Skip to main content

Posts

Showing posts from July, 2018

आश्रयगृह में यौन शोषण पर दलित संगठनों का फुटा गुस्सा, किया प्रदर्शन

दिल्ली  -बिहार के मुजफ्फरपुर में एक आश्रयगृह में दो माह पूर्व बालिकाओं से योन शोषण का मामला बुलंदशहर। बिहार के मुजफ्फरपुर में एक आश्रयगृह में बालिकाओं से योनशोषण के मामले में पुलिस लापरवाही और प्रदेश सरकार का संवेदनहीन बताते हुए विभिन्न संगठनों का गुस्सा भड़क उठा। कई संगठनों के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को राजबाबू पार्क में बिहार सरकार पर मामले में कार्रवाई ने करने का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री के स्तीफे की मांग की। इस दौरान मामले की सीबीआई जांच कर दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की मांग की गई। सगठनों के लोग कलक्ट्रेट पहुंचे और बिहार के राज्यपाल के नाम तीन सूत्रीय ज्ञापन सौंपा। दलित संगठन भीम आर्मी समता सैनिक दल, व भीम ज्ञान चर्चा के कार्यकर्ता सोमवार को राजेबाबू पार्क में एकत्र हुए। इस मौके पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए अधिवक्ता प्रदीप कुमार अशोक ने कहा कि बालिका आश्रयगृह में बच्चियों से बर्बरता स्टेट संरक्षित यौन  हिंसा का एक पैटर्न है। इसके पूरे राज्य में फैले होने की आशंका है। इसलिए पूरे राज्य के आश्रयगृहों की जांच कराई जानी चाहिए। कपिल गौतम प्रेम ने कहा कि बिहार में कानून व्यवस्थ

NRI सोसायटी ने किया - वृक्षारोपण

राज आंगन परिवार के सदस्यो द्वारा आज 29 जुलाई को " वृक्षारोपण कार्यकम को  " ऐतिहासिक दिन के रूप में बनाया गया | कार्यक्रम पूर्ण रूप से थीम बेस रहा जिसके अंतर्गत 1000 पोधे लगाये गए , इस अवसर पर सोसायटी  के गणमान्य लोग उपस्थित रहे | सोसायटी के अध्यक्ष राजेन्द्र परनामी ने कहा की आज ग्लोबल वार्मिग अपने चरम स्तर पर है जो की मानव -जाती के लिए अति घातक है इसलिए पौधे लगाना ही काफी नहीं है उस [caption id="attachment_7800" align="alignright" width="314"] NRI -sosayati ,tree plantestion[/caption] के लिए हमे पौधो की  देखभाल व् संरक्षित करना भी अति - आवश्यक है इसलिए सोसायटी के सभी सदस्यों ने पौधों को संरक्षित रहने का प्रण लिया है , और आज मिलकर एक सकारात्मक पहल के तहत " वृक्षारोपण कार्यकम " का आजोयन किया है |      

बिहार सरकार के खिलाफ देशव्यापी विरोध -प्रदर्शन - पूर्वांचल सेना द्वारा

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के बालिका संरक्षण गृह में मासूम बालिकाओ  के साथ हुए दुराचार, बर्बरता के मामले में बिहार सरकार द्वारा की जा रही लापरवाही, एवं घटना में शामिल अपराधियों के खिलाफ ठोस कार्यवाही ना करते हुए मामले की लीपापोती में जुटे बिहार सरकार के खिलाफ देशव्यापी विरोध -प्रदर्शन के क्रम में गोरखपुर में भी पूर्वांचल सेना, पूर्वांचल नियुध्द अकादमी, दिशा छात्र संगठन, लालदेव ताइक्वांडो अकादमी, मेरा रंग, स्त्री मुक्ति लीग, मूलनिवासी मजदूर संघ आदि संगठनों ने नगर निगम स्तिथित रानी लक्ष्मीबाई पार्क में धरना देकर विरोध-प्रदर्शन करते हुए नीतीश सरकार से इस्तीफे की मांग की । मुजफ्फरपुर में बच्चों के साथ हुए बर्बरता का आक्रोश इतना ज्यादा था की भारी बारिश के दौरान भी प्रदर्शनकारी पार्क में डटे रहें और बिहार सरकारऔर रेपिस्टों के खिलाफ नारेबाजी करते रहे ।   सुबह 10:00 बजे से शुरू हुए इस विरोध प्रदर्शन के बाद उपस्थित लोगो ने दोपहर 1.00 बजे से नार निगम से पदयात्रा निकालकर जिला अधिकारी पहुंचे जहां उन्होंने, जिलाधिकारी के माध्यम से बिहार सरकार को ज्ञापन भेजकर, मुजफ्फरपुर के बालिका संरक्षण गृह में रह र

