Skip to main content

Posts

Showing posts from August, 2018

राहुल गाँधी की मंदिर पॉलिटिक्स ने जुडा नया अध्याय -

दिल्ली | कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अब भाजपा को उसी के पतरे से हराने का मन बना चुके है जिस में भाजपा ने मास्टर कर रखी है या यु कहे की अब भाजपा के नक़्शे कदम पर कांग्रेस ने मंदिर पॉलिटिक्स चालू कर दी है  गौरतलब है की गुजरात चुनाव में राहुल गांधी गुजरात के प्रसिद्ध मंदिरों में धोक लगाने गए थे जिस को लेकर उनके हिन्दू होने को लेकर विरोधियों ने सवाल खड़े किये थे तब एक प्रेस कान्फेंस में कहा गया था की राहुल गांधी "जेनेऊ धारी' हिन्दू है और हाली में राजस्थान दौरे पर गए राहुल गाँधी जयपुर के मंदिर में भी धोक लगाने गए थे  और इस मंदिर  पॉलिटिक्स में अब एक नया अध्याय जुड़ने जा रहा है राहुल गांधी 12 दिनों की कैलास मानसरोवर की धार्मिक यात्रा पर जा रहे हैं। इसके सियासी क्या मायने होगे यह इसका जवाब तो समय या भोले बाबा ही दे सकते है |

RUSU छात्रसंघ चुनावों में घर की जमीन तक बिक जाती है -

जयपुर | राजस्थान युनिवर्सिटी के चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न हुए , कुछ छुट -पुट घटनाओं को छोड़ | इस बार के छात्र संघ चुनाव इस लिए भी रोचक रहे क्योकि इस बार निर्दलीय उमीदवार के रूप में बागी हुए प्रत्याशी मजबूती से मैदान में खड़े रहे |इस बार  राजस्थान युनिवर्सिटी के 22677 छात्रों में से कुल 11516 ही वोट डालने पहुंचे। जो कुल 50.78 प्रतिशत रहा। जो पिछले साल से 0.80 फीसदी कम है। फिलहाल मत पेटियों को सील बंद कमरे में रख दिया गया हा। इसके बाद 11 सितंबर को एकसाथ परिणाम जारी किए जाएंगे। राजस्थान यूनिवर्सिटी में एबीवीपी और एनएसयूआई के अलावा अध्यक्ष पद के 5 प्रत्याशी हैं। मतदान पर एक नज़र -  राजस्थान युनिवर्सिटी में 50.76 फीसदी मतदान हुआ। यहां वोटिंग को लेकर छात्रों में अच्छा रुझान देखने को मिला। महारानी कॉलेज में 6374 छात्रों में से 2785 ने वोट डाले । यहां 43.77 प्रतिशत पोलिंग हुई। यहां व्यवस्थाओं का जायजा लेने वीसी और वाइस चांसलर पहुंचे थे। कॉमर्स कॉलेज के 4265 छात्रों में से  1997 वोटर ही पहुंचे। यहां 46.82 फीसदी मतदान हुआ। इसका साथ राजस्थान कॉलेज में 61 फीसदी वोटिंग हुई। वहीं महाराजा कॉलेज में 12 बजे

अब इन के हाथ में होगी -राजस्थान विधानसभा चुनाव की जिम्मेदारी

विधानसभा आम चुनाव-2018   आनंद कुमार ने संभाला मुख्य निर्वाचन अधिकारी का पदभार - जयपुर, 31 अगस्त। नवनियुक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री आनंद कुमार ने शुक्रवार को प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी का कार्यग्रहण कर लिया। रेवाड़ी (हरियाणा) निवासी श्री आनंद कुमार 1994 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। श्री कुमार धौलपुर, डूंगरपुर, बाड़मेर, राजसमंद, भरतपुर और उदयपुर के कलेक्टर और बीकानेर में संभागीय आयुक्त, राजस्थान आवासन मंडल के आयुक्त, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज में सचिव भी रह चुके हैं। इससे पहले श्री कुमार चिकित्सा शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव के पद पर कार्यरत थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में विधानसभा आम चुनाव-2018 को स्वतंत्र-निष्पक्ष और शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराना ही उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस अवसर पर उन्होंने विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर कार्यों की समीक्षा भी की।

"अखिल भारतीय समानता मंच " ने अधिकारों के लिए उठाई आवाज -

जयपुर | अखिल भारतीय समानता मंच कुचामन सिटी द्वारा आज राजधानी जयपुर में OBC /ST /SC के सवैंधानिक हकों के लिए राष्टव्यापी आंदोलन की चेतावनी दी इस अवसर पर संस्था के सयोंजक कर्नल नन्द किशोर ढाका ने बतया की  8 अगस्त 2018 से देश के 154 स्थानों पर  सवैंधानिक  अधिकारों के लिए अनशन चल रहा है लम्बे समयावधि के बाद भी सरकार व् प्रशासन ने आन्दोलनकारियों की कोई सुध नहीं ली | इस लंबी समयावधि के दौरान कुछ साथियों की तबियत ख़राब होने के चलते उन्हें icu में भर्ती कराया गया है लेकिन सरकार द्वारा कोई पहल नहीं की गई है ,जो की सरकार की गैर जिम्मेदाराना रवैये को द र्शाता है | अम्बेडकर सेवा संघ के जिलाध्यक्ष प्रो.सुरेश खिंची ने बताया की वर्तमान में आरक्षण को लेकर जो रोस्टर प्रणाली चलाई जा रही है वह गलत है आज हम सरकार का ध्यान इस और दिलाना जा रहे है की आरक्षण से आज किसे लाभ मिल रहा है आज SC को 15% , ST 7.5% व् OBc को 27%  आरक्षण का लाभ मिल रहा है जो की कुल 49 .5 होता है अर्थात जनसंख्या के 91 % जबकि बाकी सामान्य वर्ग जो की मात्र 9% है को 50 .5% मिल रहा है जो की शिक्षित व् विकसित जाती है इस कारण दलित ,पिछडो के अध

