिकारों के लिए उठाई आवाज -

जयपुर | अखिल भारतीय समानता मंच कुचामन सिटी द्वारा आज राजधानी जयपुर में OBC /ST /SC के सवैंधानिक हकों के लिए राष्टव्यापी आंदोलन की चेतावनी दी इस अवसर पर संस्था के सयोंजक कर्नल नन्द किशोर ढाका ने बतया की  8 अगस्त 2018 से देश के 154 स्थानों पर  सवैंधानिक  अधिकारों के लिए अनशन चल रहा है लम्बे समयावधि के बाद भी सरकार व् प्रशासन ने आन्दोलनकारियों की कोई सुध नहीं ली | इस लंबी समयावधि के दौरान कुछ साथियों की तबियत ख़राब होने के चलते उन्हें icu में भर्ती कराया गया है लेकिन सरकार द्वारा कोई पहल नहीं की गई है ,जो की सरकार की गैर जिम्मेदाराना रवैये को द र्शाता है | अम्बेडकर सेवा संघ के जिलाध्यक्ष प्रो.सुरेश खिंची ने बताया की वर्तमान में आरक्षण को लेकर जो रोस्टर प्रणाली चलाई जा रही है वह गलत है आज हम सरकार का ध्यान इस और दिलाना जा रहे है की आरक्षण से आज किसे लाभ मिल रहा है आज SC को 15% , ST 7.5% व् OBc को 27%  आरक्षण का लाभ मिल रहा है जो की कुल 49 .5 होता है अर्थात जनसंख्या के 91 % जबकि बाकी सामान्य वर्ग जो की मात्र 9% है को 50 .5% मिल रहा है जो की शिक्षित व् विकसित जाती है इस कारण दलित ,पिछडो के अध