विपक्ष क्यों दाव लगा रहा है मायावती पर - जाने ख़ास वजह

एंटी मोदी खेमे में ख़ास होती - बसपा सुप्रीमो आख़िर क्यों - आज भाजपा देश की सबसे बड़ी राजनेतिक पार्टी है जिसके मुखिया देश के प्र [caption id="attachment_7778" align="alignright" width="538"] s - net[/caption] धानमंत्री मोदी है वही विपक्ष के रूप में कांग्रेस पार्टी मुख्य है लेकिन वर्तमान में कांग्रेस पार्टी हाशिये पर चल रही है जिसका मुख्य कारण कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी है | कांग्रेस व् विपक्ष ने मिलकर NDA के सामने अविश्वास प्रस्ताव रखा जबकि यह सर्व विधित था की भाजपा लोकसभा में बहुमत से है लेकिन विपक्ष के राहुल गांधी ने अपने भाषण में कई मुख्य व् गंभीर मुद्दे सदन में उठाये जिन पर विस्तार से चर्चा होनी चाहिए थी और देश के सामने मोदी सरकार को अपना रुख साफ़ करना चाहिए था लेकिन राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी से जाकर गले मिलना और अपनी सीट पर आकर विजयराजे सिंधिया को आख़ मारना उनके अपरिपक्ता को दर्शाता है , वही दूसरी और मोदी सरकार ने गले मिलना व् आख़ मारने वाली घटना को मुख्य मुद्दा बना लिया और राहुल गांधी द्वारा उठाए गए सभी मुद्दों को गोण कर गए , साथ ही राहुल ग

मॉब लिंचिंग पर वोट बैंक हावी - कांग्रेसी नेता खामोश क्यों ?

जयपुर। देश के सबसे बङे राज्य राजस्थान में गत दिनों माॅब लींचिग में तथाकथित गौ रक्षकों ने एक व्यक्ति को मौत के घाट उतार दिया। इससे पहले पहलू खान, उमर और अफराजुल का भी इसी नफरती आतंकी सोच ने कत्ल कर दिया था। देश के अन्य राज्यों में भी माॅब लींचिग की ऐसी कई वारदातें हो चुकी हैं। कहीं गौ हत्या के नाम पर, तो कहीं बच्चा चोरी या अन्य किसी नफरती अफवाह  के चलते गरीब व लाचार व्यक्ति को सरेआम पीट पीट कर मार डाला गया है। विचित्र बात यह है कि ऐसी घटनाओं में मरने वाले अधिकतर मुसलमान, दलित और आदिवासी समुदाय से सम्बंधित लोग होते हैं। जो बङी मुश्किल से अपना जीवन यापन करते हैं। सत्ताधारी भाजपा जहाँ ऐसी घटनाओं पर अगर मगर के शब्दों के साथ निन्दा कर खामोश हो जाती है, वहीं प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस एक नपे तुले अन्दाज़ में निन्दा की रस्म अदायगी कर अपने आपको जिम्मेदारी से मुक्त कर लेती है। अफराजुल के मामले में तो कांग्रेस ने निन्दा करना भी उचित नहीं समझा था, क्योंकि उसके कत्ल के अगले दिन गुजरात में विधानसभा चुनाव का मतदान जो होना था। स्पष्ट है कांग्रेस को प्रमुख विपक्षी पार्टी होने के नाते इन हत्याओं और