भीम संसद बनाम धर्म संसद - आखिर क्यों -

कानून व्यवस्था को ठेगा दिखाते - हिन्दू संगठन , मोदी सरकार लाचार- जयपुर | आज मोदी सरकार में जिस तरह से साम्प्रदायकता का उन्माद चरम सीमा को पार कर रहा है ,वह मोदी सरकार की कमजोरी ,लाचारी को दिखाता  है केसे 56 इंच का सीना दिखाने वाले प्रधानमंत्री मोदी चुप -खामोश मूक दर्शक बने बेठे है ऐसी कौनसी मजबूरी है इस कानून व्यवस्था की आज कुछ असामजिक स्वकथित हिन्दू संगठन अपना निजी कोर्ट / न्यायालय खोल रहे है , आज यह संविधान , न्यायलय से बड़े हो गए है क्या - आज यह सोचनीय ,विचारनीय है | भीम संसद बनाम धर्म संसद -  गौरतलब है की अभी कुछ समय पूर्व  माननीय उच्चतम न्यायालय  ने SC/ST ACT निष्क्रिय किया था ,जिसके बाद दलित ,पिछड़े वर्ग के लोगो के साथ मारपीट ,हत्या ,लुट जैसी घटनाओं की देश में बाढ़ सी आ गई थी , और इसके साथ ही दलित समाज की 3 साल की बच्ची से लेकर 80 साल की बुजर्ग महिला के साथ अमानवीय कृत्य , बलत्कार जैसी घटना सामने आई  जिसके कारण देश -विदेश में देश की छवि बिगड़ने लगी ,मित्र देशो ने अपने पर्यटन नागरिको को भारत देश में रात में सफ़र करने को मना किया , जिसके बाद दलित समाज ने अपने अधिकारों और न्याय के लिए मा

सरकारी दूध बेचने वाले आज मीडिया मालिक - गहलोत

ख़ास नज़र आज के मीडिया पर - सच छुपाने वाला मीडिया बनाम सच दिखाने वाला मीडिया -  पूरे हिंदुस्तान में मीडिया 2 धड़ों में बँट गया है-सच छुपाने वाला मीडिया बनाम सच दिखाने वाला मीडिया। बड़ा मीडिया जिसे शोरूम वाला मीडिया कहा जाता है जिसके शोरूम पर फिल्मी कलाकार विजिट करते है, जिसका सर्कुलेशन अपेक्षाकृत ज्यादा होने के कारण विज्ञापन कंपनियों द्वारा उन्हें मैनेज किया जाता है, बदले में वह बन जाता है सच छुपाने वाला मीडिया, उनके पत्रकार का रूप धरे मार्केटिंग मैनेजर प्रेस कॉन्फ्रेंस में सर, सर बोलकर खुशामद वाले सवाल पूछते है, वन टू वन पर भी सिर्फ जैसे उन्हीं का हक़ हो, और वन टू वन के बहाने उनके साथ सेल्फियां लेते है और वह पत्रकार का रूप धरे मार्केटिंग मैनेजर और उनके शोरूम के मालिक सच दिखाने वाला मीडिया को जड़ से नष्ट कर देना चाहते है, सच दिखाने वाले गरीब मीडिया के पास सर्कुलेशन अपेक्षाकृत कम होता है, लेकिन सच्चाई 100 टका होती है, और उसी के कारण पत्रकारिता जिन्दा है, वर्ना बड़ा मीडिया तो चाहता ही नहीं कि छोटा मीडिया और उनके पत्रकार जिन्दा रहें, असल में वह यह भी नहीं चाहता कि पत्रकार जिन्दा रहें, इसीलिए 15

RU छात्र संघ चुनाव - क्या दलित होने के कारण नकारे गए - विनोद जाखड़

राजस्थान विश्वविधालय  छात्रसंघ चुनाव - जयपुर | राजस्थान विश्वविद्यालय छात्र संघ चुनाव से इस बार सुर्खियों में है NSUI के बागी प्रत्याशी विनोद जाखड़ जिसको लेकर कहा जा रहा है की वह "जातिवाद का शिकार "हो गए  है | कौन है विनोद जाखड़ -  विनोद जाखड़ NSUI  के युवा ,जुझारू नेता है इससे पूर्व में वह राजस्थान कॉलेज के अध्यक्ष रहे है | विनोद जाखड़ युवा वर्ग में काफी लोकप्रिय व्  निरंतर अध्यक्ष पद के लिए प्रयासत रहे है लेकिन NSUI  संघटन ने उन्हे राजस्थान विश्वविद्यालय के चुनाव में अध्यक्ष पद का प्रत्याशी नहीं बनया जिसके बाद विश्विद्यालय में छात्र वर्ग में NSUI संघटन से नाराजगी जताई है | कुछ दिनों पूर्व ही राजस्थान विश्वविद्यालय में NSUI के प्रत्याशी के रूप में विनोद जाखड़ ने शक्ति प्रदर्शन किया था जिसमे हजारो  की संख्या में छात्रों ने विनोद का साथ दिया था अब यह देखना बड़ा रोचक हो गया है की युवा वर्ग जिसके साथ है जब NSUI  संघटन ने उसका ही टिकट काट दिया तो क्या NSUI पैनल जीत पायेगा | क्या जातिवाद के शिकार हुए - विनोद जाखड़ - आरोप लगाया जा रहा है की NSUI संघटन ने जाति  देख विनोद जाक ड़ का टिकट काट

राजनैतिक दलों का खर्च अब होगा सीमित - बुलाई गई अहम् बैठक

  चुनाव सुधारों पर राजनैतिक दलों की अहम् बैठक - ख़ास नज़र  भारत के निर्वाचन आयोग ने सभी मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय राजनैतिक दलों और राज्य के राजनैतिक दलों के साथ 27 अगस्त, 2018 को नई दिल्ली में एक बैठक बुलाई है। इस बात पर गौर करते हुए कि भारत की निर्वाचन प्रणाली में राजनैतिक दल महत्वपूर्ण साझेदार हैं, निर्वाचन आयोग समय-समय पर सभी मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के साथ विचार-विमर्श करता रहता है ताकि महत्वपूर्ण विषयों पर उनके विचार प्राप्त हो सकें। निर्वाचन आयोग हमेशा से वर्तमान निर्वाचन प्रणाली और अपनी कार्य पद्धति में सुधार करके देश की लोकतांत्रिक प्रणाली को मजबूत बनाने के कार्य में लगा हुआ है। बैठक में सभी 7 पंजीकृत राष्ट्रीय राजनैतिक दलों और 51 राज्य राजनैतिक दलों को  आमंत्रित किया गया है। बैठक की कार्य सूची में शामिल है – मतदाता सूची की विश्वसनीयता। निर्वाचन आयोग ने आगामी लोकसभा और विधानसभा चुनावों को देखते हुए मतदाता सूचियों की विशुद्धता, पारदर्शिता और सम्मिलितता में सुधार करने के उपायों के बारे में सभी राजनैतिक दलों के विचार आमंत्रित किए हैं। राजनैतिक दलों में लिंग प्रतिनिधित्‍व और तु

इम्तिआज़ अली मीडिया के सवालों से दिखे असहज -

फिल्म लेला मजनू का प्रोमोशन जयपुर में - जयपुर | साजिद अली निर्देशित फिल्म "लेला मजनू " जिसके कहानीकार इम्तिआज़ अली एवं प्रोडूसर एकता कपूर है जिसका प्रमोशन आज जयपुर शहर में किया गया | मीडिया से रूब -रु होते हुए इम्तिआज़ अली ने फिल्म की कहानी के बारे में बताया फिल्म में न्यू कर्मस ने काम किया है , मीडिया के कुछ  सवालों के जवाब में इम्तिआज़ अली असहज रहे , एक मीडिया कर्मी ने इम्तिआज़ अली से सवाल किया की आप ने पूर्व में बनी ऋषि कपूर की फिल्म "लेला मजनू" देखी है तो इम्तिआज़ ने कहा की उन्होंने वह फिल्म नहीं देखी है इसके बाद दुसरे सवाल पर इम्तिआज़ उखड गए जब उन से पूछा गया की आप की फिल्म के दर्शक कोन होगे तब इम्तिआज़ ने प्रेस - कांफ्रेस ख़त्म कर दी उसके बाद आयोजकों ने मीडिया कर्मियों से अपशब्द कहे ,जिसके बाद स्थिति असज हो गई |    

राजस्थान मालपुरा में "गोधरा कांड" जैसी घटना - क्षेत्र में तनाव

मालपुरा - कांवड़ियों पर समुदाय विशेष द्वारा हमला - आखिर क्यों टोंक | मालपुरा में कावड़ यात्रिओं पर समुदाय विशेष द्वारा एका -एक हुए हमले ने जो हिंसक रूप लिया है वह आज हमे विचलित करने वाला है , आखिर क्यों कांवडियो पर समुदाय विशेष के लोगों ने हमला किया - यह प्रश्न जांच का विषय है | [caption id="attachment_8027" align="alignright" width="373"] कावड़ियों से मारपीट[/caption] क्या है पूरा मामला -  23 अगस्त को कांवड़ यात्रा निकल रही थी जैसे ही यात्रा एक मज्ज्दि के सामने से निकली तो समुदाय विशेष के लोगो द्वारा यात्रिओं पर लाठी - सरियो से हमाल किया जिसमे 16 लोग घायल होगये , जिसके बाद माहौल ख़राब हो गया भीड़ ने आगजनी की घटना की | आखिर यह घटना क्या दर्शाती है - गोरतलब है की गुजरात में भी गोधरा काण्ड कुछ इस ही तरह की घटना द्वारा होवा था तब राज्य के मुख्यमंत्री वर्तमान प्रधानमंत्री मोदी थे , उस वक्त की घटना बाद राज्य में हिन्दू -मुस्लिमो में दंगे हो गए थे , जिसका परिणाम घातक था जो सबके सामने था , आज उसी घटना क्रम में मालपुरा खड़ा है | धारा 144 - मालपुरा में धटना के बाद स्थिति

छात्रसंघ चुनाव - ABVP व् NSUI ने इन प्रत्याशियों पर लगाया दाव -

राजस्थान विश्विधालय में ABVP व् NSUI ने आज अपने उमीदवारो की घोषणा कर दी | वही सत्ता धारी भाजपा ने अपने छात्र संघ विंग से राजपाल चौधरी को मैदान में उतारा है तो दूसरी और कांग्रेस छात्र विंग nsui से रणवीर सिंघानिया को मैदान में उतारा है | ABVP पैनल -  उपाध्यक्ष - अनुराधा मीना महासचिव -दिनेश चौधरी संयुक्त सचिव - मीनल शर्मा NSUI पैनल - उपाध्यक्ष - सोनल गुर्ज्जर महासचिव -चेतन यादव संयुक्त सचिव - नुमान खान क्यों ख़ास है इस बार का चुनाव - राजस्थान में तीन माह बाद विधानसभा चुनाव होने है जिसमे सत्ताधारी भाजपा व् विपक्ष कांग्रेस पार्टी अपना पूरा जोर दिखा रही है वही राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जहाँ एक और गौरव यात्रा निकाल रही है वही दूसरी और कांग्रेस संकल्प रेली निकाल रही है , कुल मिलाकर इस बार चुनावी रण जनता के बीच में तो महत्पूर्ण है ही साथ में युवा वर्ग अपना रुख किस और होगा यह एक महत्वपूर्ण पहलु है ,क्योकि छात्र संघ चुनावों के परिणाम एक सन्देश ही होगा दोनों पार्टियों के लिए |