सुराज गौरव यात्रा - क्या लायेगी भाजपा को सत्ता में -

जयपुर | राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे 4 अगस्त से अपनी सुराज गौरव यात्रा का शुभ-आरम्भ करने जा रही है | सी एम् राजे  उदयपुर के चार भुजा मंदिर से अपनी यात्रा का शुभ आरम्भ भाजपा के राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा करवाने जा रही है कुल मिलाकर यह यात्रा 40 दिनों तक चलेगी 30 सितम्बर को अजमेर में यात्रा का समापन होगा | इन संभागो में होगा - जनसंपर्क -  मुख्यमंत्री राजे उदयपुर .भरतपुर .जोधपुर .बीकानेर .कोटा .जयपुर .अजमेर संभागो के लोगो से जनसंपर्क करेगी और भाजपा पार्टी की सरकार द्वारा जो जनता के लिए काम किये गए है उनको जनता तक पहुचायेगी | राह नहीं है आसा  - राजस्थान में इस बार भाजपा से युवा वर्ग खासा नाराज है जिसकी मुख्य वजह  बेरोजगारी है जहाँ युवा वर्ग अच्छी खासी पढाई के बाद नोकरी नहीं मिलने के कारण घर बेठे है या कुछ छोटा -मोटा काम कर रहे है जो   सरकार की नाकामी को दर्शाती है | एंटीइनकम्बेंसी - भाजपा सरकार के अंदुरनी कलंह अब सबके सामने आ गई है ,भाजपा के सत्ता पक्ष के मंत्री ,विधायक ही आपसी फुट के कारण जनता के विकास के मुद्दों को दर किनार करते  दिखे है | केंद से हट धर्मिता - मुख्यमंत्री

UGC ख़त्म - यह होगा नया आयोग - प्रकाश जावेडकर

" भारतीय उच्‍च शिक्षा आयोग विधेयक 2018" का मसौदा तैयार - केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि उनके मंत्रालय ने भारतीय उच्‍च शिक्षा आयोग विधेयक 2018 का मसौदा तैयार कर लिया है। यह विधेयक विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग अधिनियम 1956 को खत्‍म कर उसके स्‍थान पर भारतीय उच्‍च शिक्षा आयोग का गठन करने के लिए लाया जा रहा है। यह आयोग देश में उच्‍च शिक्षण संस्‍थानों को स्‍वायत्‍ता प्रदान करने और वैश्विक प्रतिस्‍पर्धी माहौल में देश में उच्‍च शिक्षा की गुणवत्‍ता तथा अनुसंधान कार्यों को प्रोत्‍साहित करेगा। केन्‍द्रीय मंत्री ने कहा कि 1956 में यूजीसी के गठन के बाद से तेजी से बदलते परिदृश्‍य में उ च्‍च शिक्षा के क्षेत्र में सुधार जरूरी हो गए हैं। उन्‍होंने कहा कि तब से लेकर अब तक देश में विश्‍वविद्यालयों की संख्‍या 20 से बढ़कर 900 पर पहुंच गई है। इसी तरह कॉलेजों की संख्‍या भी 500 से बढ़कर 40000 हो गई है। छात्रों की संख्‍या भी दो लाख से बढ़कर 3.75 करोड़ हो चुकी है।  जावड़ेकर ने कहा कि भारतीय उच्‍च शिक्षा आयोग विधेयक 2018 पर आम लोगों के सुझाव और टिप्‍पणियां प्राप्‍त

BSP यूथ संगठन का भंडाफोड़, मायावती ने लिया संज्ञान-

" इन युवाओं ने किया BSP यूथ संगठन का भंडाफोड़, मायावती ने लिया संज्ञान " पिछले कुछ दिनों से बसपा की आड़ में एक युवक ने फर्जी BSP युथ संगठन बना लिया और लोगों को बरगलाया उक्त प्रकरण पर बसपा के युवा समर्थकों ने आक्रोश जताया और सोशल मीडिया पर लिखा व वीडियो भी लाइव किये जिनमें विकास जाटव ने कई बिंदुओं पर BSP युथ संगठन के फर्जीवाड़े को बताया, वहीं बुलंदशहर के युवा सामाजिक कार्यकर्ता और बसपा समर्थक कपिल गौतम प्रेम ने वीडियो लाइव किया व टीवी डिबेट की तरह दिल्ली से पूनम अम्बेडकर , दिनेश प्रधान और नरेंद्र वरुण के साथ फर्जी संगठन BSP यूथ पर सवाल उठाए और फर्जी संगठन से बचने के लिए कहा, श्रेयत बौद्ध, विमल वरुण,टॉम क्रूज ने जमकर फर्जी संगठन पर सवाल उठाए। इसके बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने प्रेस नोट जारी किया जो इस प्रकार है श्री देवाशीष जरारिया द्वारा BSP Youth के नाम से फर्जी व अनाधिकृत रूप से चलाये जा रहे संगठ न से बी.एस.पी. के लोगों को व ख़ासतौर से युवाओं को सावधान रहने की अपील। बी.एस.पी. द्वारा पूरे देश में श्री सुधीन्द्र भदौरिया के अतिरिक्त अन्य किसी को भी किसी भी स्तर पर पार्टी का प्रवक्त

शिक्षा का बाज़ारवाद -

" काॅलेज एडमिशन को लेकर टेंशन में देश का भविष्य "  शिक्षा के व्यवसायीकरण और निजीकरण तथा इस खेल में राजनेताओं एवं पूंजीपतियों की लूटमार ने देश की शिक्षा व्यवस्था को चौपट कर दिया है। इस सारे लूटतंत्र से देश का भविष्य यानी विद्यार्थी हर वक्त टेंशन की कैद में रहता है। सवाल यह है कि इस बरबाद तमाशे का जिम्मेदार कौन है ? कहने को हमारा देश एक लोकतांत्रिक देश है और इसकी शासन व्यवस्था कल्याणकारी राज्य की है। लेकिन विभिन्न क्षेत्रों का गौर से अध्ययन किया जाए, तो मालूम होगा हमारे देश की व्यवस्था चौपट हो चुकी है तथा हर क्षेत्र में लूटमार एवं शोषण की ऐसी व्यवस्था स्थापित हो गई है, जिसका लोकतंत्र से कोई सम्बन्ध नहीं है। अगर बात सिर्फ शिक्षा [caption id="attachment_7728" align="alignright" width="704"] s- net[/caption] व्यवस्था की करें, तो आज इस व्यवस्था से हर अभिभावक व विद्यार्थी परेशान है। लेकिन वो कुछ कर नहीं पा रहा है, क्योंकि उसकी आंखों पर झूठे विकास और नफरत की पट्टी बांध दी गई है। शुरूआती कक्षाओं से लेकर यूनिवर्सिटी शिक्षा तक देश में एक लूटतंत्र विकसित हो

हनुमान बेनीवाल का सियासी सफर कहाँ जाकर रूकेगा -

"क्या वे राजस्थान का कुमारस्वामी बनने के लिए भाजपा एवं कांग्रेस के जाट उम्मीदवारों की खुलकमुखालफत कर पाएंगे " जयपुर/सीकर। लू के थपेडों के बीच तपती धरती पर धरती पुत्रों ने 10 जून को एक नया इतिहास रचा। यह इतिहास राजस्थान के सीकर जिले के जिला मुख्यालय पर रचा गया, जो शेखावाटी अंचल का प्रमुख शहर है। इस दिन धरती पुत्र विधायक हनुमान बेनीवाल ने एक विशाल भीङ को जमा कर सम्बोधित किया। जिसे हुंकार रैली नाम दिया गया। जिसका कई दिनों से जमकर प्रचार प्रसार किया जा रहा था। यह उनकी चौथी हुंकार रैली थी, इससे पूर्व उन्होंने नागौर, बाड़मेर और बीकानेर जिले में भी ऐसी ही रैलियां आयोजित की थीं। उनका यह पूरा आन्दोलन सत्तारूढ़ भाजपा एवं प्रमुख विपक्षी पार्टी कांग्रेस के खिलाफ एक तीसरा विकल्प खङा करने का है। जिसकी (तीसरी पार्टी की) घोषणा उनके मुताबिक राजधा नी जयपुर में आयोजित हुंकार रैली में की जाएगी। लेकिन इस पूरे सियासी हंगामे में जो सवाल उठ रहे हैं या उनके जवाब सियासी गलियारों में दिए जा रहे हैं, वो अपने आप में एक विचित्र विषय है तथा उन सवालों पर टीम हनुमान बेनीवाल को गम्भीरता से विचार विमर्श कर उनक