अब राजस्थान में होगा - "अटल शक्ति स्थल "आखिर क्या है वजह -

अटल जी ने भारत को बनाया दुनिया की महाशक्ति - मुख्यमंत्री  जयपुर, 24 अगस्त। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि भारत को एक म हाशक्ति के रूप में स्थापित करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति में पोकरण में ‘अटल शक्ति स्थल’ बनाया जाएगा। श्रीमती राजे ने कहा कि पोकरण में परमाणु परीक्षण कर श्री वाजपेयी ने भारत को दुनिया भर में एक महाशक्ति के रूप में प्रस्तुत किया था। इन परमाणु परीक्षणों के कारण भारत पर कई देशों ने प्रतिबंध लगा दिए। इसके बावजूद श्री वाजपेयी ने साबित कर दिया था कि उनके इरादे अटल थे। मुख्यमंत्री राजे शुक्रवार को जैसलमेर जिले के रामदेवरा में करीब 95 करोड़ के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास करने के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रही थी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर स्व. वाजपेयी को श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें याद करते हुए कहा कि अटल जी का पोकरण से जो रिश्ता रहा है उसे पूरी दुनिया जानती है।

बाबा साहब के पौत्र प्रकाश अम्बेडकर ने कहा -

भीम संसद की मुहीम पर लगी मोहर - जयपुर | दलित समाज व् उससे जुड़े मुद्दों पर राजधानी जयपुर में " संविधान व लोकतंत्र मे दलित समाज की भूमिका " विषय पर विचार गोष्टी का आयोजन किया गया | जिसकी अध्यक्षता बाबासाहेब के पौत्र श्रीमान प्रकाश अम्बेडकर ने की इस संगोष्ठी मे राजस्थान के सभी जिलों से SC ST OBC एवं अल्पसंख्यको के विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी एवं समान विचारधारा वाली राजनीतिक पार्टियों के पदाधिकारीयो ने भाग लिया | संगोष्ठी मे संविधान व आरक्षण की किस  प्रकार से रक्षा की जाय तथा  वर्तमान परि स्थितियों से कैसे निपटा जाय विचार -विमर्श किया गया | । संगोष्ठी मे श्रीमान प्रकाश अम्बेडकर जी ने अपने भाषण मे बताया कि हमें अपना मैदान तैयार करना चाहिए जिसका इंजन हम हो हमारे पिछे अन्य डिब्बे हो, इसके लिए हमें अपने अपने क्षैत्रों मे जाकर सारे मतभेद भुलाकर एक होकर अपनी मुख्य भूमिका निभाते हुए समाज को एक करना होगा तभी हम संविधान व आरक्षण को बचा सकते हैं साथ वर्तमान परिस्थितियों से लडा जा सकेगा। राजस्थान की राजनीती में दलित लीडरशिप के मुद्दे पर मुख्य अतिथि प्रकाश अम्बेडकर ने कहा की आज समाज को युवा

किशनपोल विधानसभा में 9,559 जाली फर्जी मतदाताओं का खुलासा-

अमीन कागज़ी द्वारा किशनपोल विधानसभा क्षेत्र (052) में 19,559 जाली फर्जी मतदाताओं का खुलासा - जयपुर | कांग्रेस पार्टी के किशनपोल विधानसभा से विधायक पद के प्रत्याशी अमिन कागज़ी ने 19,559 फर्जी वोटरों की पहचान की है | कांग्रेस प्रत्याशी अमिन कागज़ी ने मतदाता सुची में पाए गई गड़बड़ी की सूचना जिला निर्वाचन अधिकारी और जिला कलेक्टर सिद्धार्थ महाजन को तथ्यों के साथ दी ,जिस पर जिला निर्वाचन अधिकारी  उचित करवाई का आश्वासन दिया है | एक नज़र -  गत विधानसभा चुनावों में किशनपोल विधानसभा चुनावों में फर्जी वोटरों का होना पाया गया था , जिसको लेकर भाजपा के वर्तमान विधायक मोहन लाल गुप्ता व् कांग्रेस के प्रत्याशी अमिन कागज़ी में रामगंज क्षेत्र में नोक -झोक हुई थी |  कांग्रेस कार्यकर्ता कर रहे है वोटर लिस्ट फ़िल्टर - अमिन कागज़ी के कार्यकर्ताओं द्वारा वोटर लिस्ट फ़िल्टर करने के दौरान यह गड़बड़िया सामने आई है 2,06,000 मतदाताओं की वोटर लिस्ट में से पहचान पत्रों की जांच में से  19,559 फर्जी मतदा ताओं के नाम किशनपोल विधानसभा क्षेत्र में जुड़े पाए गए है  जिनमें पुरुष और महिला दोनों के नाम वोटर लिस्ट में शामिल है इन में अधि

राजस्थान विश्वविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव का ऐलान -

31 अगस्त को होगे  छात्र संघ चुनाव - जयपुर, 20 अगस्त। प्रदेश की 14 विश्वविद्यालय और उनसे संबंद्ध महाविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव दो चरणों में आयोजित किए जाएंगे। जोधपुर संभाग में 10 सितंबर को वहीं संपूर्ण प्रदेश में 31 अगस्त को चुनाव करवाए जाएंगे। प्रदेश भर में मतगणना 11 सिंतबर को एक साथ करवाई जाएगी। उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने सोमवार को बताया कि लिंगदोह समिति की सिफारिशों के अनुसार प्रदेश की सभी महाविद्यालय और विश्वविद्यालयों में चुनाव करवाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि जोधपुर संभाग को छोड़कर समस्त प्रदेश भर में मतदाता सूचियों का प्रकाशन 23 अगस्त को किया जाएगा। 24 अगस्त को मतदाता सूचियों पर आपत्ति प्राप्त करना और मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा। 25 अगस्त को उम्मीदवार नामांकन पत्र दाखिल कर पाएंगे। इसी दिन उम्मीदवारों के नामांकन पत्रों की जांच और आपत्तियां प्राप्त की जाएंगी। वैद्य नामांकन सूची का प्रकाशन, उम्मीदवारों द्वारा नाम वापसी और उम्मीदवारों की अंतिम नामांकन सूची का प्रकाशन 27 अगस्त को होगा जबकि 31 अगस्त को सुबह 8 बजे से अपरान्ह 1 बजे तक मतदान प्रक्रिया सम्

राजस्थान विधानसभा - "भीम संसद " युवाओं को उतारेगी चुनाव मैदान में -

"भीम संसद "अभियान को मिला रहा है बहुजन समाज का साथ - जयपुर | बहुजन समाज में लम्बे समय से " युवा नेतृत्व " की कमी समाज को खल रही थी , जिसकी पूर्ति के लिए बहुजन समाज ने भीम संसद के माध्यम से दूर करने का प्रण लिया है | नई लीडरशिप का आगाज - भीम संसद के द्वारा बहुजन समाज के उन युवा साथियों को राजनेता बनाने का प्रयास किया जा रहा है जो की समाज की स्थिति को समझते हो , वर्तमान समस्याओं से अवगत हो ,इसके साथ ही अभियान के अंतर्गत समाज के युवाओं से  साक्षात्कार लिया जायेगा , जिसमे समाज के विकास , रो   जगार , महिला सशक्तिकरण , दलित हत्याचार , समाज में दलितों की स्थिति ,कारण व् निवारण के पहलुओं पर विचार - विमर्श कर योग्य  उमीदवार को भीम संसद विधायक चुनाव में अपने प्रत्याक्षी के  रूप में चुनाव मैदान में उतारेगी , साथ ही आर्थिक मदद भी करेगी | भीम संसद की जरूरत क्यों पडी ओर भीम संसद का नाम किसकी सलाह से बनाया गया - आज के परीवेश मे भारतवर्ष मे बाबासाहेब द्वारा इन मनुवादीयो द्वारा बिछाए गए जाल मे से बाहर निकालने का प्रयत्न कर हमे समानता का अधिकार व आरक्षण संविधान के माध्यम से दिलाया

"अटल "अब कविताओं में , 7 दिवसीय राजकीय शोक घोषित

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने आज सुबह अन्तिम साँस ली , वह लम्बे समय से बीमार चल रहे थे | बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी ने अटल जी से मिलने एम्स पहुंचे थे तथा करीब एक घंटे तक एम्स के डॉक्टरों से वाजपेयी के स्वास्थ्य पर चर्चा की थी वही दूसरी और एम्स मेडिकल बुलेटिन जारी कर बताया कि पिछले 24 घंटों में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बिगड़ी है। वह अभी लाइफ सपॉर्ट सिस्टम पर हैं लेकिन दोपहर बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया गया | लम्बे समय से थे बीमार हैं वाजपेयी जी - गोरतलब है  कि वाजपेयी काफी दिनों से बीमार हैं और वह करीब 15 साल पहले राजनीति से संन्यास ले चुके थे। अटल बिहारी वाजपेयी ने लाल कृष्ण आडवाणी के साथ मिलकर भाजपा की स्थापना की थी और उसे सत्ता के शिखर तक पहुंचाया। भारतीय राजनीति में अटल-आडवाणी की जोड़ी सुपरहिट साबित हुई है। अटल बिहारी देश के उन चुनिन्दा राजनेताओं में से हैं जिन्हें दूरदर्शी माना जाता है। उन्होंने अपने राजनीतिक करियर में ऐसे कई फैसले लिए जिसने देश और उनके खुद के राजनीतिक छवि को काफी मजबूती दी।

प्रधानमंत्री मोदी भाषण - कुछ सपने , कुछ जुमले

दिल्ली | आज देश अपनी आजादी की 72 वीं वर्षगाँठ मना रहा है इस अवसर पर देश के प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधन किया ,  प्रधानमंत्री मोदी के भाषण में देश के सभी गंभीर विषयों पर अप्रत्यक्ष रूप से अपने विचार प्रकट करे |   प्रधानमंत्री के भाषण की मुख्य बाते - तीन तलाक पर मोदी ने कहा की मुस्लिम महिला ओं के साथ गंभीर अन्यया होता है इस कुप्रथा को ख़त्म करने लिए हमारी सरकार प्रयासरत है कुछ लोग हमारी प्रयास में रोढे दाल रहे है लेकिन हम सकारात्मक रूप से मुस्लिम बहनों को इश्वास दिलाता हों , हम उनके साथ मजबूती से खड़े  और उन्हें न्याय दिला के रहेगे | राक्षसी प्रवृत्ति पर प्रहार करने की आवश्यकता है, महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान को अक्षुण्ण रखने के लिये किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं दी जा सकती। महिला अधिकारियों के शॉर्ट कमीशन सर्विस के माध्यम से चयन की आज लालकिले से मैं घोषणा करता हूं। जम्मू-कश्मीर के लिए अटल जी का आह्वान था- इंसानियत, कश्मीरियत, जम्हूरियत। मैंने भी कहा है, जम्मू- कश्मीर की हर समस्या का समाधान गले लगाकर ही किया जा सकता है। हमारी सरकार जम्मू-कश्मीर के स