मोदी सरकार बरक़रार - राहुल गाँधी को धोया प्रधानमंत्री मोदी ने

" अविश्वास प्रस्ताव को  मोदी सरकार ने 126 के मुकाबले 325 मतों से गिरा दिया  " अविश्वास प्रस्ताव चर्चा में राहुल गांधी ने मोदी सरकार के खिलाफ जमकर भाषण दिया ,लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने राहुल गांधी के सभी आरोपों को सिरे से ख़ारिज कर दिया इसके साथ ही रात 9 बजे प्रधानमंत्री मोदी जैसे ही अपना भाषण देना चालू किया , कांग्रेस पार्टी को अपना इतिहास याद दिलाया साथ ही कांग्रेस व् राहुल गांधी को जमकर धोया | [caption id="attachment_7711" align="aligncenter" width="451"] s -net[/caption] राहुल गांधी ने साबित किया की वह पप्पू है - राहुल गांधी ने अपने भाषण में कहा की वह भाजपा व् संघ की नजरों में पप्पू है लेकिन उनकी आख़ मारने की हरकत ने उन्हें एक बार फिर पप्पू साबित कर दिया ,क्या संसद भवन में आख़ मारना बचकाना हरकत नही है , साथ ही मोदी की सीट पर जाकर गले मिलना क्या यह सत्र के बीच में शोभा देता है आखिर राहुल गांधी ने ऐसा क्यों किया , यह कोई उनसे जा कर पूछे की वह साबित क्या करना चाह रहे थे | अविश्वास क्यों लाया गया -  कांग्रेस पार्टी ने अपने सहयोगी दलों के साथ मिलकर अ

राहुल गांधी का बदला अंदाज , रेफाल मुद्दे पर घिर सकते है -

दिल्ली | आज का दिन संसद के मानसून सत्र में कुछ रोचक व् फ़िल्मी सा रहा | जहाँ भाजपा अविश्वास का सामने करने जा रही है तो दूसरी और कांग्रेस के राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर बरसे , राफेल से लेकर नोट्बंदी तक भाजपा सरकार और मोदी पर तीखे वार किये | प्रधानमंत्री मोदी से गले मिले राहुल गांधी -   आज का दिन संसद में रोचक रहा जिसका कारण राहुल गांधी अपने तीखे भाषण के बाद प्रधानमंत्री मोदी के पास जाकर गले मिले , इस द्रश्य को देख एक बार तो मोदी जी भी सकते में आ गए जिसके तुरंत बाद मोदी जी ने राहुल गांधी को दुबारा बुलाकर पीट थपथपाई ,इस द्रश्य को देखर सत्र में मौजूद सभी लोग हेरत [caption id="attachment_7711" align="alignright" width="460"] s -net[/caption] में आ गए | राफेल मुद्दे पर भाजपा के निशाने पर राहुल - राफेल मुद्दे पर राहुल गांधी ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन  और मोदी पर निशाना साधा या यह कहे की राफेल मुद्दे पर धांधली की संभावना बताया , राहुल ने कहा की उन्होंने फ़्रांस के राष्टपति से राफेल हेलिकॉप्टर रेट पर बात की थी जिस पर फ़्रांस के राष्टपति ने कहा की भारत के स

परीक्षा - राजस्थान सरकार की अग्नि परीक्षा

उद्योग प्रसार अधिकारी परीक्षा के लिए नियंत्रण कक्ष स्थापित - जयपुर, 18 जुलाई। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड जयपुर द्वारा 22 जुलाई को उद्योग प्रसार अधिकारी सीधी भर्ती परीक्षा आयोजित होगी। जिला कलक्टर श्री सिद्धार्थ महाजन ने परीक्षा के सफल एवं सुचारू संचालन के लिए कलक्ट्रेट के कमरा नं. 116 में एक नियंत्रण कक्ष की स्थापना की है, जो 20 जुलाई से 21 जुलाई तक प्रातः 9.30 बजे से सांय 6 बजे तक तथा 22 जुलाई को प्रातः 9 बजे से परीक्षा समाप्ति उपरान्त परीक्षा से संबंधित समस्त कार्य पूर्ण होने तक कार्य करेगा। नियंत्रण कक्ष के लिए कुलदीप कुमार को प्रभारी नियुक्त किया गया है। नियंत्रण कक्ष के दूरभाष नं. 0141-2206699 है।