यह कोन लोग है जो भारतीय संविधान जला रहे है -

आज देश शर्मिंदा है की कुछ राष्ट -विरोधी ,असामाजिक तत्वों ने भारतीय संविधान की प्रतियाँ जलाई संसद मार्ग पर आखिर क्यों - जाने ख़ास वजह  जिस देश ने ,जिस संविधान ने तुम्हे इतनी आजादी दी की तुम " अभिव्यक्ति की आजादी " के नाम पर अपने विचार प्रकट कर सकते हो , आज तुम ने उसे ही जला दिया दुसरे अर्थो में कहे तो जिस माँ ने तुम्हें जन्म दिया तुमने उसी का गला घोट दिया , सोचो तुम केसी गन्दी मानसिकता के इंसान हो ....सोचो .....सोचो...... सोचो  तुम खुद मर जावोगे , राष्ट - विरोधी तत्वों |    बात कुछ ऐसी है - इन मनुवादीयो ने आज संविधान जलाया।पहले भी इन्हीं मनुवादीयो ने संविधान जलाया था तब बाबासाहेब संसद अकेले थे ओर आज बाबासाहेब की वजह से सैकड़ों सांसद व हजारों की संख्या में विधायक हैं लेकिन वे सब गये बीते हो गये जो ऐसी संविधान विरोधी घटना पर एक शब्द तक नहीं बोल पा रहे हैं  ,उन्हें तो चुल्लू भर पानी मे डूबकर मर जाना चाहिए जिसकी वजह से वो आज ऐसोआराम कर रहे हैं। 2 अप्रेल की घटना ओर संविधान जलाने की घटना यानि इतनी बडी घटनाओं के बावजूद इन्हें जरा भी शर्म नहीं आ रही सब चुपचाप हैं अन्यथा सभी को इस्तीफा द

जयपुर - संविधान की प्रति जलाने वाले राष्ट-विरोधी तत्वों पर केस दर्ज

भाजपा के शासन में जातिवादी शक्तियां बेलगाम - धर्मेन्द्र कुमार जाटव जयपुर |आज प्रेस से मुखातिब होते हुए टीम राजस्थान के संयोजक श्री धर्मेन्द्र कुमार जाटव ने बताया कि संघ भाजपा के सत्ता में आने के बाद से जातिवादी शक्तियां  पूरी तरह बेलगाम हो गई है और इनकी जुल्म ज्यादती का शिकार वे ही लोग हो रहे है जो हिन्दू धर्म में व्याप्त जाति व्यवस्था के निचले पायदान पर है। जातिवादियों द्वारा दलित आदिवासी समाज को ही शुरू से टारगेट बनाया जाता रहा है जिससे कि इन्हें दबा कर रखा जा सके और इनकी इनके साथ समानता व न्यायपूर्ण व्यवहार की मांग को ही ना पनपने दिया जा सके। ताजा घटना क्रम में गत 9 अगस्त 2018 को कुछ जातिवादी असामाजिक तत्वों ने समानता, स्वतंत्रता व् न्याय जैसे मूल्यों को खारिज करने के लिए दिल्ली के संसद मार्ग पर दिन दहाड़े भारतीय संविधान की प्रतियों को जला दिया। संविधान की प्रतियों को जला कर जिस प्रकार संविधान मुर्दाबाद के नारे लगाए गए और संविधान के चीफ आर्किटेक्ट डॉ बी आर आंबेडकर जी को अपमानित करने वाले नारे लगाए गए, ऐसा लगता है कि इन जातिवादी ताकतों ने हमारी सम्पूर्ण संवैधानिक व्यवस्था के खिलाफ ही

राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री मोदी के 56 इंच के सिने पर कहा -

56 इंच के सीने वाले प्रधानमंत्री किसानों, महिलाओं व कमजोर तबकों की बदहाली पर क्यों मौन है, देश जानना चाहता है : राहुल गाँधी जयपुर, 11 अगस्त। चौकीदार बताकर भागीदार बनने वाले देश के प्रधानमंत्री ने पूँजीपति मित्रों को फायदा पहुॅंचाकर आम जनता के साथ धोखा किया है। राफेल विमान की खरीद में तीन गुना की बढ़ोत्तरी कर भ्रष्टाचार को संस्थागत किया गया है और ऐसे ज्वलंत मुद्दों पर जवाब मॉंगने पर 56 इंच की छाती वाले प्रधानमंत्री मौन हो जाते हैं। एनडीए सरकार में तीन रक्षा मंत्री बदले हैं, परन्तु किसी को भी जानकारी नहीं है कि फ्रांस के साथ राफेल विमान सौदे में क्या प्रक्रिया अपनाई गई है, पूरा देश जानता है कि राफेल विमान के कॉन्ट्रेक्ट के समय प्रधानमंत्री के साथ फ्रांस कौन गया था और यही वे पँूजीपति मित्र हैं जिन पर 45 हजार करोड़ रूपये का कर्जा है जिनको फायदा पहुॅंचाने के लिए प्रधानमंत्री प्रयासरत हैं।  उक्त विचार कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गॉंधी ने आज प्रदेश कांग्रेस कमेटी द्वारा जयपुर के रामलीला मैदान में आयोजित प्रतिनिधि सम्मेलन को सम्बोधित  तर्कशील व क्षमतावान हैं, परन्तु दुर्भाग्य है कि उन्हें अवसर