बसपा सुप्रीमो ने किया - जय प्रकाश को आउट

बसपा सुप्रीमो ने आज पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जय प्रकाश सिंह को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया ,जेपी को पार्टी से निकालते हुए मायावती ने कहा कि उन्होंने न सिर्फ पार्टी की विचारधारा के खिलाफ बयानबाजी की, बल्कि विरोधी पार्टी के नेताओं पर व्यक्तिगत टिप्पणियां भी कीं जो की गलत है | क्या मोहरा बने है  - जय प्रकाश को कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गाँधी के खिलाफ बयान बाजी करना महंगा पड़ा है क्योकि जेपी ने राहुल गाँधी के विदेशी अर्थात सोनिया गांधी के जैसा होना बताया उन्होंने कहा की अगर राहुल गाँधी अपने पिता राजीव गाँधी नक्शे कदम पर चलते तो शायद राजनीती में कामयाब हो जाते , लेकिन राहुल गाँधी उनकी माँ सोनिया पर गए है इसलिए वह कभी भी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते | जबकि वर्तमान में बसपा और कांग्रेस में राजस्थान ,छतीसगढ़  में गठबंधन की संभावना है | अ ति -उत्साहित -  हाली में लखनऊ में 16 जुलाई को बसपा के सीनियर कार्यकर्ताओं की मीटिंग थी ,जिसमे जय प्रकाश काफी उत्साहित नज़र आ रहे थे अपने भाषणों में मायावती को 2019 का प्रधानमंत्री का दावेदार बताया साथ ही विरोधियों पर जमकर बरसे थे साथ ही मायावती को साक्षा

कांग्रेस - पत्रकारो और वकीलों को रिझाने की कोशिश

जयपुर | कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलेट ने  केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है की आज देश में भय और असुरक्षा का माहौल है सुप्रीम कोर्ट के चार जजों ने प्रेस कान्फेंस करके यह बताया की आज देश में लोकतान्त्रिक संस्थाओं पर किस तरह दबाव् बनाया जा रहा है | आज लोग भावनाओं का इजहार करने से भी डर रहे है | आज मोदी सरकार में विरोधियों को डराने धमकाने का जो सिलसिला चल रहा है ,आज ऐसे लोग सत्ता  में है जो हर कीमत पर अपनी जिद्द पूरी करना चाहते है | देश की आधी आबादी गरीब है ,उन गरीब लोगो पर प्रभाव बनाकर खुद को शक्तिशाली  बताना बेमानी है | जयपुर में आयोजित कांग्रेस के विधि विभाग की और से बिरला आडिटोरियम में आयोजित संविधान बचाओं देश बचाओं में बोल रहे थे | कांग्रेस विवेक तन्खा ने प्रदेश कांग्रेस से मांग की है की वकील सुरक्षा कानून और पत्रकार सुरक्षा कानून बनाने का वादा घोषणा पत्र में किया जाए , कांग्रेस के अनुसार कुछ समय में पत्रकार और वकील समुदाय कांग्रेस पार्टी से दूर हुवे है जिसका बड़ा नुकसान कांग्रेस को उतना पड़ रहा है |

तीन तलाक के खिलाफ आवाज़ उठाने वाली निदा को - अब कब्रिस्तान में भी जगह नहीं

यूपी : तीन तलाक जैसी कुप्रथा के खिलाफ आवाज बुलंद करने वाली बरेली की निदा खान के खिलाफ मुस्लिम मोलवी ने फतवा जारी कर दिया है ,जिसके तहत निदा खान का हुक्का पानी बंद कर दिया गया है | यह फतवा दरगाह आला हजरत के दारूल इफ्ता ने जारी किया है, इसमें कहा गया है कि निदा अल्‍लाह या खुदा के बनाए कानून का विरोध कर रही हैं. इस कारण उनके खिलाफ फतवा जारी किया जा रहा है. बरेली के शहर इमाम मुफ़्ती खुर्शीद आलम ने दरगाह आला हजरत पर हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि [caption id="attachment_7688" align="alignright" width="709"] s - net[/caption] निदा का हुक्का पानी बंद कर दिया गया है | सोमवार को जारी फतवे में कहा गया है कि निदा की मदद करने वाले, उनसे मिलने-जुलने वाले मुसलमानों को भी इस्लाम से खारिज किया जाएगा , निदा अगर बीमार हो जाती हैं तो उनको दवा भी नहीं दी जाएगी. निदा की मौत पर जनाजे की नमाज पढ़ने पर भी रोक लगा दी गई है, इतना ही नहीं निदा के मरने पर उन्‍हें कब्रिस्तान में दफनाने पर भी रोक लगा दी गई है | निदा खान ने किया पलटवार - कहा  पाकिस्तान चले जाए - निदा खान ने प्रेस कॉ

2019 लोकसभा चुनावों में होगा , टी - शर्ट वार

लोकसभा चुनाव व् अन्य राज्यों में होने वाले चुनावों में अब कांग्रेस पार्टी टी -शर्टओं के माध्यम से भाजपा और मोदी सरकार के विकास मॉडल पर चुट्किले अंदाज में प्रहार करने जा रही है , जी हाँ हम बात कर रहे है कांग्रेस पार्टी द्वारा हाली में 40 लाख से अधिक टी -शर्ट का ऑर्डर दिया है  जिनका वितरण जिन राज्यों में विधानसभा  चुनावों होने है उन में किया जायेगा | उड़ गई विकास की चिड़िया - कांग्रेस पार्टी अपने कार्यकर्ताओं को एक लाख टी-शर्ट बांटने जा रही है और करीब 40 लाख टी-शर्ट का ऑर्डर दिया है, जिसमें 'उड़ गई विकास की चिड़िया' नारा लिखा हुआ है. इसे बीजेपी द्वारा चुनाव में पेश किए जाने वाले विकास मॉडल पर करारा तंज माना जा है. इसके जरिए कांग्रेस पार्टी ने बीजेपी पर चुटकी भी ली है. बीजेपी के विकास मॉडल का मखौल उड़ाती इन टी-शर्ट को छत्तीसगढ़ में कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता पहने हुए नजर आ रहे हैं तथा आगामी कुछ समय बाद राजस्थान ,मध्य प्रदेश में भी कांग्रेस कार्यकर्ता नज़र आयेगे | कांग्रेस की यह टी-शर्ट सफ़ेद और काले कलर व् पीले कलर का उपयोग किया गया है |  जो आम लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर र

मुख्यमंत्री राजे की - सुराज गौरव यात्रा

प्रधानमंत्री मोदी  व् अमित शाह की पेनी नज़र  - जयपुर | आगामी विधानसभा चुनावों को लेकर सत्ताधारी भाजपा में प्रधानमंत्री मोदी जी रेली के बाद पूरी तरह से चुनावी रूप में नज़र आने लगी है | राजस्थान में जहाँ पांच पांच साल के कांग्रेस - भाजपा के सत्ता पर काबिज होने के घटनाक्रम को इस बार भाजपा नाकाम करना चा रही है , भाजपा को राजस्थान से बड़ी उमीद है लोकसभा चुनावों में भी जिसको लेकर प्रधानमंत्री मोदी ,अमित शाह तक राजस्थान की राजनीती के  हर पहलु पर नज़र बनायें हुए है | प्रधानमंत्री मोदी के दौरे के बाद मुख्यमंत्री राजे व् भाजपा के नव प्रदेशाध्यक्ष  मदन लाल सैनी ने राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह से दिल्ली में आगामी विधानसभा चुनावो को लेकर रणनीति बनाई साथ ही अमित  शाह  के राजस्थान में अधिक से अधिक दौरे व् रेलियों पर विचार - विमर्श किया | 1 अगस्त से सुराज गौरव यात्रा -  मुख्यमंत्री राजे एक बार फिर से सुराज गौरव के नाम से राजस्थान में यात्रा निकालने जा रही है जिसके अंतर्गत मुख्यमंत्री राजे जनता को साढ़े चार साल में जो योजना भाजपा ने चलाई है और कितने लोग इन योजनावों से लाभान्वित हुए है उसके बारे में जनता को बता

क्या राजस्थान में होगी - अस्थिर सरकार

जयपुर | राजस्थान में होने वाले आगामी विधानसभा में इस बार कुछ अलग देखने को मिल सकता है या यह कहे की इस बार सरकार बनाने के लिए किसी भी पार्टी को स्पष्ट बहुमत नहीं मिल सकता , यह रिपोर्ट हमारे सर्व के सामने निकल कर आई है | राजस्थान में वर्तमान समय में जहाँ सत्ता धारी पार्टी अंदुरनी कलह सामने आ रही है तो दूसरी ओर् कांग्रेस पार्टी में मुख्यमंत्री कौन को लेकर अंदुरनी सुगबुगाहट देखने को मिल रही है जो कार्यकर्ताओं को दो भागो में विभाजित कर रही है गहलोत खेमा - पायलेट खेमा | जमीनी हकीकत - आम जनता की बात करे तो अधितर लोगो का कहना है की वर्तमान समय में राजनेतिक पार्टिया मात्र आम जनता को ढ़ग रही है - जहाँ दिन बे दिन बेरोजगारी बढ़ रही है तो महंगाई ने लोगो की कमर तोड़ दी है |