तलाक ....तलाक .......तलाक ......अभी नहीं - मोदी सरकार

दिल्ली |   मोदी सरकार तीन तलाक बिल को राज्य सभा में पारित करना चाहती थी ,लेकिन आज  मोदी सरकार ने राज्य सभा में बिल को पेश नहीं किया ,अब तीन तलाक बिल को अब शीतकालीन सत्र में ही पेश किया जायेगा | सूत्रों के अनुसार मोदी सरकार तीन तलाक बिल पर अध्यादेश ला सकती है , मोदी सरकार द्वारा बिल को पहले ही मंजूरी मिल चुकी है उसके मुताबिक ये तय किया गया है कि संशोधित बिल में दोषी को ज़मानत देने का अधिकार मेजिस्ट्रेट के पास होगा और कोर्ट की इजाज़त से समझौते का प्रावधान भी होगा ,ज्ञात हो  कि [caption id="attachment_7928" align="alignright" width="434"] s net[/caption] संसद का मॉनसून सत्र आज यानी शुक्रवार को ख़त्म हो रहा है |   सूचना थी  कि मोदी सरकार ट्रिपल तलाक बिल को राज्यसभा में पारित करवाने के लिए मॉनसून सत्र एक दिन के लिए बढ़ा भी सकती है लेकिन अब यह साफ़ हो चूका है की सरकार शीतकालीन सत्र में भी बिल को पेश करेगी मोदी सरकार के पास बिल के लिए सटीक रणनीति भी है जिसके तहत मोदी सरकार तीन  तलाक बिल  पर अध्यादेश ला सकती है या फिर आपातकालीन कार्यकारी आदेश प्रस्ताव भी ला सकती है |

बहुजन समाज करें 9 अगस्त भारत बंद कॉल का बहिष्कार - धर्मेन्द्र कुमार जाटव

आज एक कार्यक्रम में मीडिया द्वारा 9 अगस्त भारत बंद कॉल पर पूछे गए सवाल के जबाब में टीम राजस्थान के संयोजक श्री धर्मेन्द्र कुमार जाटव ने बताया कि "टीम राजस्थान" इस भारत बंद कॉल का पूर्णतया बहिष्कार कर रही है और यह भी बताया कि यह कॉल महज एक पोलिटिकल स्टंट है, SC/ST Act के कमजोर किये जाने एवं भाजपा की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ 2 अप्रैल को गरीब वंचित समाज के लोगो खास कर दलित आदिवासी वर्ग के लोगो द्वारा किये गए आन्दोलन के चलते आज भाजपा का चाल चरित्र और चेहरा पूरी तरह से उजागर हो चुका है। और अब भाजपा के नेता 9 अगस्त भारत बंद के ड्रामे के माध्यम से इस नुकशान की भरपाई करने का प्रयास कर रहे है। ज्ञात हो की पिछले 1 अगस्त को हुई कैबिनेट मीटिंग में भाजपा सरकार को 2 अप्रैल आंदोलन के ही चलते SCST Act को पूर्व स्थिति में लाने का फैसला लेने पर मजबूर होना पड़ा है, खबर के अनुसार इस बाबत बिल भी तैयार है और सरकार जल्द से जल्द संसद में इसे पास करवाने के दबाब में है। ऐसे में यह साफ है कि भाजपा के सांसद श्री उदित राज और NDA में शामिल सांसद श्री रामविलास पासवान और उनके बेटे श्री चिराग पासवान 9 अगस्त

भीम संसद - दलित समाज में एक क्रांति

जयपुर | दलित समाज को राजनीति में उचित प्रतिनिधत्त्व ना मिलने के कारण , समाज में भारी रोष है | आज राजनेतिक  पार्टिया आरक्षित सीट पर ऐसे लोगो को टिकट दे कर जीता रही है जो की मात्र मूक -बधिर बने रहे ,यह दलित समाज को मुख्यधारा से वंचित करने का एक अनूठा तरीका वर्तमान में सभी राजनेतिक पार्टिया अपना चुकी है जो की निराशा- जनक है आज हमारे समाज को ऐसे युवा ओं की आवश्यकता है जो शिक्षित हो  , समाज की स्थिति और समाज में हो रहे हत्याचार के विरोध में आवाज उठा सके - यह कहना है सामाजिक कार्यकर्ता -  दयाल चंद भाटी का | कुछ ख़ास - गोलमेज सम्मेलन  पिछले - जून माह में दलित समाज द्वारा प्रथम अम्बेडकराईट्स गोलमेज सम्मेलन आयोजित किया गया , जिसमे दलित समाज से हजारो लोगो ने हिस्सा लिया साथ ही बहुमत के साथ यह निर्णय लिया गया की आगामी चुनावों में समाज के ऐसे युवाओं को राजनीती में भेजा जाए जो विधानसभा से संसद तक समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति की आवाज को लोकत्रंत के मंदिर में पुर -जोर से उठा सके | अधिवेशन में समाज की वर्तमान समस्याओं और उनके निवारण पर गहन चिन्तन - मंथन किया गया | देश में दलितों की स्थिति -  एक नजर

BJP देश के लिए खतरा बन गई है - पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव

जयपुर में गरजे शरद बीजेपी और राजे सरकार को जमकर कोसा- लोकतांत्रिक जनता दल राजस्थान के पहले कार्यकर्ता अधिवेशन कार्यक्रम में आज पूर्व  केंद्रीय मंत्री शरद यादव ने शिरकत की , यादव आज सुबह करीब 10:15 बजे फ्लाइट द्वारा जयपुर एयरपोर्ट पहुंचे यहां से मानसरोवर स्थित लोकतांत्रिक जनता दल पार्टी के नवगठित कार्यालय पर गए और पार्टी कार्यालय का उद्घाटन किया उद्घाटन के बाद शरद यादव टैगोर स्कूल स्थित कार्यकर्ता सम्मेलन में पहुंचे यहां करीब 1 घंटे तक उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया और देश के वर्तमान हालातों के मद्देनजर गंभीर स्थितियों से अवगत कराया यादव ने राजस्थान और देश की बिगड़ती स्थिति पर चिंता व्यक्त की उन्होंने कहा कि अब BJP देश के लिए खतरा बन गई है बीजेपी ने जीएसटी और नोटबंदी से उद्योग धंधों को चौपट कर दिया और बीजेपी अपने किसी भी वादे पर अब तक खरी नहीं उतरी है ना ही BJP की नीतियों को देख कर लगता है कि वह 2019 के बाद भी देश की अपेक्षाओं और युवाओं के रोजगार देने में सहयोगी बनेगी यादव ने वसुंधरा सरकार पर निशाना साधते हुए पहलू खान और अकबर के मरने पर अफसोस जताया उन्होंने कहा कि bjp ए

राजनीति की गरिमा को तार-तार कर रही है भाजपा : पायलट

जयपुर, 04 अगस्त। राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष  अमित शाह द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष  राहुल गाँधी को लेकर की गई अनर्गल टिप्पणियों को राजनीति की गरिमा को तार-तार करने वाला बताया है।  पायलट ने कहा कि श्री अमित शाह द्वारा जिस तरह की बयानबाजी की गई है उससे स्पष्ट हो गया है कि भाजपा के पास जनता को बताने के लिए कुछ भी नहीं है क्योंकि केन्द्र व राज्य की भाजपा सरकार ने जिस तरीके से शासन चलाया है उसमें हर स्तर पर जनता की अनदेखी हुई है। उन्होंने कहा कि अपनी जवाबदेही से बचने के लिए भाजपा के नेता जिस भाषा का इस्तेमाल कर रहे है वह उनकी संकीर्ण व ओछी सोच का परिचायक है। उन्होंने कहा कि राजस्थान गौरव यात्रा निकालने के नाम पर किए जा रहे भाजपा के ढोंग की शुरूआत के अवसर पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कम से कम प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा किया गया कोई ऐसा एक काम तो गिना देते जिससे प्रदेश का गौरव बढ़ा हो। उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि भाजपा के राज में प्रदेश अराजकता, भ्रष्टाचार, महंगाई,अपराधों व महिला उत्पीडऩ की पराकाष्ठा के कारण त्रस्त है और निहित स्वार्थ

"गौरव यात्रा" नही यह सत्ता का "घमंड यात्रा" है - धर्मेन्द्र कुमार जाटव

 " गौरव नहीं कुराज यात्रा - राजस्थान में भाजपा सरकार की मुख्य मंत्री वसुंधरा जी प्रदेश भर से होकर "गौरव यात्रा" निकाल रही है। ज्ञात हो पहले इस यात्रा का नाम "सुराज" यात्रा रखा गया था।लेकिन अपने "कुराज" का अच्छे से भान होने के चलते मैडम जी ने इसका नाम अब " गौरव यात्रा" रखा है। मेरा मैडम जी को सजेशन है कि "गौरव यात्रा" भी आपकी कार्य प्रणाली को सूट नही क रता। आप इसका नाम सीधे सीधे "घमंड यात्रा" ही रख लीजिए क्योंकि जब से आपकी भाजपा सरकार सत्ता में आई है हर जगह "सत्ता का घमंड" ही दिखाई दिया है। इतना घमंड की एक भी चुनावी वायदा पूरा न करने के बावजूद जनता के हर आंदोलन को बुरी तरह कुचला गया है। चाहे वो आंदोलन किसानों का हो,मजदूरों का हो,बेरोजगार युवाओं का हो, या फिर दलित आदिवासियों का हो। सभाएं सम्मेलन करने तक का अधिकार जनता से छीन लिया। आप "घमंड यात्रा" ही निकालिये, जनता आपके सत्ता के घमंड को तोड़ने के लिए अपना मन बना चुकी है। धर्मेन्द्र कुमार जाटव { टीम राजस्थान }

दलित राजनीती का उदय - मोदी सरकार ने उठाया यह कदम

दलित राजनीति या कहे आगामी लोकसभा चुनाव के लिए मोदी सरकार का नया दांव - मोदी सरकार ने लोकसभा चुनावों से पहले दलितों को आकर्षित करने के लिए बड़ा फेसला लिया है , मोदी सरकार SC/ST एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले को पलटकर उसके पुराने मूल स्वरूप में बहाल करने के लिए संशोधन विधेयक लाने का फैसला लिया है | मोदी सरकार का ये फैसला दलित विरोधी छवि को तोड़ने और उनकी नाराजगी को दूर करने  वाला कदम माना जा रहा है , इस कदम से दलित समाज मोदी सरकार पर कितना विश्वास करता है यह तो लोकसभा चुनाव के बाद ही पता लगेगा |   देश की कुल जनसंख्या में 20.14 करोड़ दलित हैं देश में कुल 543 लोकसभा सीट हैं. इनमें से 84 सीटें अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं | क्यों ख़ास है दलित वोट - 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा को दलित वोट मिला था , लेकिन  उसके बाद मोदी सरकार में दलित हत्याचार के मामले अधिक बढ़ गए है जिसको लेकर दलित समाज भाजपा और मोदी सरकार दोनों से ही नाराज  दीख रहे है | अब भाजपा को लग रहा है कही 2019 में होने वाले चुनावों में दलित वोट ख़िसक ना जाये ,वही दूसरी और कांग्रेस व् अन्य विपक्षी पार्टिया म